Be-Aware-BiG-Malls-Too,-Sale-Expiry-Goods-नगर-निगम-सवालों-के-कठघरे-में

Be-Aware-BiG-Malls-Too,-Sale-Expiry-Goods-नगर-निगम-सवालों-के-कठघरे-में

#MediaWatch@Best From Print Media

Headlines: अख़बारों की आज की सुर्खियाँ 

आज अखबरों की सुर्खियों में शहर के बीचों-बीच बिना पार्किंग की सुविधा मुहैया कराए खड़ी हो रहीं इमारतें और निगम की भूमिका, बड़े-बड़े आलीशान माल मे बिकने वाले उत्पादों की गुणवत्ता और ऑनलाइन जुए के बढ़ते चलन पर सवाल खड़े करने वाली खबरें छायीं रहीं।

मकरोनिया उपनगर के एक माल में समाप्ति तिथि (एक्सपायरी डेट) के बाद की खाद्य सामग्री  के खुले आम बेचे जाने के मामले में जिला प्रशासन, खाद्य विभाग व पुलिस की संयुक्त कार्रवाई की खबर को कई अखबारों ने प्रमुखता से छापा है। 

Also Read: जननेतृत्व से लबालब हुए तालाब, विभागीय नाकारापन से छलनी हुई धरती

दैनिक भास्कर ने “मकरोनिया के  ऑनडोर माॅल  में मिले एक्सपायरी डेट के आटा, बिस्किट” से इस खबर को लगाया। दैनिक  आचरण ने भी इस खबर को “खुद के कर्मचारी को थमा दिया एक्सपायरी डेट का सामान” शीर्षक से लगायी।

सागर वाॅच( खबर से हटकर) खबरों में दिए नायब तहसीलदार का बयान को पढ़कर लगता है कि केवल एक्सपायरी डेट का सामान बेचते हुए पाया जाना माॅल के खिलाफ कार्रवाई का पर्याप्त आधार नहीं है। एक्सपायर हो चुके यानी कि जो सामान उपभोग के लिए अनुपयुक्त हो ही चुका है उसकी गुणवत्ता जांच कराने व उसके जांच के नतीजे तक आरोपी के खिलाफ कार्रवाई रोके रखना का क्या औचित्य है?

नवभारत ने ऑनलाइन  जुए की गिरफ्त में युवा शीर्षक से अपनी पहली खबर में लिखा है कि डिजीटिलाईजेशन के कारण जुआ खेलना आसान हो गया है व कम उम्र के बच्चे भी इसकी लत का शिकार हो रहे हैं। अखबार ने चिंता जताई है आईपीएल क्रिकेट की आड़ में शुरू हुए इस ऑनलाइन  जुए के मामले मे सरकार की नीति स्पष्ट नहीं होने के कारण यह बेलगाम होता जा रहा है। इस खेल के कानूनी पहलू पर कुछ भी बोलने से जिम्मेदार अधिकारी भी कतरा रहे हैं।

         Also Read: सूझ-बूझ से बन रही है खेती-लाभ-का-धंधा

नवदुनिया ने स्मार्ट सिटी द्वारा शहर के लाखा बंजारा झील को खाली कराने अपनाए जाए रहे तौर-तरीकों के औचित्य पर एक अलग ही अंदाज में सवाल खडे़ किए है। अखबार ने झील की एक विहंगम तस्वीर को प्रकाशित कर दिखाया है कि एक ओर झील खाली करायी जा रही है वहीं दूसरी ओर तालाब मे मिलने वाले शहर के गंदे पानी के नाले-नालियां उसे फिर से भरते जा रहे हैं।

दैनिक आचरण ने मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना को लेकर मुख्यमंत्री के प्रदेश व्यापी वर्चुअल कार्यक्रम की खबर को नगरीय विकास मंत्री के बयान “किसान कल्याण योजना मील का पत्थर साबित होगी” शीर्षक से पहली खबर के रूप में छापा है।

 Also Read : नींद से जागा नगर निगम, खदेड़ा अतिक्रमणकारियों को

ईवनिंग मिरर ने मकरोनिया उपनगर में नगर पालिका द्वारा सड़क व नाली के निर्माण कार्य मे लगे ठेकेदार से काम नहीं करा पाने की खबर छापी है। खबर के मुताबिक स्थानीय विधायक व निगम अफसरों की ताकीद के बाद भी ठेकेदार अधूरे पड़े कामों को पूरे नहीं कर रहा है।

अखबार ने शहर के आयकर विभाग के पास एक होर्डिग व्यवसायी द्वारा अपने होर्डिंग दृश्यता बढ़ाने के लिए उसके आसपास लगे पेड़ों को काटने का मामला भी उठाया है। अखबार कहता है कि शहर में एक बार फिर होर्डिंग्स खरपतवार की तरह बढ़ने लगे हैं।

 Also Read: सीएम के चिंता जताते ही जागा प्रशासन

सियासत- स्थानीय निकाय चुनावों की तारीखों की जल्द ही घोषित किये जाने की उम्मीद में राजनैतिक दलों की बढ़तीं सरगर्मियां से जुड़ीं खबरें भी अखबारों में नजर आने लगीं है। दैनिक आचरण ने कांग्रेस पार्टी की आगामी नगरीय निकाय चुनावों की प्राथमिक तैयारी को लेकर हुई बैठक की खबर छापी है जिसमें कांग्रेस जिलाध्यक्ष ने मतदाता सूचियों की शुद्वता को ही जीत का बड़ा आधार बताया है।

OFFTRACK NEWS: लीक से हटकर खबर

दैनिक भास्कर ने एक विशेष रपट छाप कर शहर में पार्किंग नियमों का उल्लंघन करके खड़ीं हो रहीं ईमारतों का विवरण देकर नगर निगम की कार्यप्रणाली व मंशा पर गंभीर सवाल खड़े किए हैं। खबर में ऐसी इमारतों को, जिन्होंने दुकाने निकालने के लालच में पार्किंग नहीं बनाईं, नगर निगम की “कृपापात्र“ बताकर कर तंज कसा गया है।

खबर में पार्किंग नियमों का उल्लंघन कर बनीं इमारतों के खिलाफ कार्रवाई व उनके निर्माण के लिए निगम से मिली अनुमति से जुड़े अखबार के तीखे सवालों के जवाब में निगम के उपायुक्त बंगले झांकते नजर आए। अखबार ने अपनी खबर में खुलासा किया है कि शहर की गंभीर होती यातायात समस्या की वजह शहर की 95 फीसदी वाणिज्यिक भवनों में पार्किग स्थल का न बनाया जाना है।

अखबार ने खबर के जरिए भवनों के निर्माण व नक्शे पास होने के प्रक्रिया में निगम में “जमकर धांधली“ होने जिक्र किया है।लिखा है कि पिछले पांच साल में शहर में 56 ऐसी वाणिज्यिक इमारतें बनीं हैं जिनमें पार्किग स्थल मुहैया कराने के नियमों का उल्लंघन किया है।

दैनिक जागरण ने प्रदेश  सरकार द्वारा होमगार्ड के जवानों की लिए सेवा से दो माह के लिए प्रथक कर फिर सेवा में लेने का नियम पर दोबारा अमल शुरू करने  पर खबर छापी है। खबर के मुताबिक इसकी एक प्रदेश सरकार का वह फैसला है जिसके तहत उसने सिंहस्थ के समय अस्थायी तौर पर भर्ती किये गए होम गार्ड सैनिकों को विधानसभा चुनावों के चलते नियमित कर दिया। इस फैसले से सरकार का बजट गड़बड़ा गया। अखबार कहता है कि सैनिक सरकार के इस फैसले के खिलाफ खड़े होने का मन बना रहे हैं ।

FOLLOW-UP: फाॅलोअप

नौरादेही अभ्यारण में अफ्रीकन चीतों को  बसाये जाने को लेकर दौरे पर आई वन्य जीव संस्थान की टीम से जुड़ी खबर की तीसरी कड़ी में दैनिक भास्कर ने बताया कि पहले चरण में नौरादेही में 20 अफ्रीकन चीते आएंगें। खबर में बताया है कि प्रदेश में चीतों को बसाने के सिलसिले में एक से ज्यादा अभ्यारणों का दौरा कर चुकी इस टीम के बाद एक और टीम को आना है। हालांकि नौरादेही में चीता परियोजना को लेकर तैयारियां तेज हो गईं हैं।

Also Read: Without Facility NHAI Started Toll Plaza-शिकारी खुद यहाँ शिकार हो गया


Share To:

Sagar Watch

Sagar Watch is the only news portal of Bundelkhand Region, which provide news updates in English & Hindi language. Rajesh Shrivastava, the Journalist, is the Chief Editor of this News Portal.

Post A Comment:

1 comments so far,Add yours