BMC-didn't-use-ventilators-To-avoid-constant-monitoring-दो-साल-में-गाँव-में-हर-घर-तक-पहुंचेगा-पानी

To Read News In English Click Here@English - हिंदी 

BMC-didn't-use-ventilators-To-avoid-constant-monitoring-दो-साल-में-गाँव-में-हर-घर-तक-पहुंचेगा-पानी

#MediaWatch@Best From Print Media

Headlines:

दुनिया भर में 1 दिसंबर एड्स दिवस के रूप में मनाया जाता है। शहर के अखबारों में केवल एक अखबार में इस दिवस पर विशेष रपट नजर आयी। अन्य अखबारों ने कार्तिक पूर्णिमा, कोविड-19 व गुरूनानक जयंती से जुड़ी खबरों को प्रमुखता से छपा है। कुछ अखबारों ने अपराध व राजनीति क्षेत्र की खबरों को अपनी सुर्खी बनाया।

विश्व एड्स दिवस पर केन्द्रित अपनी विशेष खबर में दैनिक भास्कर ने बताया है कि संभाग के चार जिलों-सागर, पन्ना, दमोह, टीकमगढ़ सहित ललितपुर, विदिशा व रायसेन जिलों में पिछले तीन साल में एड्स से संक्रमित करीब दो हजार मरीज सामने आए। 

Also Read: सूझ-बूझ से बन रही है खेती-लाभ-का-धंधा

खबर में बुंदेलखंड चिकित्सा महाविद्यालय के एंटी रेट्रोवायरल थैरेपी केन्द्र के हवाले से बताया गया कि  संक्रमित पाए गए मरीजों में  67 गर्भवती महिलाएं भी शामिल थीं जिनमें से 64 महिलाओंके शिशुओं को एटीआर थैरेपी से एड्स के संक्रमण से बचा लिया गया।

सागर वाॅच (खबर से हटकर)-क्या है एंटी रेट्रोवायरल थैरेपी ?

एंटीरेट्रोवायरल थेरेपी (Antiretroviral Therapy)

यह दैनिक रूप से ली जाने वाली दवाओं का एक संयोजन है जो वायरस के प्रसार को रोकते हैं। इस थेरेपी से CD-4 कोशिकाओं की रक्षा करने में मदद मिलती है जिससे रोग से लड़ने की प्रतिरक्षा प्रणाली मज़बूत होती है।

नवदुनिया ने सोमवार को कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर  नरसिंहपुर में नर्मदा नदी के तट पर स्नान करने जुटे धर्मावलंबियों की बड़ी तस्वीर के साथ खबर लगाई है। खबर में बताया है कोरोना महामारी के भय व आवागमन के साधन कम उपलब्ध होने के चलते इस बार नर्मदा किनारे जुटने वाले श्रद्धालुओं  की संख्या पिछले वर्षों के मुकाबले कम नजर आयी।

दैनिक आचरणसागर दिनकर मिलते-जुलते शीर्षक ने गुरूनानक जयंती के अवसर पर शहर में हुए आयोजनों पर केन्द्रित खबर को प्रमुखता से छापा है। 

सागर दिनकर ने भाजपा के एक प्रशिक्षण कार्यक्रम व अतुल्य भास्कर ने चोरी की घटना की खबर को अपनी पहली सुर्खी बनाकर छापा है।

Also Read: जननेतृत्व से लबालब हुए तालाब, विभागीय नाकारापन से छलनी हुई धरती

कोविड-19 महामारी पर दो अखबारों ने विशेष खबरें लगाईं हैं जिनमें से एक खबर कोरोना के बढ़ते संक्रमण व उसके निपटने में सामने आ रही प्रशासनिक लापरवाहियों चलते बेहद चिंता बढ़ाने वाली लग रही है वहीं दूसरी खबर कोरोना के संक्रमण में कमी आने का जिक्र कर रही है। 

दैनिक भास्कर की खबर में मुख्यमंत्री द्वारा बुंदेलखंड चिकित्सा महाविद्यालय में कोरोना मरीजों की मृत्युदर ज्यादा होने पर चिंता जताने के बाद चिकित्सा आयुक्त द्वारा बीएमसी की खामियों पर मुख्यमंत्री को सौंपी गई रपट की चर्चा है। 

खबर के मुताबिक रपट में बताया है कि बीएमसी में कारोना मरीजों की मृत्युदर प्रदेश में सबसे अधिक होने की वजह चिकित्सकों की कामचोरी है। बीएमसी में मरीजों को उपचार के लिए उपलब्ध संसाधन वैंटीलेटर व आक्सीजन सपोर्ट तंत्र का लाभ चिकित्सकों ने महज इसलिए नहीं दिया क्योंकि ऐसा करने पर उन्हें मरीज की लगातार निगरानी करनी पड़ती।

            Also Read: सीएम के चिंता जताते ही जागा प्रशासन

खबर में इस बात का भी खुलासा किया है कि जहां इस रपट के बारे में जिला  कलेक्टर को कुछ पता नहीं है वहीं चिकित्सा मंत्री ने बीएमसी को लेकर सतर्क होने व गंभीरता से रोजाना उसकी निगरानी करने की बात कही है। 

जबकि दैनिक आचरण ने कोविड-19 से जुड़ी अपनी खबर में बताया है कि पिछले तीन महीनों में सामने आए कोविड-19 संक्रमितों की संख्या में कमी आ रही है। खबर के मुताबिक जहां सितंबर माह में कोरोना संक्रमित मरीजों का संख्या डेढ़ हजार के करीब थी वहीं पिछले दो माह से यह संख्या हजार के आसपास रही।

कोविड-19 महामारी के बचाव के लिए मास्क  उपयोग नहीं करने पर नायब तहसीलदार के द्वारा मकरोनिया उपनगर में बारातियों का चालान करने की खबर नवदुनिया और दैनिक आचरण ने छापी है। खबर के मुताबिक बाराती बिना मास्क लगाए नाच रहे थे। वहीं दैनिक भास्कर ने भी बस में सवार बारातियों का मास्क नहीं पहने होने के कारण चालान किए जाने की खबर लगाई है।

 Also Read: अब आपदा प्रबंधकों की धुन पर नाचेंगे शादी प्रबंधक

लीक से हटकर खबर

नवदुनिया ने सागर संभाग क्रिकेट एसोसिएशन द्वारा खिलाए जा रहे सीनियर अंतर-जिला क्रिकेट प्रतियोगता पर छापी खबर में बताया है कि प्रतियोगिता का अंतिम मुकाबला 2 से 4 दिसंबर के बीच सागर व दमोह की टीमों के बीच मप्र क्रिकेट एसोसिएशन के मैदान पर खेला जाएगा।

फाॅलोअप

नवदुनिया ने  खेती-किसानी से जुड़ी खबरों की श्रंखला में आज दो खबरें लगाईं हैं जिनमें से एक खबर खंड मुख्यालयों पर मिट्टी परीक्षण प्रयोगशालाएँ   जरूरी अमला व संसाधनों के अभाव में बंद पड़ीं हैं। इससे किसानों की मिट्टी परीक्षण कराने में दिक्कत हो रही है। 

वहीं दूसरी खबर जल जीवन मिशन पर केन्द्रित है। शीर्षक “दो साल में 150 गावों में घर-घर तक पहुंचेगा पानी” से लगाई खबर में बताया है कि जिले के एक हजार से ज्यादा गांवों में हर घर तक पानी पहुंचाने के लिए लोक स्वास्थ्य एवं यांत्रिकी विभाग ने करीब डेढ़ सौ योजनाएं स्वीकृत की हैं। खबर मे दी गई तालिका के मुताबिक सबसे कम योजनाएं सागर विकास खंड में महज 4 व सबसे ज्यादा मंत्री के क्षेत्र रहली में 56 मंजूर हुई हैं।

Also Read: मछली-बाज़ार-की-योजना-विफल, ठगी-मामले-में-नया-मोड़


Share To:

Sagar Watch

Sagar Watch is the only news portal of Bundelkhand Region, which provide news updates in English & Hindi language. Rajesh Shrivastava, the Journalist, is the Chief Editor of this News Portal.

Post A Comment:

0 comments so far,add yours