Top News

• महर्षि पतंजलि संस्कृत संस्थान से नवीन संबद्धता एवं नवीनीकरण के आवेदन 30 सितम्बर तक लिये जाएंगे • •राष्ट्रीय खेल दिवस पर सागर मानसून मैराथन दौड़ 29 अगस्त को • • 6 अगस्त को सागर में एवं 13 अगस्त को खुरई में रोजगार मेला आयोजित किए जाएंगे • •• • ... ।

Strict-Action-कामकाज-में-लापरवाही-पर-सोलह-सचिव-निलंबित-तीन-पर-प्राथमिकी-दर्ज

सागर वॉच। 
जिला पंचायत के तहत एक सनसनीखेज करवाई में कार्यो में लापरवाही एवं वित्तीय अनियमितता पाये जाने पर 16 सचिवों को निलंबित किया गया है। इस कारवाई में जहाँ 
सीईओ जनपद पचायतों को 3 सचिवों पर एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश दिए गए हैं वहीं 7 सचिवों पर वसूली अधिरोपित की गयी है।

यह कारवाई  मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत डॉ. इच्छित गढ़पाले ने जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों से प्राप्त प्रस्तावों के आधार पर की है। ग्राम पंचायत किल्लाई में राशि निकालने के बाद भी कार्य न कराये जाने के कारण मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायात  जैसीनगर को संबंधितों के विरूद्ध प्राथमिकी (एफआईआर) दर्ज करने हेतु निर्देशित किया गया।


निलंबित सचिव 

अनियमितता पाए जाने पर निलंबित होने वाले सचिवों में राधेष्याम गोस्वामी झेजटखेडा बण्डा, सुरेन्द्र सिंह पाटन बण्डा, हरिषचंद्र चढार बमनोद रहली राजकुमार यादव बीना, वीरेन्द्र लोधी सागोनी, बालहरी विष्वकर्मा जैसीनगर हरदास यादव सीपुरखास मालथौन, चमनलाल अहिरवार खामखेडा देवरी, कालूराम चडार सरखडी जैसीनगर, प्रमोद साहू सेमराहाट राहतगढ, ब्रजेन्द्र सिंह किल्लाई जैसीनगर, प्रियांशु  तिवारी रीछई देवरी शामिल हैं।

इनके विरूद्व की गई एफआईआर

बालहरी विश्वकर्मा जैसीनगर, कालूराम चडार सरखडी जैसीनगर पर एफ आई आर की गई है।


इनसे होगी वसूली

यशपाल जैन थांवरी भिलैया केसली, परमलाल लोधी गौरझामर देवरी, देवी सींग हनोता सहावन बण्डा, अनिरूद्व तिवारी बरोदिया कंजिया, सही शिवकुमार तिवारी, तुलसीराम पटेल हरदोट एवं पलकाटोर से वसूली की जाएगी ।

News-In-Short-कलेटर-ने-कोरोना-संक्रमण-बचाओ-तंत्र-को-पुनः-सक्रिय-किया

सागर वॉच 
03 अगस्त 2021 News In Short

संक्रमण के मामले बढ़ते है सक्रिय हुआ प्रशासन 

जिले में कोरोना संक्रमितों के मामले सामने आने पर कलेक्टर दीपक सिंह ने चिंता जताते हुए  त्वरित प्रतिक्रिया टीम, मेडिकल चालित इकाई तथा डिस्ट्रिक्ट कमांड एंड कंट्रोल सेंटर को पुनः सक्रिय करने व कोरोना संक्रमित की सघन मॉनिटरिंग करने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि कोरोना से संक्रमित पाए गए व्यक्तियों की सघन सम्पर्क जांच करते हुए प्रथम संपर्क वाले व्यक्तियों को गृह संगरोध में रखा जाए तथा इन व्यक्तियों पर लगातार निगरानी रखी जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि, कमांड एवं कंट्रोल सेंटर में कोरोना सहायता एवं संपर्क के नंबरों और व्हाट्सएप नंबर को भी  सक्रिय रहने के लिए कहा ताकि आवश्यकता पड़ने पर नागरिक संपर्क कर सकें।

Also Read: News In Short-तीसरी लहर से निपटने बीएमसी तैयार

बुंदेलखंड का मनोरम पर्यटन स्थल बनेगा राहतगढ़ 

सागर। बुंदेलखंड के राहतगढ़ में स्थित जलप्रपात का सम्पूर्ण विकास प्रदेश के तीन विभागों के सहयोग से किया जाना हैं। प्रदेश के राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने बताया कि  पर्यटन विभाग, वन विभाग एवं जिला पंचायत के आपसी समन्वय से ढाई करोड़ रुपए से भी अधिक की राशि से राहतगढ़ जलप्रपात  का संपूर्ण विकास होगा। इससे से क्षेत्र में पर्यटन का भी विकास होगा साथ ही यहां बच्चों के लिए पार्क, मुक्त-थिएटर, सेल्फी प्वाइंट, अत्याधुनिक शौचालय ,खेल की गतिविधियां एवं खानपान की उचित व्यवस्था, मुख्य आकर्षक द्वार भी निर्मित किया जाएगा। सुरक्षा की दृष्टि से पूरे पर्यटन स्थल बाड़ भी लगाई जाएगी

Also Read: Strict Action-बेतरतीब काम करने पर टाटा कंपनी को प्रशासन कर सकता है टाटा

सार्वजनिक परिवहन की मजबूती से घटेगा प्रदूषण 

नगरीय विकास एवं आवास मंत्री  भूपेन्द्र सिंह के मुताबिक  मप्र में शहर वार स्वीकृत और संचालित  शहरों में दुर्घटनाएँ व प्रदूषण कम करने के लिए  सार्वजनिक परिवहन तंत्र को मजबूत किया जा रहा है । बसों की समीक्षा की बैठक में मंत्री ने कहा कि शहरों के अन्दर व विभिन्न शहरों के बीच बसों का  परिचालन पूरी क्षमता से होगा । बसों का परिवहन निविदा की शर्तों के मुताबिक सख्ती से होगा और शर्तों का उल्लंघन होने पर निविदा निरस्त कर दी जाएगी। बैठक में बताया गया कि अमृत योजना में शुरू की गयी सूत्र सेवा में प्राथमिक रूप से शहरों के अन्दर व शहरों के बीच बसों के परिवहन  के लिए क्रमशः 70 व 30 का अनुपात निर्धारित किया गया था। अमृत योजना में प्रदेश को 258 करोड़ रूपये शहरी परिवहन के लिए मिले थे।

Also Read: समीक्षाओं में प्रगति की मीनारें तन रहीं हैं हकीकत में बदहाल है शहर

घर बैठे बनेगा लर्निंग लाइसेंस 

मप्र में फेस लैस लर्निंग लायसेंस की सेवाये दो अगस्त से प्रारंभ की गई है। इसके लिए सारथी पोर्टल पर परिवहन विभाग की सेवाये अपडेट की जा रही है। घर बैठे लर्निंग  लायसेंस हासिल करने के लिए आवेदक को सारथी पोर्टल पर जाकर आवेदन करना होगा। आवेदक परिवहन विभाग की वेबसाईट साइट की लिंक पर जाकर ई-केवाईसी एवं आधार नम्बर दर्ज करने पर आवेदन से संबंधित संपूर्ण जानकारी अपलोड करनी होगी।इसके उपरांत आवेदक को एक ओटीपी नम्बर मोबाइल पर प्राप्त होने के पश्चात् लर्निंग लायसेंस टेस्ट देना होगा , जिसमें कुल 12 प्रश्नों के सही उत्तर देने पर ही वह उत्तीर्ण होगा । उत्तीर्ण होने के पश्चात् आवेदक स्वयं अपना लर्निग लायसेस डाउनलोड कर प्राप्त कर सकता है ।

Society-During-Corona-Period-समाज-की-एकजुटता-के-बिना-संभव-नहीं-था-कोरोना-का-सामना

सागर वॉच कोरोना महामारी का काल एक परीक्षा का वक्त था। जिसमें भारतीय  समय ने साबित कर दिया की आपदा के दौर में सब मिलजुलकर  मुसीबत का सामना करते हैं। कोरोना महामारी कोई छोटी आपदा नहीं थी यह वैश्विक महामारी थे जिससे केवल सरकारी सहायता के नहीं निपटा जा सकता था। यदि भारतीय समाज एक जुट नहीं होता तो हालात बहुत भयावह हो सकते थे । ये विचार समाजवादी चिन्तक रघु ठाकुर ने शहर के परकोटा क्षेत्र में ठाकुर विश्वनाथ सिंह के जन्मदिवस के मौके पर कोरोना काल में समाज की भूमिका विषय पर आयोजित व्याख्यान माला में व्यक्त  किये।

इसी सिलसिले में सागर के पूर्व महापौर अभय दरे  ने मौजूं विषय पर व्याख्यान माला आयोजित करने के लिए तुलसी स्मृति न्यास को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा की समाज में किये गए अच्छे कामों को सदा याद किया जाता है ।

सागर केंद्रीय विश्वविद्यालय के पूर्व प्रोफेसर  सुरेश आचार्य ने भी कोरोना काल में सरकारी सहायता  व् अस्पतालों की बदहाली का जिक्र करते हुए कहा कि  इस दौर में समाज में नेकी का कार्य करने वाले सभी लोग आदर के पात्र  हैं ।

Also Read: News In Short-तीसरी लहर से निपटने बीएमसी तैयार

कार्यक्रम के समापन पर समाजसेवी महेश श्रीवास्तव ने आयोजकों का शुक्रिया किया और लोगों से आग्रह किया कि वे समाज को नयी दिशा दिखाते रहें  । डॉक्टर इंद्राज सिंह ठाकुर ,पूर्व मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी , समाजसेवी डॉ डीके गोस्वामी  मनीष जैन एवं अनिल जैन नैनधरा राजेंद्र सिंह ठाकुर श्री मति जैन को तुलसी स्मृति न्यास की ओर से सम्मानित किया गया । अंत में कोरोना महामारी मे मृत्यु के शिकार हुए लोगों को दो मिनिट का मौन रख कर श्रृद्धाञ्जलि अर्पित की गई।  डॉ विनोद तिवारी ने धन्यवाद ज्ञापित किया। 

Also Read: समीक्षाओं में प्रगति की मीनारें तन रहीं हैं हकीकत में बदहाल है शहर

कार्यक्रम में प्रमुख रूप से पं सुखदेव तिवारी, अरुण प्रताप सिंह ,श्री मति गायत्री ठाकुर , सक्षम कृष्ण वीर सिंह मोतीलाल पटेल, एस पी सिंह, पप्पू गुप्ता रफीक गनी ,सुधीर ठाकुर, मुकुल पुरोहित सिंटू कटारे ,राजेंद्र सिलाकारी, प'कज सिंघई , सुनील चौकसे ,कपिल पचौरी राजू ठाकुर, महेश पांडे ,नारायण सिंह प्रो विनोद दीक्षित, केवल जैन ,अभय सिंघई प्रशांत ठाकुर आदि बड़ी संख्या में लोग उपस्थित रहे।

News-In-Short-तीसरी-लहर-से-निपटने-बीएमसी-तैयार

News In Short-
31जुलाई 2021 सागर वॉच  

कोरोना कर्फ्यू 10 अगस्त तक 

मप्र में कोरोना कर्फ्यू के प्रतिबंध 10 अगस्त तक प्रभावशील रहेंगे। गृह विभाग द्वारा पूर्व में समय-समय पर जारी 31 जुलाई तक प्रभावी रहने वाले आदेश अब 10 अगस्त तक प्रभावी रहेंगे अपर मुख्य सचिव, गृह डॉ. राजेश राजौरा ने उक्त संबंध में सभी जिला कलेक्टर्स को अपने-अपने जिलों में दिशा-निर्देशों का कड़ाई से पालन कराने के निर्देश दिये हैं।

Also Read: समीक्षाओं में प्रगति की मीनारें तन रहीं हैं हकीकत में बदहाल है शहर

शिक्षकों का आन्दोलन 02 अगस्त से 

सागर।  प्रांतीय शासकीय महाविद्यालयीन प्राध्यापक संघ के उच्च शिक्षा विभाग की लंबित मांगों को लेकर चरणबद्ध आंदोलन करेगा। इस सिलसिले में शासकीय स्वशासी कन्या स्नातकोत्तर उत्कृष्टता महाविद्यालय, सागर में संघ की संभागीय एवं जिला इकाई की बैठक में वेतनमान का बकाया, मंहगाई भत्ता एवं गृह-भाड़ा भत्ता का शासन द्वारा भुगतान न किये जाने का विरोध करने का निर्णय लिया गया। संघ ने बताया की आन्दोलन के प्रथम चरण में  02 से 14अगस्त तक शिक्षक विरोध स्वरूप काला मास्क एवं काली पट्टी लगायेंगे व मुख्यमंत्री  एवं जनप्रतिनिधियों को ज्ञापन प्रेषित करेंगे। 

Also Read: अंधों-गूंगों की सरकार ने तालाब के बीच से बिछा दी सीवर लाइन-कांग्रेस

स्पार्क पाठशाला में सीखिए व्यापार के गुर 

शहर के युवाओ को  उद्यमिता के प्रति जागरूक करने के लिए शनिवार को 15 दिवसीय ऑनलाइन "स्पार्क-पाठशाला" शुरू हुई  जिसमें लगभग 7 हजार लोग शामिल हुए। इस मौके पर स्पार्क पाठशाला के  मुख्य अतिथि  इश्विंदर सिंह "इंडिया लीड-स्किल सोशल इनोवेशन हेड सिस्को" ने अपने सम्बोधन में युवाओ को उनके व्यवसाय या उद्यम को बढ़ने के लिए तकनीक के महत्व को समझाया। यह भी सिखाया गया की कैसे ऑनलाइन व्यापार के जरिये कम खर्चे में बेहतर ग्राहक सेवाएँ दी जा सकतीं हैं   


तीसरी लहर से निपटने बीएमसी तैयार 

संभागायुक्त मुकेश शुक्ला ने बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज की समीक्षा बैठक में बताया कि कोरोना संक्रमण की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज में अतिरिक्त 150 बिस्तरों पर ऑक्सीजन पाइप लाइन के माध्यम से उपलब्ध कराई जाएगी। साथ ही "सारी वार्ड" को मजबूत कर समस्त संसाधन भी उपलब्ध कराए जाएंगे एवं एसएनसीयू एवं आईसीयू वार्ड में अलग से जनरेटर की व्यवस्था भी होगी। 
Strict-Action-बेतरतीब-काम-करने-पर-टाटा-कंपनी-को-प्रशासन-कर-सकता-है-'टाटा'

सागर वॉच
। 
नागरिकों की असुविधा की कीमत पर विकास स्वीकार्य नहीं। शहर में चल रहे निर्माण कार्यों को इस ढंग से किया जाए जिससे नागरिकों को कम-से-कम असुविधा हो। तीन दिन के नोटिस पीरियड में व्यवस्थाएं दुरुस्त नहीं होने पर कठोर कार्रवाई होगी। शहर में नागरिकों को होने वाली अव्यवस्था के खिलाफ कमिश्नर शुक्ला ने टाटा कंपनी सहित नगर निगम एवं स्मार्ट सिटी के द्वारा कराए जा रहे विभिन्न कंपनियों के अधिकारियों को सख्त चेतावनी दी।

नगर निगम एवं स्मार्ट सिटी के अधिकारियों को कमिश्नर की  सख्त चेतावनी 

Also Read: India Smart City Contest 2020- सागर स्मार्ट सिटी को मिला देश में दूसरा स्थान

इस अवसर पर नगर निगम कमिश्नर आरपी अहिरवार, स्मार्ट सिटी सीईओ श्री राहुल सिंह राजपूत, नगर निगम स्मार्ट सिटी कि अधिकारी इंजीनियर एवं समस्त निर्माण करने वाली एजेंसियों के अधिकारी मौजूद थे।

संभागायुक्त  शुक्ला ने शहर में कराए जा रहे विभिन्न निर्माण कार्यों की समीक्षा करते हुए स्पष्ट रूप से निर्देश दिए कि किसी भी विकास कार्य में शहर के नागरिकों को असुविधा नहीं होनी चाहिए और यदि इसकी सूचना मिलती भी है तो तत्काल वैधानिक कार्रवाई की जाए।

Also Read: समीक्षाओं में प्रगति की मीनारें तन रहीं हैं हकीकत में बदहाल है शहर

3 दिन के नोटिस पीरियड में व्यवस्थाएं दुरुस्त नहीं होने पर होगी कठोर कार्रवाई

उन्होंने संबंधितों को 3 दिन का समय देते हुए कहा कि 3 दिन में संपूर्ण कार्यों की गतिविधियां और कार्य नहीं सुधारा गया तो ना केवल कंपनियों को काली सूची में डाला जाएगा बल्कि उन पर कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी।

बैठक में संभागायुक्त ने माना कि निर्माण कार्यों को बिना किसी पूर्व योजना के करने से शहर की जनता को असुविधा हो रही है। निर्माण कार्य से राजघाट की पेयजल सप्लाई की लाइन भी क्षतिग्रस्त होने से शहर में दो-दो दिन में पानी सप्लाई नहीं हो पा रहा है। यह बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

 उन्होंने निर्देश दिए कि बरसात के मौसम में स्ट्रीट लाइट को चालू रखा जावे जिससे राहगीरों को आने-जाने में परेशानी का सामना ना करना पड़े। उन्होंने स्पष्ट रूप से निर्देश दिए कि प्रत्येक कार्य  तकनीकी अधिकारियों की मौजूदगी में कराया जाए। कार्यस्थल पर तकनीकी अधिकारी उपस्थित रहे ।

 नागरिकों की असूविधा को लेकर कमिश्नर शुक्ला की टाटा कंपनी को चेतावनी

उन्होंने कहा कि, लाखा बंजारा झील से निकल रही मिट्टी सड़कों पर ना गिरे , इसकी भी सघन मॉनिटरिंग की  जावे और यदि मिट्टी से कोई दुर्घटना होती है इसके लिए कंपनी जिम्मेदार होगी ।

Also Read: अंधों-गूंगों की सरकार ने तालाब के बीच से बिछा दी सीवर लाइन-कांग्रेस

उन्होंने कहा कि लाखा बंजारा झील का कार्य शहर के नागरिकों की भावनाओं से जुड़ा हुआ मुद्दा है इसे शीघ्रता एवं गुणवत्तापूर्ण रूप से पूर्ण किया जाए । इसके अलावा  निर्माण में लगे डम्फर एवं मशीनरी  का उपयोग करते समय ट्रैफिक का ध्यान रखा जाए 

News-In-Short-'आप'ने-कहा-बेतहाशा-बढती-मंहगाई-गलत

सागर वॉच। 
 ख़बरों की खबर 

निर्देशों की बैठक 

पुलिस महानिरीक्षक सागर जोन सागर की अध्यक्षता में शुक्रवार को पुलिस नियंत्रण कक्ष में  हुई जिले के थानो की वार्षिक अपराध समीक्षा बैठक लंबित अपराधों को निपटाने, जुआ-सट्टा को रोकने व शराब के अवैध परिवहन व् बिक्री को रोकने के निर्देश जारी करने की चिरपरिचित औपचारिकता तक ही सीमित रही

कटरा चौकी मामले में समिति गठित  

उच्च  न्यायालय के  शहर की पुलिस चौकी की निर्माण के सिलसिले में जारी आदेश के परिपालन के सिलसिले में जिला कलेक्टर ने छः सदस्यीय समिति गठित की है समिति मौके पर निरीक्षण, कार्य की आवश्यकता और स्थल की उपलब्धता के आधार पर 15 दिन में प्रतिवेदन प्रस्तुत करेगी
 

अब नहीं होगा अप्सरा अंडर ब्रिज पर जलभराव 

अप्सरा सिनेमा अंडर ब्रिज स्थित जल भराव क्षेत्र से पानी की निकासी सुनिश्चित करने के लिए नगर निगम एवं रेलवे के अधिकारियों ने मौके का मुएना किया व  वहां पर अवरुद्ध  पड़े पाइप को खोलने के सुधार कार्य प्रारंभ कराया लगभग दिनभर  की मशक्कत के बाद शाम 6 बजे पानी की निकासी को सुनिश्चित हो पाए। नगर विधायक ने भी मौके पर पहुँच कर मरम्मत कार्य का निरीक्षण किया 

'आप'ने कहा बेतहाशा बढती मंहगाई गलत 

आम आदमी पार्टी ने महंगाई के खिलाफ शुक्रवार को हल्ला बोल रैली निकाली,राज्यपाल के नाम कलेक्टर को सौंपे ज्ञापन आम आदमी पार्टी सागर ने प्रदेश और देश में बेतहाशा बढ़ती मंहगाई  अनुचित बताते हुए इसका विरोध किया व् इसे कम करने की मांग की रैली के दौरान आप कार्यकर्ता आपे को साइकल से रस्से बांधकर उसे खींचते हुए कलेक्टर कार्यालय पहुंचे। 

मंत्री ने घटिया मूंग से लदे ट्रक लौटाए 

म.प्र . राज्य नागरिक आपूर्ति निगम के अध्यक्ष और कैबिनेट मंत्री दर्जा प्रद्युम्न  सिंह लोधी आज  सागर जिले में भ्रमण के दौरान देवरी क्षेत्र अंतर्गत पगारा स्थित भण्डारगृह  का निरीक्षण किया। इस मौके पर क्षेत्रीय किसानों और जन प्रतिनिधियों द्वारा यह बताये जाने पर कि गोदाम के बाहर खड़े चार ट्रकों में मूंग लदा है जो बाहर से आया है और इनमें रखी हुई मूंग अच्छी गुणवत्ता की नहीं है। शिकायतों को सुनकर उन्होंने सभी ट्रकों को वापस लौटा दिया।  

 Smart-City-In-Making-चर्चित-क्रिकेटर-सहवाग-को-भी-पसंद-आये-सागर-स्मार्ट-सिटी-के-खेलों-को-बढ़ावा-देने-के-प्रयास


सागर वॉच  मप्र की सागर स्मार्ट सिटी में खेलों को बढ़ावे देने की लिए  किए गए  शोध  व विकास कार्यों से चर्चित क्रिकेट खिलाड़ी काफी प्रभावित हुए हैं । उन्होंने ट्वीट के जरिए सागर स्मार्ट सिटी के इन प्रयासों की तारीफ करते हुए लिखा है कि यह स्मार्ट कदम है इससे बच्चों को उनकी जरूरत के मुताबिक खेल की सुविधाएं मिलेंगीं इससे खेलों में नौकरियां भी बढ़ेंगीं व खेलों का विकास भी होगा। टीम के प्रयासों के लिए  सहवाग ने बधाई भी दी।


प्रख्यात क्रिकेटर वीरेन्द्र सहवाग के इस ट्वीट के जवाब में मप्र के नगरीय विकास एवं आवास मंत्री ने भी ट्वीट कर  सहवाग का शुक्रिया अदा करते हुए लिखा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान  नेतृत्व में  मप्र सरकार प्रदेश में  खेलों के लिए  बेहतरीन आधारभूत ढांचा व सुविधाएं विकसित करने के लिए संकल्पबद्ध है।

इस सिलसिले में सागर स्मार्ट सिटी के कार्यकारी निदेशक राम प्रकाश अहिरवार ने बताया कि  खेल सुविधाओं के विकेन्द्रीयकरण  के लिए शहर के सभी 48 वार्डों में खेल सुविधाओं के विकास करने के कई फायदे हैं  जैसे वार्ड विशेष के बच्चों की जिस खेल में ज्यादा रूचि हैं उस वार्ड में उसी  खेल से जुड़ी सुविधाएं मुहैया कराईं जा रहीं हैं। 


वार्ड स्तर के खेल स्थानों में अधिक से अधिक बच्चे  इन सुविधाओं का लाभ उठा पाएंगें। क्योंकि यह व्यवहारिक नहीं है खेलों में रूचि रखने वाले सभी बच्चे शहर के बड़े स्टेडियम या खेल मैदानों में रोज जा सकें। इसके अलावा  वार्ड स्तर के इन खेल पार्कों   में स्थानीय बुजुर्गों व महिलाओं के लिए भी  सैर करने व  स्वच्छ हवा व धूप लेने का मौका मिलेगा।

स्मार्ट सिटी के कार्यकारी निदेशक श्री अहिरवार के मुताबिक इन खेल पार्कों में  स्थानीय बच्चों की रूचि के मुताबिक पारंपरिक खेलों कबड्डी , मलखंभ, खो-खो जैसे खेलों की सुविधाएं भी विकसित की जा रहीं हैं। जिससे आधुनिक खेलों के साथ -साथ पारंपरिक खेलों और खिलाड़ियों का भी विकास हो सके। 


इन पार्कों के  निर्माण के कार्य में लगी कंपनी  के जरिए खेलों व खेल सुविधाओं के विकास के लिए कराए गए शोध कार्य के दौरान दल ने शहर के विभिन्न वार्डों में घूम-घूम कर  शहर के लोगों से चर्चा कर यह पता लगाया कि  किस वार्ड में कौन सा खेल खेला जाता है ताकि वहां उसी  खेल  से जुड़ी सुविधाएं  महैया कराई जा सकें ।

टीम ने यह भी जानने की कोशिश की  कि शहर में किन-किन खेलों के प्रशिक्षक उपलब्ध हैं लेकिन उन्हें  बच्चे नहीं मिलते हैं  और किन खेलों के बच्चों को  प्रशिक्षक उपलब्ध नहीं हैं।  टीम ने अपने शोध कार्य में खेल व खेल सुविधाओं के विकास को लेकर वाणिज्यिक पहलू से भी गौर किया ताकि खेलों और खेल सुविधाओं के विकास के साथ शहर में रोजगार के अवसर भी बढ़ सकें और इन पार्कों के रखरखाव का खर्च भी निकाला जा सके।


वार्ड स्तर पर इन खेल सुविधाओं के विकास करने के पीछे की सोच के बारे में  स्मार्ट सिटी सागर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल सिंह ने बताया कि  आजकल मां-बाप की सबसे बड़ी परेशानी है बच्चों को अधिक से अधिक समय मोबाईल पर गुजारना है  जिससे उन्हें सेहत संबंधी कई समस्याएं भी  पैदा हो जातीं है।। 

कोविड  महामारी के दौरान  चल रही ऑन लाईन  कक्षाओं के कारण यह समस्या और भी गंभीर हुई है। ऐसे में बच्चों को मोबाईल से दूर कर खेल के मैदान तक लाने की पहली जरूरत उनके लिए घर के आसपास मुहल्ला स्तर पर खेला सुविधाओं का मुहैया कराना भी जरूरी है। ताकि उनकी खेलों के प्रति रूचि को और बढ़ाया जा सके। इससे न केवल उनकी सेहत सुधरेगी बल्कि नए-नए खिलाड़ी भी सामने आ पाएंगें। साथ ही वार्ड  के बुजुर्गों व महिलाओं के लिए भी  घूमने, कसरत करने का  स्थान मिल जाएगा।


राहुल सिंह के मुताबिक इस कवायद से यह भी पता चला कि शहर के  लोगों  का शरीर किस तरह के खेलों के अनुकूल है व किस तरह की कमजोरियां उनमें है। खेल  के जानकारों  के सुझावों के आधार पर तय हुआ कि  किस तरह के खेल व व्यायाम सुविधाएं  मुहैया कराईं जांए जिससे खिलाड़ियों की  क्षमताओं का विकास व उनकी कमजोरियां दूर हो सकें।  इसी  अध्ययन के आधार पर सागर स्मार्ट सिटी शहर के सभी 48 वार्डें में खेल-क्षेत्र  (प्ले-एरिया) विकसित कर रहा है।

Press-Conference-अंधों-गूंगों-की-सरकार-ने-तालाब-के-बीच-से-बिछा-दी-सीवर-लाइन-कांग्रेस

सागर वॉच।
 
भ्रष्ट प्रशासन ने तालाब के बीचों बीच सीवेज लाइन बिछाकर प्रशासन ने यह सिद्ध कर दिया है कि यह सरकार अंधे और गूंगों की है। सैकड़ों करोड़ खर्च करने के बाद भी तालाब की डी सिल्टिंग ज्यों का त्यों है प्रशासन केवल पानी ही खाली कर पाया है। सागर की लाख बंजारा झील के जीर्णोद्धार के लिए चल रहे कामों  कांग्रेस मीडिया विभाग के उपाध्यक्ष भूपेन्द्र गुप्ता ने  दुख व्यक्त करते हुये इसे भीषण भ्रष्टाचार का नमूना बताया। 

Also Read: समीक्षाओं में प्रगति की मीनारें तन रहीं हैं हकीकत में बदहाल है शहर

गुप्ता ने रविवार को मीडिया से अनौपचारिक चर्चा में बताया कि   पूरी दुनिया में जल संरचनाओं से सीवेज लाइन को काटा जाता है किंतु सागर में इसे तालाब से ही गुजार दिया गया है। एनजीटी एवं उच्च न्यायालय के आदेशों की खुली अवहेलना हो रही है निर्णयों की विद्रूपता पर पर्दा डालने के लिए बनाई गई कमेटियों की कोई भी रिपोर्ट अब तक सामने नहीं आई है भ्रष्ट अधिकारियों और नेताओं ने मिलकर लाखा बंजारा की ऐतिहासिक विरासत को बर्बाद कर दिया है।

 भूपेंद्र गुप्ता ने पूरे प्रदेश में ईमानदार बिजली उपभोक्ताओं की लूट का विषय उठाते हुए कहा कि बड़े हुए फर्जी बिलों के कारण ईमानदार उपभोक्ता का जीना मुश्किल हो गया है उन्होंने कहा सागर इसका सबसे बड़ा उदाहरण है। यहां तो स्वयं भाजपा के स्थानीय विधायक ने इस लूट को पकड़ा है और बताया है कि 308027 यूनिट के बिल जिन उपभोक्ताओं को दिए गए थे,वे सुधारने के बाद 222666 यूनिट के ही रह गए। 17 लाख 70 हजार की ज्यादा वसूली उपभोक्ताओं से की जा रही थी। 


यह तो मामला खुद भाजपा के विधायक ने पकड़ा है लेकिन यह लूट पूरे प्रदेश में जारी है सरकार ने जानबूझकर शासकीय विद्युत उत्पादन इकाइयां बंद कर रखी हैं और निजी क्षेत्र की कंपनियों से अनाप-शनाप कीमत पर बिजली खरीदी जा रही है। सिंगाजी की तीसरी यूनिट तो चंद दिन भी नहीं चली परफारमेंस गारंटी टेस्ट भी नहीं दे सकी और आज 360 दिन हो गए हैं उसके बावजूद उसे फिर से नहीं चलाया जा सका है ।

अकेले सिंगाजी में लगभग दो हजार करोड़ का नुकसान हुआ है जिसकी भरपाई ईमानदार उपभोक्ताओं से की जा रही है और आज की परिस्थिति में सिंगाजी की चौथी इकाई भी बंद हो गई है। मध्य प्रदेश के ईमानदार उपभोक्ता को यह पता होना चाहिए कि बिजली कंपनियां 2000 मेगावाट से अधिक सस्ती बिजली सरेंडर कर रही हैं और चार गुनी कीमत पर मंहगी बिजली खरीदी जा रही है और इसकी कीमत ईमानदार उपभोक्ता दे रहा है। समय रहते अगर उपभोक्ता खड़ा नहीं हुआ तो उसकी जेब से हजारों करोड़ निकाल लिए जाएंगे।