Covid-19-Update-Behind-in-treatment-tops-in-mortality-सीएम-के-चिंता-जताते-ही-जागा-प्रशासन

Covid-19-Update-Behind-in-treatment-tops-in-mortality-सीएम-के-चिंता-जताते-ही-जागा-प्रशासन

#MediaWatch@Best From Print Media

Headlines: अख़बारों की आज की सुर्खियाँ 

आज सभी अखबारों ने डाॅ. हरिसिंह गौर की जयंती, देवउठनी ग्यारस व बुंदेलखंड चिकित्सा महाविद्यालय के चिकित्सक की कोरोना संक्रमण से जान जाने की खबरों को प्रमुखता से छापा है।

मुख्यमंत्री द्वारा बुंदेलखंड चिकित्सा महाविद्यालय के कोविड-19 अस्पताल में कोरोना संक्रमित मरीजों की मृत्यु दर अधिक होने पर वीडियो कांफ्रेंसिंग मे चिंता जताए जाने के बाद प्रशासन के जागने जाने की खबर को सभी अखबारों ने छापा है। संभागायुक्त द्वारा बीएमसी का दौरा कर मृत्यु दर कम करने के निर्देश को ही थोड़ा-बहुत फेरबदल कर शीर्षक बनाकर लगभग सभी अखबारों ने खबर छापी है।

इसके अलावा शहर के पत्रकारों के आगामी नगर निगम चुनाव में उतरने की घोषणा करने वाली खबर को अधिकांश अखबारों ने बड़ी रूचि से छापा है। “नगर निगम सागर चुनाव में पत्रकार उतरेंगें मैदान में”  शीर्षक से छपी खबर में बताया गया है कि बीते दो दशक से भाजपा-कांग्रेस के जनप्रतिनिधियों के असंतोष-पूर्ण प्रदर्शन को देखते हुए शहर के पत्रकारों ने खुद ही मैदान उतरने का मन बनाया है।

             Also Read: सागर-में-कोरोना-मरीजों-की-मृत्यु-दर-हुई चिंताजनक

दैनिक भास्कर ने कोरोना से जुड़ी एक बेहद सनसनी खेज खबर को अंदर के पृष्ठ पर लगाया है जिसमें सागर जिले में कोरोना को “बेलगाम“ बताया है। खबर के मुताबिक कोरोना संक्रमित मरीजों की मृत्यु दर के लिहाज से सागर व दमोह जिले  प्रदेश में क्रमशः पहले व दूसरे स्थान पर है। खबर के मुताबिक सबसे ज्यादा चिंता का विषय यह है कि मृत्यु दर के जिस आंकड़े 3.37 के कारण जिला प्रदेश में पहले स्थान में है। बुंदेलखंड चिकित्सा महाविद्यालय में मृत्यु दर (7%) उससे लगभग दोगुनी है और प्रदेश स्तर की मृत्युदर के आंकड़े 1.62 के तीन गुना  से भी ज्यादा है)

 Also Read: BMC-CMHO At Loggerheads-कोविड की जांच में हो रही घोर लापरवाही

दैनिक आचरण ने जिला प्रशासन की लापरवाही को उजागर करने वाली खबर को अपनी पहली सुर्खी बनाया है। खबर के मुताबिक जिले के करीब पौने चार लाख राशनकार्डों का आधार कार्ड से जोड़े जाने का कार्य प्रशासनिक उदासीनता के चलते लगभग ठप्प पड़ा है। करीब 15 लाख हितग्राहियों में से अभी महज एक लाख हितग्राहियों के राशनकार्ड आधार कार्ड से जुड़ पाए हैं।

 खबर में चिंता जताई है कि प्रदेश सरकार द्वारा दिसंबर से आधार कार्ड से नहीं जुड़े राशनकार्ड धारकों को अनाज नहीं देने के फैसले के कारण जिले में भयावह हालत बनने वाले हैं। करीब 90 फीसदी राशन कार्ड धारकों को अगले महीने राशन मिलना मुश्किल हो जाएगा।

Also Read :तेली-में-होते-है-प्रतिरोधक-क्षमता-बढाने-के-जबरदस्त -गुण


Share To:

Sagar Watch

Sagar Watch is the only news portal of Bundelkhand Region, which provide news updates in English & Hindi language. Rajesh Shrivastava, the Journalist, is the Chief Editor of this News Portal.

Post A Comment:

0 comments so far,add yours