Articles by "mla"
mla लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Matra-Vandan-Yojna

सागर वॉच
  सागर सहित मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण की दर को शून्य करने में महिला-बाल विकास का कार्य अत्यंत सराहनीय है । उक्त विचार विधायक श्री शैलेंद्र जैन ने प्रधानमंत्री के जन्मदिन के मौके पर जन कल्याणकारी और सुराज अभियान के तहत मातृ वंदना योजना के हितग्राहियों की राशि एवं लाडली लक्ष्मी योजना के अंतर्गत छात्रवृत्ति वितरण कार्यक्रम में व्यक्त किए। कार्यक्रम का आयोजन कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में किया गया था।

इस अवसर पर जिला पंचायत की अध्यक्ष दिव्या अशोक सिंह, उपाध्यक्ष श्रीमती तृप्ति बाबू सिंह, आशा सिंह, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री क्षितिज सिंघल, महिला बाल विकास अधिकारी श्रीमती रचना बुधौलिया, सहायक महिला बाल विकास अधिकारी श्रीमती सोनम नामदेव सहित अन्य अधिकारी एवं हितग्राही मौजूद थे।


कार्यक्रम में विधायक शैलेंद्र जैन ने कहा कि सागर सहित मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण की दर को शून्य करने में महिला बाल विकास विभाग की आंगनवाड़ी कार्यकर्ता सहायिका एवं अधिकारियों का सहयोग सराहनीय है। उन्हीं के सहयोग से आज कोरोना संक्रमण की दर 0 प्रतिषत पर आई है।

उन्होंने कहा कि वे महिला बाल विकास की आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिकाओं के वेतन एवं अन्य मांगों के समर्थन में हूँ। शीघ्र ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से बात करके इन लोगों की लंबित मांगों पर चर्चा करूंगा । विधायक शैलेंद्र जैन ने कहा कि महिला बाल विकास विभाग समाज के लिए एक आदर्श के रूप में कार्य कर रहा है।


जिला पंचायत अध्यक्ष दिव्या अशोक सिंह ने कहा कि आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं एवं सहायिकाओं द्वारा जो कार्य किया जा रहा है, वह अत्यंत सराहनीय है। इस विभाग के अधिकारियों-कर्मचारियों ने कोरोना संक्रमण के समय घर पर ना बैठ कर पूरे समय जो कार्य किया, उसकी देश एवं प्रदेश में सराहना हो रही है ।

जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी क्षितिज सिंघल ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका एवं महिला बाल विकास विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा सराहनीय कार्य किए गए है। 

इसमें सर्वे के माध्यम से टेस्ट इन आइसोलेशन, दवा वितरण, वैक्सीनेशन का कार्य किया गया है जो वह अद्भुत है। उन्होंने कहा कि महिला-बाल विकास विभाग के द्वारा शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन कराने की विस्तृत कार्य योजना बनाएं, जिससे 26 तारीख के पूर्व जिले को शत-प्रतिशत किया जा सके। श्री सिंघल ने कहा कि महिला बाल विकास विभाग द्वारा ही गर्भवती माताओं का वैक्सीनेशन कराने के लिए भी प्रयास किए जाएं ताकि समस्त गर्भवती माताओं का भी शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन कराया जा सके।


उन्होंने कहा कि 27 सितंबर को आयोजित होने वाले वैक्सीनेशन महा-अभियान में भी महिला-बाल विकास विभाग अपनी महती भूमिका को निभाते हुए वैक्सीनेशन कराएं। इस अवसर पर मुख्य अतिथियों द्वारा हितग्राहियों को चेक एवं प्रमाण-पत्र वितरित किए गए। कार्यक्रम के प्रारंभ में अतिथियों द्वारा द्वारा कन्या पूजन भी किया गया। कार्यक्रम का संचालन सुश्री सुधीरा श्रीवास्तव ने किया।

Furniture-Cluster-उद्योग-मंत्री-का-आश्वासन-जल्द-बनेगा-फर्नीचर-क्लस्टर

 
सागर वॉच यातायात के दबाव को कम करने के लिये शहर की आरा मशीनों को विस्थापित कर   एक टिंबर क्लस्टर बनाया जायेगा। यह आश्वासन अल्प प्रवास पर सागर आये प्रदेश के उद्योग मंत्री ओमप्रकाश सकलेचा ने टिम्बर व्यापारी संघ द्वारा आरा मशीनों को एक निश्चित एवं सुरक्षित जगह पर स्थानांतरित करने की मांग किये जाने पर दिया 

टिम्बर मर्चेन्ट एशोसिऐशन के पदाधिकारियों व सदस्यों ने विधायक शैलेंद्र जैन के नेतृत्व में रविवार को उद्योग मंत्री से मुलाकात की एवं उन्हें अपनी समस्याओं से अवगत कराया।

Also Read: Strict Action-बेतरतीब काम करने पर टाटा कंपनी को प्रशासन कर सकता है टाटा

इस सिलसिले में मंत्री सकलेचा द्वारा तत्काल कार्यवाही करने हेतु सागर जिला कलेक्टर दीपक सिंह एवं सागर जिला उद्योग महाप्रबंधक मंदाकनी पाण्डेय को सागर औद्योगिक क्षेत्र सिद्गुवा में सर्वसुविधायुक्त फर्नीचर क्लस्टर तैयार करने हेतु निर्देशित किया। जिससे  व्यापारी सुलभतापूर्वक अपने व्यापार को संचालित कर सके साथ ही  ।

मंत्री सकलेचा ने इसी क्षेत्र में फर्नीचर ट्रेड में रुचि रखने वाले लोगो के लिए प्रशिक्षण केंद्र स्थापित करने हेतु निर्देशित किया ताकि अन्य लोग भी इस क्षेत्र व्यापार हेतु आगे आये। मंत्री से मुलाकात करने वालों में टिम्बर एसोसिएशन के अध्यक्ष  दिनेश भाई पटेल, सचिव  विजय भूषण ,सह सचिव श्री सुनील ,जनरल सेक्रेटरी विजय पटेल,  लक्ष्मी भाई पटेल,  देवेंद्र सिंह चावला, ईश्वर भाई पटेल , शरीफ उद्दीन,महेंश राय ,इंद्रप्रीत सिंह होरा,विजय भाई पटेल ,महेश राय,  राम अवतार पांडे ,श्री गब्बर अजवानी,  शैलेश केशरवानी, भीमसरिया,मोहन भाई पटेल,नरेंद्र पाल सिंह अजमानी, मनजीत भाटिया, आदि उपस्थित थे।


सागर सराफा अध्यक्ष एवं मप्र एसएएसएस के प्रदेश उपाध्यक्ष विक्रम सोनी ने भी प्रदेश सरकार में सूक्ष्म एवं लघु उद्योग मंत्री ओमप्रकाश  सकलेचा से मुलाकात कर हॉलमार्क व एचयूआईडी से होने वाली व्यवहारिक परेशानियों की जानकारी देकर सरकार के ध्यान में यह मामला लाने की बात की है। 

Oxygen-Crisis-ऑक्सीजन-टैंकर-सरे-राह-कर-रहे-थे-ऑक्सीजन-की-पलटी,-विधायक-ने-जताई-चोरी-की-आशंका

सागर वॉच @
कोरोना काल में जब पूरे देश में आक्सीजन को लेकर मारा-मारी चल रही हो ऐसे समय में सड़क पर खडे़ आक्सीजन के दो टैंकरों में से एक टैंकर से दूसरे टैंकर में आक्सीजन की पलटी किया जाना किसी के भी मन में आक्सीजन की चोरी की आशंका को जन्म दे सकता है। ऐसा ही कुछ वाक्या मप्र के सागर शहर में हुआ । यह वाक्या भी सबसे पहले शहर के विधायक शैलेन्द्र जैन की नजर में आया। उन्होंने इस मामले में हकीकत जानने की कोशिश की लेकिन असफल रहे।

Also Read: आयुष्मान कार्ड पर पर निजी अस्पतालों में मुफ्त होगा कोरोना का इलाज

विधायक शैलेन्द्र जैन को शनिवार को धर्मश्री से गुजरते  वक्त दो ऑक्सिजन टैंकर दिखाई दिए । जिनमें एक टैंकर में भरी ऑक्सीजन दूसरे टैंकर में भरी जा रही थी। मामले को संदिग्ध मानते हुए विधायक जैन ने गाड़ी रोक कर पूछताछ की। ऑक्सीजन टेंकर कहां से लाये हो और एक से दूसरे टैंकर में   ऑक्सीजन क्यों खाली कर रहे हो। 

Also Read: नहीं मिला राजघाट के पानी में कोरोना का संक्रमण-विधायक

इस पर टैंकर के ड्राइवर ने बताया कि बोकारो से ट्रेन के माध्यम से सागर आए हैं, और इनमें से एक टैंकर छतरपुर जाना है। जिसमें ऑक्सीजन शिफ्ट की जा रही है। परंतु ड्राइवरयह नहीं बता पाया कि उसे ऐसा करने के लिए किसने कहा है और न ही वह इस संबंध में कोई भी दस्तावेज दिखा पाया। इस मामले को अधिकारियों के ध्यान में लाने के लिए विधायक जैन ने तुरंत जिला पंचायत सीईओ व अन्य प्रशासनिक अधिकारियों को फोन लगाया, लेकिन किसी ने भी उन्हें फोन पर जवाब नहीं मिला। इस मामले में विधायक ने  ऑक्सीजन चोरी की आशंका से भी इंकार नहीं किया।

Also Read: Get Covid-19 Test Report Online-मप्र में कोरोना टेस्ट की रपट मिलेगी घर बैठे

Report@Chaitanya Soni
Rajghat-Tested-Negative-For-Corona-नहीं-मिला-राजघाट-के-पानी-में-कोरोना-का-संक्रमण-विधायक

सागर वाॅच@
कोरोना संक्रमण के फैलाव की रफ्तार से देश भर में अफरा-तफरी का माहौल नजर आ रहा है। इसी के चलते कोरोना संक्रमण फैलाव में पर लगाम कसने के लिए विशेषज्ञ व जागरूक लोग संक्रमण के फैलाव में वजह बनने वाले कारकों को पहचानने के लिए लीक से हटकर सोचना भी शुरू कर दिया है। इसी दिशा में सागर के विधायक ने शहर को जल की आपूर्ति करने वाले राजघाट व सर्दी-जुकाम जैसी बीमारियों से ग्रसित स्थानीय मवेशियों की भी कोरोना जांच कराने की दिशा में पहल की है।

सागर में राजघाट के पानी व पालतू जानवरों आए कोरोना फैलने की आशंका जताई गई है, जिसके बाद राजघाट के पानी के सैम्पल लेकर वायरोलॉजी लैब में जांच के लिए भेजे गए हैं। वहीं जिले के कुछ इलाकों में बकरियों व अन्य जानवरों को सर्दी होने व नाक बहने की सूचनाएं हैं। वैटनरी विभाग के माध्यम से इनके सैम्पल कराने के लिए कहा है। 

सागर विधायक शैलेंद्र जैन व वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों ने आशंकाएं जाहिर की थीं कि कहीं पानी में तो वायरस नहीं आ गया है। इसके चलते राजघाट बांध से क्लियर वाटर से एक लीटर पानी व नल से सप्लाई पानी का सैम्पल वायरोलॉजी लैब में जांच के लिए भेजा गया है। इसके अलावा विशेषज्ञों ने जानवरों में भी कोरोना संक्रमण फैलने की आशंका जताई है।  इसकी वजह जिले के कुछ इलाकों में पालतू बकरियों और अन्य मवेशियों को सर्दी-जुकाम होने व नाक बहने की जानकारी मिलने को बताया। 

शेरों को कोरोना के बाद जताई गई आशंका

कोरोना के इंसान से इंसान के बीच तेजी से होतेे फैलाव नेे विशेषज्ञों को अलग तरीके सोचने पर मजबूर कर दिया है। बीते दिनों हैदराबाद के नेहरु जूलॉजिकल पार्क में 8 एशियाई शेरों को कोरोना वायरस की जानकारी सार्वजनिक होने के बाद हड़कम्प मचा हुआ है। देश के सारे अभ्यारण्य को अलर्ट भेजा गया है। इधर हैदराबाद में ही बीते साल सीवर के पानी में कोरोना वायरस की मौजूदगी मिली थी। यह दावा सेंटर फॉर मॉलिक्यूलर बायोलॉजी की रिपोर्ट में किया गया था। जिसके बाद सीवरेज को ट्रीटमेंट किया गया था।

जहां एक ओर नगर निगम आयुक्त आरपी अहिरवार का मानना है कि पानी में कोरोना वायरस नहीं होता है। राजघाट के पानी में इस तरह की आशंका नहीं है। शहर ।के सप्लाई होने वाला पानी पूरी तरह फिल्टर प्रक्रिया के बाद सप्लाई होता है। 

वहीं शहर के विधायक शैलेन्द्र जैन का कहना है कि पानी में कोरोना वायरस व अन्य वायरस होने की रिसर्च हैं। जिस तेजी से वायरस फैल रहा है तो राजघाट व नलों के पानी कल एहतियात के तौर पर लैब में टेस्ट कराने भेजा था। शहरवासियों से जुड़ा मामला है, इसलिए हर शंका, आशंका पर नजर रखना जरूरी है। वैसे पानी में वायरस नहीं मिला है। यह  राहत भरी खबर है। 

विधायक का यह भी कहना है कि पानी व मवेशियों में कोरोना संक्रमण के मामले पहले  सामने आ चुके हैं। जानवरों को सर्दी-जुकाम की खबरें भी हैं। वेटरनरी विभाग के माध्यम से इनके सैम्पल लेकर कोरोना की जांच करा  रहे हैं। हमें कोरोना से निपटने में हर स्तर पर नजर रखना होगी।