Articles by "Sagar News"
Sagar News लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

Report@Chaitanya Soni
Rajghat-Tested-Negative-For-Corona-नहीं-मिला-राजघाट-के-पानी-में-कोरोना-का-संक्रमण-विधायक

सागर वाॅच@
कोरोना संक्रमण के फैलाव की रफ्तार से देश भर में अफरा-तफरी का माहौल नजर आ रहा है। इसी के चलते कोरोना संक्रमण फैलाव में पर लगाम कसने के लिए विशेषज्ञ व जागरूक लोग संक्रमण के फैलाव में वजह बनने वाले कारकों को पहचानने के लिए लीक से हटकर सोचना भी शुरू कर दिया है। इसी दिशा में सागर के विधायक ने शहर को जल की आपूर्ति करने वाले राजघाट व सर्दी-जुकाम जैसी बीमारियों से ग्रसित स्थानीय मवेशियों की भी कोरोना जांच कराने की दिशा में पहल की है।

सागर में राजघाट के पानी व पालतू जानवरों आए कोरोना फैलने की आशंका जताई गई है, जिसके बाद राजघाट के पानी के सैम्पल लेकर वायरोलॉजी लैब में जांच के लिए भेजे गए हैं। वहीं जिले के कुछ इलाकों में बकरियों व अन्य जानवरों को सर्दी होने व नाक बहने की सूचनाएं हैं। वैटनरी विभाग के माध्यम से इनके सैम्पल कराने के लिए कहा है। 

सागर विधायक शैलेंद्र जैन व वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों ने आशंकाएं जाहिर की थीं कि कहीं पानी में तो वायरस नहीं आ गया है। इसके चलते राजघाट बांध से क्लियर वाटर से एक लीटर पानी व नल से सप्लाई पानी का सैम्पल वायरोलॉजी लैब में जांच के लिए भेजा गया है। इसके अलावा विशेषज्ञों ने जानवरों में भी कोरोना संक्रमण फैलने की आशंका जताई है।  इसकी वजह जिले के कुछ इलाकों में पालतू बकरियों और अन्य मवेशियों को सर्दी-जुकाम होने व नाक बहने की जानकारी मिलने को बताया। 

शेरों को कोरोना के बाद जताई गई आशंका

कोरोना के इंसान से इंसान के बीच तेजी से होतेे फैलाव नेे विशेषज्ञों को अलग तरीके सोचने पर मजबूर कर दिया है। बीते दिनों हैदराबाद के नेहरु जूलॉजिकल पार्क में 8 एशियाई शेरों को कोरोना वायरस की जानकारी सार्वजनिक होने के बाद हड़कम्प मचा हुआ है। देश के सारे अभ्यारण्य को अलर्ट भेजा गया है। इधर हैदराबाद में ही बीते साल सीवर के पानी में कोरोना वायरस की मौजूदगी मिली थी। यह दावा सेंटर फॉर मॉलिक्यूलर बायोलॉजी की रिपोर्ट में किया गया था। जिसके बाद सीवरेज को ट्रीटमेंट किया गया था।

जहां एक ओर नगर निगम आयुक्त आरपी अहिरवार का मानना है कि पानी में कोरोना वायरस नहीं होता है। राजघाट के पानी में इस तरह की आशंका नहीं है। शहर ।के सप्लाई होने वाला पानी पूरी तरह फिल्टर प्रक्रिया के बाद सप्लाई होता है। 

वहीं शहर के विधायक शैलेन्द्र जैन का कहना है कि पानी में कोरोना वायरस व अन्य वायरस होने की रिसर्च हैं। जिस तेजी से वायरस फैल रहा है तो राजघाट व नलों के पानी कल एहतियात के तौर पर लैब में टेस्ट कराने भेजा था। शहरवासियों से जुड़ा मामला है, इसलिए हर शंका, आशंका पर नजर रखना जरूरी है। वैसे पानी में वायरस नहीं मिला है। यह  राहत भरी खबर है। 

विधायक का यह भी कहना है कि पानी व मवेशियों में कोरोना संक्रमण के मामले पहले  सामने आ चुके हैं। जानवरों को सर्दी-जुकाम की खबरें भी हैं। वेटरनरी विभाग के माध्यम से इनके सैम्पल लेकर कोरोना की जांच करा  रहे हैं। हमें कोरोना से निपटने में हर स्तर पर नजर रखना होगी। 


 

Gazette-Notification- दिव्यांगता-प्रमाण-एक-जून-से-यूआईडी-पोर्टल-से-ही-जारी-होंगे

सागर वॉच @
 भारत सरकार के दिव्यांगजन अधिकारिता विभाग ने 05 मई को गजट अधिसूचना  जारी करके सभी राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के लिए एक जून  से ऑनलाइन मोड में ''दिव्यांगजनों के लिए विशिष्ट पहचान पत्र''
(UDID) पोर्टल के माध्यम से दिव्यांगता प्रमाण पत्र जारी करना अनिवार्य कर दिया है। 

केंद्र सरकार ने 15.06.2017 को आरपीडब्ल्यूडी अधिनियम, 2016 के अंतर्गत दिव्यांगजन अधिकार नियम, 2017 को अधिसूचित किया। नियम 18(5) केंद्र सरकार को ऑनलाइन मोड में राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के लिए दिव्यांगता प्रमाण पत्र जारी करना अनिवार्य बनाने के लिए तिथि निर्धारित करने का अधिकार प्रदान करता है। 


Also Read: 18+Vaccination Drive- Get yourself Registered Before getting Vaccine Shot


केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री की अध्यक्षता में केंद्रीय परामर्श बोर्ड ने 26 नवम्बर .2020 को अपनी अंतिम बैठक में इस विषय पर विचार किया और 01 अप्रैल .2021 से ऑनलाइन दिव्यांगता प्रमाणीकरण को अनिवार्य बनाने की सिफारिश की। लेकिन मार्च-अप्रैल 2021 के दौरान कुछ राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में चुनाव को देखते हुए ऑनलाइन प्रमाणीकरण को अब 01जून 2021 से अनिवार्य कर दिया गया है। राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के स्वास्थ्य तथा दिव्यांगता मामलों से जुड़े विभागों को इस अधिसूचना के परिपालन को सुनिश्चित करने के लिए शीघ्र कदम उठाने की सलाह दी गई है।   

Also Read: Covid To Cowin-After recovery no hard work for at least six month

''दिव्यांगजनों के लिए विशिष्ट पहचान पत्र'' (UDID) परियोजना 2016 से लागू है। सभी राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के अधिकारियों को यूडीआईडी पोर्टल  पर काम करने के लिए दिव्यांगजन विभाग द्वारा प्रशिक्षण दिया गया है। राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों को ऑनलाइन मोड में बदलने के लिए पर्याप्त समय दिया गया है। इससे दिव्यांगता प्रमाणीकरण का संपूर्ण डिजिटीकरण सुनिश्चित होगा। इसके अतिरिक्त संपूर्ण भारत वैधता प्राप्त करने के लिए प्रमाण पत्र की प्रामाणिकता की दोबारा जांच तथा दिव्यांगजन के लाभ के लिए प्रक्रिया की ठोस व्यवस्था हो सकेगी।

Also Read: Sweepers-Unsung Heroes of Fearsome Covid Era

Smart-City-Board-Of-Directors'-Meet-ननि-स्टेडियम-में-बनेगा-एकीकृत-खेल-परिसर

सागर वॉच । 
सागर स्मार्ट सिटी लिमिटेड कार्यालय में निदेशक मंडल की 20वीं बैठक जिला कलेक्टर सह अध्यक्ष सागर स्मार्ट सिटी लिमिटेड दीपक सिंह की अध्यक्षता में संपन्न हुई। आभासी बैठक में सागर स्मार्ट सिटी लिमिटेड द्वारा शहर की  विकास परियोजनाओं की समीक्षा कर उन्हें  सैद्धांतिक स्वीकृति प्रदान की गई । 



बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स की बैठक में इन एजेंडे पर हुआ विचार 

# शहर के परकोटा मार्ग  के यातायात दबाव को  कम के लिए  परियोजना लेक साइड एलिवेटेड कॉरिडोर (चकराघाट से तीन माड़िया तक) के  निर्माण को  स्वीकृति दी गई।  
 
# नगर निगम स्टेडियम में भू-परिक्षण हो चूका है  खेल परिसर मैदान एवं नगर निगम स्टेडियम में प्रस्तावित  एकीकृत खेल परिसर का कार्य  प्रारंभ कराया जायेगा । 


# कोरोना काल  में शवदाह के लिए लकड़ी बढती मांग  को देखते हुए शहर में पांच नए विद्युत् शवदाह बनाये ल्बनाये जायेंगे । जिनमे से 4 शवदाह चार अलग -अलग मुक्तिधामों में शुरू होंगे जबकि मोतीनगर मुक्तिधाम में एक और विद्युत् शवदाह बनेगा । कोरोना काल के चलते शहर में शवों को सुरक्षित मुक्तिधाम तक पहुंचाने व अन्य दूरस्थ स्थलों से लाने-लेजाने हेतु शव वाहनों की आवश्यकता को देखते हुए प्रशीतक  युक्त 2 शववाहन क्रय करने की स्वीकृति दी गई।

#  अटल पार्क  में लाइट एवं साउंड शो सर्विस शुरू होगा ।   

शहर को पर्यावरणीय रूप से समृद्ध बनाने के लिए विभिन्न जगहों पर बढ़ी संख्या में  औषधीय व  फलदार पौधों व वृक्ष लगाये जायेंगे । 

स्मार्ट पोल प्रोजेक्ट, पब्लिक बाइक शेयरिंग सिस्टम, आई टी इनेविल्ड फायर फाइटिंग सिस्टम, पब्लिक लाइब्रेरी, रैनबसेरा, वूमन हाॅस्टल भी बनाये जायेंगे । 


 बैठक में जिला कलेक्टर सह अध्यक्ष  दीपक सिंह, नगरपालिक निगम आयुक्त सह कार्यकारी निदेशक आर. पी. अहिरवार, अन्य निदेशकों में नरेन्द्र वशिष्ठ(MoHUA, Delhi), स्वतंत्र निदेशक  नबरून भट्टाचार्यजी, मुख्य अभियंता के एल वर्मा, अधीक्षण यंत्री UADD जी एस सलूजा, अधीक्षण यंत्री पब्लिक हेल्थ डिपार्टमेंट सागर राजेंद्र सिंह ठाकुर, सागर स्मार्ट सिटी के मुख्य कार्यपालन अधिकारी राहुल सिंह राजपूत, सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे ।

 Read In English

18+Vaccination-Drive--वैक्सीन-लगवाने-से-पहले-जरूरी-है-कोविन-के-वेबसाइट-पर-पंजीयन

सागर वॉच @
मप्र में बुधवार ५ मई से 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को कोविड-19  का टीका लगाया जाएगा। टीका लगवाने के लिए हितग्राही को पहले कोविन की वेबसाईट या आरोग्य सेतु एप पर पंजीयन कराना होगा ।

जिला टीकाकरण अधिकारी डाॅ. आर.एस.रोशन ने बताया कि 18 वर्ष अधिक उम्र के लोगों को वैक्सीन लगवाने के लिए सर्वप्रथम स्वयं को कोविन पोर्टल पर जाकर पंजीयन कराना होगा ।

Also Read: Covid To Cowin-After recovery no hard work for at least six month

वेबसाइट पर पहुंचकर सबसे पहले आपको अपना मोबाईल नंबर दर्ज करना होगा और  ओटीपी भेजें  पर क्लिक करना होगा।  मोबाईल नंबर पर ओटीपी का  सन्देश आते ही उसे  तत्काल निर्धारित जगह पर भरकर भेज दें । ओटीपी भेजते ही  नया पेज खुलेगा यहाँ आपको अपनी व्यक्तिगत जानकारी भरनी  है कोई एक विकल्प चुनकर आईडी नंबर डालना है फिर नाम, लिंग , जन्मतिथि भरनी होगी।

इसके बाद अपने नजदीकी कोविड वैक्सीनेशन सेंटर चुनने का विकल्प आयेगा केंद्र  चुनने के बाद आप अपनी सुविधा अनुसार उलब्ध स्लाॅट चुन सकते है जब आपका नंबर आये तो वैक्सीन लगवाये साथ में आवश्यक दस्तावेजों के रूप में आधार कार्ड अथवा कोई भी शासकीय पहचान पत्र साथ ले जाएँ  ।

 सागर में 18 वर्ष से ऊपर के हितग्राही जिनका रजिस्ट्रेशन हो गया है वह 5 मई 21 से शासकीय एमएलबी स्कूल क्रमांक-1 बस स्टेण्ड के पास सागर में कोविड वैक्सीन का टीका लगवा सकते है । दूसरे  डोज के लिए पुनः पंजीयन करा कर टीकाकरण सत्र स्थल पर जाना होगा  ।

Also Read: Get Covid-19 Test Report Online-मप्र में कोरोना टेस्ट की रपट मिलेगी घर बैठे

वरिष्ठ नागरिक जो अपना पंजीयन स्वयं नहीं कर सकते वह जनसुविधा केन्द्र या काॅमन सर्विस सेंटर पर जाकर भी अपना पंजीयन करा सकते है । एवं टीकाकरण सत्र स्थल पर भी पंजीयन करा सकते है।

कोविड-19 का टीका पूर्ण सुरक्षित है इसे खुद भी लगवायें और परिवार के सदस्यों व अन्य परिचितों को भी टीकाकरण के लिए  प्रेरित करें । कोविड-19 का टीका लगवाने के बाद टीकाकरण केन्द्र पर  30 मिनिट रुकें । खाली पेट टीकाकरण करने न जाएँ । सभी नागरिकों से अपेक्षा है कि  वो कोविड - 19 गाईड लाईन का पालन  करें।

Also Read: Sweepers-Unsung Heroes of Fearsome Covid Era

Get-Covid-19-Test-Report-Online-मप्र-के-नगरिकों-कोरोना-टेस्ट-के-रपट-मिलेगी-घर-बैठे

सागर वॉच @
मप्र में कोरोना की जांच करने वालों के लिए यह बड़ी राहत देने वाली खबर हैं ।  कोरोना की जांच का नतीजा जाने के उन्हें कहीं नहीं भटकना पड़ेगा बल्कि नतीजा घर बैठे ही पता चल जायेगा   कोविड-19 संबंधित आरटीपीसीआर टेस्ट का परिणाम ऑनलाइन देखा जा सकेगा

Also Read: Covid Care Center- सागर के हर विकासखंड में शुरू होगा-कलेक्टर

नागरिकों के कोविड संबंधित आरटीपीसीआर टेस्ट का परिणाम जानने हेतु मध्यप्रदेश शासन द्वारा ऑनलाइन सुविधा प्रारंभ की गई है। Corona Test Result लिंक पर क्लिक करके यह जानकारी प्राप्त की जा सकती है।
नागरिक अपना मोबाइल नं (जो सैम्पल देते समय परीक्षण लैब/ सैम्पल संग्रहण केन्द्र को दिया गया है) एवं परीक्षण लैब, आईसीएएमआर पोर्टल से प्राप्त एसआरएफ आईडी की प्रविष्टि कर अपने सैम्पल का परिणाम प्राप्त कर सकते हैं।

 Read In English -English   
Congratulation-सागर-ने-जीता-दीनदयाल-उपाध्याय-पंचायत-सशक्तीकरण-पुरस्कार

सागर वॉच @
प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी  ने  देशभर से  उत्कृष्ट  पंचायतों  की प्रतिस्पर्धा में  भाग लेने वालीं  74000 पंचायतों  में  से  पुरस्कार के लिए चुनी गयीं 313 पंचायतों  को   पुरस्कार  कि राशि  वर्चुअल  बटन दबाकर ट्रांसफर की।  

इसी  प्रतिस्पर्धा में सागर    जिला पंचायत को उत्कृष्ट कार्य हेतु पं. दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरूस्कार के साथ 50 लाख की राशि सीधे  प्राप्त हुयी । 

पुरूस्कार प्राप्त करने के लिये सागर जिला मुख्यालय पर जिला पंचायत की अध्यक्ष  दिव्या अशोक सिंह बामोरा, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत डाॅ. इच्छित गढ़पाले , अशोक  सिंह बामोरा,   जय गुप्ता जिला तकनीकी विशेषज्ञ उपस्थित रहे।

Also Read: Real Life Hero-Woman doctor travel 180 km from scooty to do Covid duty

 गौरतलब है कि पंचायतीराज दिवस 24 अप्रैल को भारत सरकार द्वारा 5 श्रेणियों में पुरूस्कार ग्राम पंचायतों, जिला पंचायतों को प्रोत्साहन हेतु प्रतिवर्ष दिये जाते है। जिसमें पं. दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरूस्कार, जीपीडीपी पुरूस्कार, बाल हितैषी पंचायत पुरूस्कारी, नानाजी देशमुख पंचायत सशक्तिकरण पुरूस्कारी, ई पंचायत पुरूस्कार की ये पांच श्रेणियों में उनके कार्यो के मूल्यांकन के आधार पर होता है।

वर्चुअल कार्यक्रम में केन्द्रीय पंचायतीराज मंत्री  नरेन्द्र सिंह तोमर, माननीय मुख्यमंत्री म.प्र. शासन एवं समस्त राज्यों के माननीय मुख्यमंत्री की मौजूदगी में संपन्न हुआ। कार्यक्रम संपूर्ण भारत से लगभग 5 करोड़ लोगों ने ऑनलाइन देखा। पुरूस्कार प्राप्त होने परं कलेक्टर  दीपक सिंह जिला पंचायत की अध्यक्ष  दिव्या अशोक  सिंह एवं मुख्य कार्यपालन अधिकरी जिला पंचायत डाॅ. इच्छित गढ़पाले द्वारा पंचायतीराज के जिले के समस्त जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारी कर्मचारियों को दी बधाई।

Also Read: Top-officials-took-immediate-steps-to-tighten-BMC-Management

Covid-Care-Center-सागर-के-हर-विकासखंड-में-शुरू --होगा-कलेक्टर

सागर वॉच ।
समाचार संक्षेप 

 तीन माह का राशन मुफ्त

राज्य शासन  कोविड संक्रमण के दौर में गरीबों को तीन माह का राशन मुफ्त देगा। यह राशन पात्र हितग्राहियों को राशन की उचित मूल्य की दुकानों से बिना बायोमीट्रिक सत्यापन के मिलेगा।

प्रमुख सचिव, खाद्य फैज अहमद किदवई के मुताबिक कोरोना संक्रमण के दौर में भौतिक दूरियों को बरकरार रखने के चलते यह राशन अपैल, मई व जून माह के लिए बांटा जा रहा है।

इसी सिलसिले में वृद्ध व निःशक्त जनों को भी आशीर्वाद योजना के तहत मुफ्त राशन दिया जाएगा। यह राशन सीधे उनके घर तक पहुंचाया जाएगा।

मुफ्त राशन वितरण के दौरान उचित मूल्य की दुकानों पर भीड़ न लगे इस लिहाज से दुकानों के खुले रहने की समय बढ़ाया जा रहा है। वितरण व्यवस्था में किसी भी तरह की गड़बड़ी की शिकायत मिलने पर दोषी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Also Read: बीएमसी-को -बनायें-पूर्णत-कोविड-अस्पताल-केंद्रीय-संस्कृति-मंत्री

कार्यभार गृहण

किशोर न्याय मंडल व बाल कल्याण समिति के नए चुने गए सदस्यों ने सोमवार को अपना कार्यभार गृहण किया।इस मौके पर जिले की बाल संरक्षण व महिला बाल विकास अधिकारी ने किशोर न्याय मंडल की अशासकीय सदस्यों-वंदना तोमर व मंजूमाला सिंह और बाल कल्याण समिति के सदस्यों-आनंद मोहन नायक, अमित अग्रवाल, चंद्र प्रकाश शुक्ला व स्वाति राय को बधाई व उनके कार्यों के बारे में जानकारी दी।

कोविड हेल्प डेस्क

बुंदेलखंड चिकित्सा महाविद्यालय में कोरोना संक्रमण के मरीजों व उनके परिजानों की मदद के लिए हेल्प डेस्क बनाई गयी है। नगर विधायक की प्रयासों से बीएमसी परिसर में शुरू हुई यह हेल्प डेस्क कोविड अस्पताल में ईलाज ले रहे मरीजों व उनके परिजनों की समस्याओं का मौके पर ही निराकरण करने का प्रयास करेगी। जरूरत मंद हेल्प डेस्क के लिए निर्धारित किए गए किसी भी फोन नं को लगा कर मदद मांग सकते हैं।

Also Read: MLA visited Covid ICU to know the patients condition

कोविड हेल्प डेस्क के फोन नं-07582-242831, टोल फ्री नं-1075

मोबाईल नं- 09329462324, 09329475494

कोविड देखभार केन्द्र खुलेंगे

प्रदेश के मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैस ने सोमवार को प्रदेश के सात जिलों के जिलाधीशों से कोरोना संक्रमण के प्रबंधन को लेकर वीडियो कांफ्रेंस की। बैठक में सागर जिले के कलेक्टर ने बताया कि जिले के सभी विकासखंडों में सौ बिस्तरों का कोविड देखभाल केन्द्र शुरू किए जा रहे हैं।


 District-Admin-Fix-Rate-For-Oxygen-वेंटीलेटर-सहित-हाईफ्लो-ऑक्सीजन -मिलेगी -₹300 -प्रति-घंटे-में

सागर वॉच ।
 कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या को देखते हुए कलेक्टर दीपक सिंह के निर्देश पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ इच्छित गढ़पाले ने सागर के निजी चिकित्सालय के डॉक्टरों की बैठक बुलाकर ऑक्सीजन की कीमतें तय की गई।

Also Read: सरकार का मुंह न ताकें खुद एहतियात बरतें कुलांचे भरते कोरोना संक्रमण से बचने

डॉक्टर गढ़पाले ने बताया कि निजी चिकित्सालयों के डॉक्टरों द्वारा आपस में समन्वय बनाकर आखिर इनकी कीमतें को प्रति घंटे के हिसाब से निश्चित किया गया है। जिसमें लो फ्लो ऑक्सीजन प्रति घंटे के हिसाब से डेढ़ सौ रुपए एवं वेंटीलेटर सहित हाईफ्लो ऑक्सीजन प्रति घंटे के हिसाब से ₹300 के हिसाब से प्रदान की जाएगी ।

Also Read: बीएमसी-को -बनायें-पूर्णत-कोविड-अस्पताल-केंद्रीय-संस्कृति-मंत्री

डॉ गढ़पाले के मुताबिक एक बार कीमतें तय हो जाने से कोरोना संक्रमित मरीजों को अब निश्चित कीमतों पर सभी निजी चिकित्सालय में ऑक्सीजन मिल सकेगी ।

 Biggest ever surge in Corona-Positve-Cases- माह-के-पहले-पखवाड़े-में-ही-डेढ़-हजार-से-ज्यादा-कोरोना-पॉजिटिव-मामले-सामने

सागर वॉच ।
  सागर में आज  कोरोना संक्रमण के 278 नए मामले सामने आए, यह जिले में अब तक किसी एक दिन सामने आने वाले कोरोना पॉजिटिव मामलों की सबसे बड़ी संख्या है। जिले में अप्कोरैल माह के पहले 15 दिनों में   1507 कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आये हैं । करोना  संक्रमण के फैलाव के गति को देखते हुए  जिला प्रशासन ने गुरुवार  से ही २१  अप्रैल तक के लिए कोरोना कर्फ्यू प्रभावी करने के आदेश जारी कर दिए ।

Also Read: सरकार का मुंह न ताकें खुद एहतियात बरतें कुलांचे भरते कोरोना संक्रमण से बचने

बुंदेलखंड चिकित्सा  महाविद्यालय की विषाणु प्रयोगशाला से प्राप्त अधिकृत जानकारी के मुताबिक जिले   में अब तक सामने आए कोरोना पॉजिटिव मरीजों की कुल  संख्या तक 7731 है जबकि स्वस्थ हुए मरीजों की कुल  संख्या 6235 है। जिले में कोरोना बीमारी से मरने वालों की कुल संख्या 163 है।  जिले में पिछले 24 घन्टे में   कोरोना मर्ज से तीन लोगों की मौत हुई है। जिले में वर्तमान में कोरोना संक्रमण  के सक्रिय मामले 1535 हैं। जिले में आज 15 अप्रैल, रात दस बजे से 21 अप्रैल सुबह 6 बजे तक के लिए कोरोना कर्फ्यू लगाने का आदेश भी जारी हो गया है।

Also Read: बीएमसी को बनायें पूर्णतः कोविड अस्पताल - केंद्रीय संस्कृति मंत्री

 कोरोना संक्रमण के फैलाव कि रफ़्तार सागर संभाग के सभी छः जिलों में काफी तेज है । गुरुवार को छतरपुर में भी कोरोना संक्रमण के  157 नए मामले सामने आये ,जबकि दमोह में 128 कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आये ।

Summer-Vacations- अशासकीय-विद्यालयों-में-तीस-अप्रैल-तक-नहीं-होगा-भौतिक-कक्षाओं-का-संचालन

सागर वॉच । 
स्कूल शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार) एवं सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री  इन्दर सिंह परमार ने बताया कि प्रदेश में कक्षा पहली से आठवीं तक के शासकीय एवं अनुदान प्राप्त समस्त विद्यालयों के लिए 15 अप्रैल से 13 जून 2021 तक ग्रीष्मकालीन अवकाश घोषित किया गया है। इसके साथ ही अशासकीय विद्यालयों में कक्षा पहली से आठवीं तक की कक्षाओं का भौतिक संचालन 30 अप्रैल 2021 तक नहीं किया जाएगा। 

इन कक्षाओं का ऑनलाइन शिक्षण कार्य जारी रह सकेगा। श्री परमार ने बताया कि प्रदेश में सभी शासकीय एवं अशासकीय छात्रावासों को तत्काल प्रभाव से बंद किया गया है। श्री परमार ने कहा कि वर्तमान कोरोना महामारी की परिस्थिति और विद्यालयीन छात्रों की सुरक्षा एवं स्वास्थ्य को दृष्टिगत रखते हुए यह निर्णय लिया गया है। 

Also Read: During Lockdown education structure collapsed badly- Nagwani

स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा इस संबंध सभी जिला कलेक्टर, जिला शिक्षा अधिकारी, जिला परियोजना समन्वयक एवं प्राचार्य को दिशा-निर्देश जारी किए गए है। कक्षा पहली से आठवीं तक की शालाओं में कार्यरत सभी शासकीय शिक्षक ग्रीष्मकालीन अवकाश के दौरान बोर्ड परीक्षाओं के पूर्ण होने तक मुख्यालय नहीं छोड़ेंगे।

 बोर्ड परीक्षा के दौरान पर्यवेक्षण या अन्य शासकीय कार्य के लिए ड्यूटी लगाए जाने पर आवश्यक रूप से उपस्थित होंगे। जारी निर्देशों में स्पष्ट किया गया है कि बोर्ड परीक्षाएँ संबंधित बोर्ड, माध्यमिक शिक्षा मंडल, सीबीएसई, आईसीएसई इत्यादि के निर्देश के अनुसार ही आयोजित होंगी।

Kahi-Ankahi-सरकार-का-मुंह-न-ताकें-खुद-एहतियात -बरतें-कुलांचे-भरते-कोरोना-संक्रमण-से-बचने

कही-अनकही 

कोरोना संक्रमण अब कुलांचे भरने लगा है। प्रदेश के लगभग सभी जिलों में रोज कोरोना पाजिटिव आने वाले मरीजों की संख्या  100 के आंकड़ें पार करती नजर आ रही है।

अकेले सागर जिले में ही कोरोना जो तेवर दिखा रहा है उसको देखते हुए लगता है कि अप्रैल  महीने के पहले पखवाड़े के खत्म होने के पहले ही कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा हजार को पार कर जाएगा।

ऐसा नहीं है  कि जिले में कोविड के जाल में सिर्फ आम नागरिक ही फंस रहे हों। मंत्री, संत्री, अफसर, व्यापारी व चिकित्सक तक इसके शिकंजे में फंसते नजर आ रहे हैं।

Also Read : Smart city-School of Learning by Doing Mistakes

राज्य सरकार, प्रशासन और समाज सेवी संगठन लोगों को कोरोना से बचने के लिए मास्क पहनने, मेल-मिलाप में दो गज की दूरी बनाए रखने व बेहद जरूरी होने पर ही घर से बाहर निकलने के संदेश देने में लगे हुए हैं।

लोग बहुत हद तक इन निर्देशों को मान भी रहे हैं। लेकिन पड़ोस के जिले मे चुनावी माहौल के चलते राजनैतिक दलों खासकर -सत्ताधारी दल कोविड से बचने के ऐहतियाती कदमों को नजरंदाज करने के आरोपों से घिरे हुए हैं।

प्रदेश में बेलगाम सा हो रहा कोरोना संक्रमण के फैलाव के लिए प्रबंधन भी पहले की अपेक्षा कम चुस्त दिख रहा है। कोरोना उपचार की आड़ में अकूत संपत्ति बटोरने की हवस से निजी चिकित्सा संस्थानों के लिप्त होने के आरोपों का दौर भी आए दिन जोर पकड़ता दिख रहा है। 

Also Read: During Lockdown education structure collapsed badly- Nagwani

कोरोना उपचार के लिए जरूरी उपकरणों की खरीद व नमूनों की जांच में कमीशनखोरी व दवाओं की पैदा हुई किल्लत को भी कृत्रिम बताने के आरोपों में आ रही  तल्खी भी आम जनता महसूस करने लगी है।

कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने में सरकार की कथित ढिलाई के चलते आम जनता में यह चर्चा जोर पकड़ चुकी है कि चुनावों की प्रक्रिया पूरी नहीं होने तक सरकारें कोरोना नियंत्रण के लिए उतनी गंभीर शायद ही हों जैसी की जनता उनसे उम्मीद कर रही है।

अब वक्त आ गया है कि कोरोना के संक्रमण से बचाव के लिए आम लोगों को सरकार का मुंह ताकते रहने की जरूरत नहीं है। प्रदेश के हर नागरिक को अपने स्तर पर ही जितना अधिक हो सके उतना ऐहतियात बरतना चाहिए।

Also Read: Vigilance Trap- Patwari taking bribe nabbed in Panna

 समाचार संक्षेप 

News-In-Short-बीएमसी-को -बनायें-पूर्णत-कोविड-अस्पताल-केंद्रीय-संस्कृति-मंत्री

सागर वॉच ।
 
कोरोना संक्रमण तेजी से पैर पसार रहा है। राज्य सरकार व प्रशासन भी बैठकों के जरिए बेहद चैकस होने का संदेश आए दिन जनता को दे रहा है। 

रविवार को आपदा प्रबंधन समिति की बैठक हुई। बैठक में जिसमें केन्द्रीय संस्कृति मंत्री प्रहलाद पटेल व मप्र के नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह ने भी आभासी माध्यम से (वर्चुअल मीटिंग) के जरिए शिरकत की।

बैठक में केन्द्रीय मंत्री पटेल ने बेकाबू होते कोरोना संक्रमण को थामने के लिए कई निर्देश दिए। उन्होंने बुंदेलखंड चिकित्सा महाविद्यालय को पूरी तरह कोविड अस्पताल में तब्दील करने के लिए कहा। साथ ही निजी क्षेत्र की सहभागिता बढ़ाकर एक से ज्यादा कोविड उपचार केन्द्र खोलने के लिए भी कहा।

Also Read: Smart city-School of Learning by Doing Mistakes

वहीं प्रदेश के नगरीय विकास एवं आवास मंत्री सिंह ने लाॅकडाउन का सख्ती से पालन कराने, कोविड दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करने वालों के लिए जिला स्तर पर खोली गई खुली जेल को खंड स्तर पर भी शुरू करने के निर्देश दिए।

उन्होंने कोविड नमूनों की जांच तय समय सीमा में किए जाने पर जोर देते हुए कहा कि लोगों को के नमूने की जांच के नतीजे 24 घंटें के अंदर दिए जाएं।

इसी बैठक के जरिए जिला कलेक्टर ने भी जिले के निजी अस्पतालों को कोविड के उपचार के सिलसिले में निर्देश जारी किए। कलेक्टर ने कहा कि राज्य शासन द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के मुताबिक तय इलाज की कीमतों को निजी अस्पताल प्रवेश द्वारा पर ही प्रदर्शित करें।

Also Read: During Lockdown education structure collapsed badly- Nagwani

कोविड संक्रमण 

सागर जिले में रविवार को कोविड संक्रमण के संदिग्ध मरीजों में से 165 मरीज पाजिटिव आए। यह संख्या अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा बताया जा रहा है।

टीकाकरण

मप्र के नगरीय विकास मंत्री ने रविवार से शुरू हुए टिकाकारण उत्सव के सिलसिले में जिला प्रशासन को 45 साला से अधिक आयु वाले सभी पात्र लोगों का सौ फीसदी टीकाकरण किए जाने के निर्देश दिए। वहीं कांग्रेस पार्टी के अनुषंगी संगठन सेवादल ने चमेली चैक स्थित कोविड टीकाकरण केन्द्र पर व्यवस्थाओं को संभालने की जिम्मेदारी ली।  

सेवादल के जिला अध्यक्ष शिंटू कटारे ने सागर वाॅच को बताया कि उनके टीम के सदस्य क्षेत्र के बुजुर्ग लोंगों को घरों से टीकाकरण केन्द्र लाने व टीककारण के उपरांत वापिस घर तक पहुंचाने का काम कर रहे हैं। साथ ही टीकाकरण केन्द्र पर लोगों को मुफ्त मास्क वितरण, व पेयजल आदि का इंतजाम भी कर रहे हैं।

Also Read: Vigilance Trap- Patwari taking bribe nabbed in Panna

Mass-Disconnection-Drive-Will-Start-From-Wednessday-माइक-से-पुकारा-जायेगा-बकायादारों-का-नाम

 सागर वॉच 
 उपभोक्ताओं से बिजली का बकाया बिल भरवाने पर कंपनी की तमाम कवायदों के बेअसर होने के बाद    अब अधिकारी बड़ी कारवाई का मन बना रहे हैं. इस दिशा में  बिजली विभाग ने न केवल     बकायेदारों के कनेक्शन काटने के लिए नयी दल गठित किये हैं बल्कि बकायादारों के  नाम की घोषणा बाकायदा मौके पर ही माइक के माध्यम से करने कि कार्ययोजना बनायी है ।

  नगर संभाग  टीम ने बड़े पैमाने पर बकायादारों कि बिजली विच्छेदन की तैयारी पूरी कर ली है. नगर संभाग सागर में बुधवार को बिजली विभाग की टीमों ने पूरे शहर में बकायादारों के कनेक्शन पूरे दल बल के साथ काटने की तैयारी शुरू कर दी है. सहायक अभियंता शुभम त्यागी ने बताया कि मास डिस्कनेक्शन अधीक्षण अभियंता वायके सिंघई के नेतृत्व में 5 टीम बना कर जिसमें प्रत्येक टीम में 25 से 30 लोग रहेंगे. जिनके साथ में अधिकारीगण भी टीम की कमान सँभालते हुए सभी बकायादारों के कनेक्शन विछेदित करवाएंगे एवं जिन बकायादारों के कनेक्शन काटे जाएंगे उनका नाम भी स्पीकर के माध्यम से बोला जाएगा.

 कार्यपालन अभियंता एसके सिन्हा ने बताया कि बकायदारों से बिजली विभाग की टीमें पहले की बिजली बिल भर ने के निवेदन के साथ साथ सोमवार को जन जागरण रैली निकाल कर सचेत करने के बाद भी उपभोक्ताओं द्वारा बिल ना भरने के कारण सिटी डिवीज़न के अधिकारियों को अब एक्शन में आना पड़ रहा है. जिसके लिए सिटी डिवीज़न की टीम ने पूरी तैयारी कर ली है. 

बुधवार से पूरे अतिरिक्त स्टाफ के साथ और ज़रूरत पड़ी तो पूरे कार्यालय सहायक के साथ कल कनेक्शन विछेदन की कार्यवाही की जाएँगी. सहायक अभियन्ता शुभम त्यागी ने बताया कि कल टीमें सहायक अभियंता शैलेश सुमन, सहायक अभियंता रोहित सोलंकी, सहायक अभियंता आयुषी जैन के कमांड में तिलकगंज, धर्मश्री, सुभाष नगर में गश्त देंगी. सहायक अभियंता कुंदन कुमार और कनिष्ठ अभियंता शैलेंद्र चौबे के नेतृत्व में मोतीनगर, विट्ठल नगर सदर में, वहीं मकरोनिया में सिविल लाइन जोन इंचार्ज सीमा कोल और सहायक अभियंता कल की कार्यवाही को अंजाम देंगे.

कार्यपालन अभियंता  एस के सिन्हा  ने बताया कि बाकयदारो से बिजली विभाग की टीमें पहले की बिजली बिल भरमे के निवेदन के साथ साथ सोमवार को जन जागरण रैली निकाल कर सचेत करने के बाद भी उओभोक्ता द्वारा बिल ना भरने के कारण सिटी डिवीज़न के अधिकारियो को अब एक्शन में आना पड़ रहा है । जिसके लिए  सिटी डिवीज़न की टीम ने पूरी तैयारी कर ली है। बुधवार से पूरे अतिरिक्त  स्टाफ के साथ और ज़रूरत पड़ी तो पूरे कार्यालय सहायक के साथ कल कनेक्शन विछेदन की कार्यवाही की जाएँगी।

सहायक अभियन्ता शुभम त्यागी ने बताया कि कल टीमें सहायकअभियंता शैलेश सुमन सहायक अभियंता रोहित सोलंकी,सहायक अभियंता आयुषी जैन के कमांड में तिलकगंज,धर्मश्री,सुभाष नगर में गस्त देगी,सहायक अभियंता कुंदन कुमार और कनिष्ठ अभियंता शैलेंद्र चौबे के नेतृत्व में मोतीनगर,विट्ठल नगर सदर में ,वही मकरोनिया में सिविल लाइन जोन इंचार्ज सीमा कोल और सहायक अभियंता cs patel कल की कार्यवाही को अंजाम देंगे। 

कार्यपालन अभियंता सिन्हा के द्वारा दिन में काटे गए कनेक्शन की की रिपोर्ट ली जाएँगीऔर रात में  दल बल के साथ पूरी टीम के साथ में रात में चेक किया जाएगा कि बिना पेमेंट के कोई कनेक्शन न जुड़ा हो । ऐसा पाया जाने पर 138 केस के तहत कार्यवाही उपभोक्ताओं पर की जाएँगी। कनिष्ठ अभियन्ता मीनल पंत ने भीतर बाजार में कार्यवाही करते हुए मीटर की छेड़छाड़ के 3 चोरी के केस भी दर्ज किए है।
Dispute-Sahu-Community-in-Dilema- साहू-समाज-के-एक-गुट -द्वारा-सामुदायिक-भवन-को-हड़पने-की-साजिश

सागर वॉच  ।
श्री देवबांके बिहारी मंदिर साहू समाज ट्रस्ट को लेकर चल रहे विवाद के दौरान कमेटी अध्यक्ष एवं पदाधिकारियों ने कहा कि वे लगातार समाज हित में कार्य करते आ रहे है और आगे भी नियमानुसार न्यायालय के निर्देशों के तहत ही कार्य करेगें. हालाँकि कतिपय लोगों द्वारा समाज को गुमराह करने का प्रयास किया जा रहा है।

पत्रकारों से चर्चा में  ट्रस्ट कमेटी अध्यक्ष जगन्नाथ गुरैया ने कहा कि उन्हें समाज द्वारा ट्रस्ट के विधान अनुसार कराए गए चुनाव के बाद यह पद सौंपा गया था और नियमानुसार 2023 तक वर्तमान ट्रस्ट का कार्यकाल है. लेकिन समाज के ही एक धड़े द्वारा राजनैतिक  दुर्भानावाश  समाज की बैठक के दौरान दबाव बनाया गया. लेकिन एसडीएम कोर्ट ने कथित इस्तीफे में छिपे डर को भांपते हुए हमारी आपत्ति को गंभीरता से लेेकर हितबद्ध पक्षकार माना है.

श्री गुरैया ने कहा कि कतिपय लोगों द्वारा समाज को गुमराह किया जा रहा है. इन्होने शासन की लीज की जगह को नियम विरूद्ध किराए पर देने टेंडर भी बुला लिए. उनके इस कृत्य का ट्रस्ट कमेटी द्वारा विरोध किया गया. इसी के तहत एसडीएम एवं सिटी मजिस्ट्रेट के यहाँ आवेदन दिया गया जिसके बाद ही एसडीएम कार्यालय ने धारा 145 के तहत कार्रवाई की गई है. प्रकरण में प्रशासन द्वारा मोतीनगर थाना पुलिस से भी जाँच करायी थी.

 श्री गुरैया के अनुसार ट्रस्ट कमेटी द्वारा ना तो संरक्षक को पत्र सौंपा गया ना ही कोई चॉबी. चूंकि अब समाज का सामुदायिक भवन बनकर लगभग तैयार हो चुका है, उसपर ही अपना हक जताने यह कथित प्रयास हो रहे है.
ट्रस्ट के व्यवस्थापक ईश्वर लाल साहू ने पिछले सालों की गतिविधियों और अन्य जानकारियों से अवगत कराया। 


उन्होंने कहा कि तत्कालीन अध्यक्ष बीड़ी साहू के निधन के बाद जगन्नाथ गुरैया को अध्यक्ष बनाया गया था। पूरे कार्यकाल में किसी तरह की गड़बड़ियां नही हुई है।  कुछ लोग ट्रस्टी बनकर सामुदायिक भवन पर कब्जा जमाना चाहते है। वर्तमान में मामला न्यायालय में विचाराधीन है। अध्यक्ष का सन 2023 तक कार्यकाल है।  हम अदालत का सम्मान करते है। यहां जो भी निर्णय होगा हम नमाज के हितों के लिए अक्षरशः पालन करेंगे। 


इस मौके पर पधाधिकारी गण रामकुमार साहू, घासीराम राम साहू,  उमाशंकर अशोक साहू, प्रभुदयाल साहू अरविंद साहू ,बिंदु साहू सहित समाज के  अनेक  लोग मौजूद थे । उल्लेखनीय है कि सामुदायिक भवन के कथित विवाद को लेकर साहू समाज के दूसरे पक्ष कमेटी ने दो दिन पहले कुछ मामलों को उठाया था।

 Read In English I Hindi
80th-Foundation-Day-एक-अक्टूबर-को-स्थापित-हुई-थी-महार-रेजिमेंट

सागर वॉच । गुरूवार को महार रेजिमेंट केन्द्र, में  रेजिमेंट के 80 वां  स्थापना दिवस मनाया गया । इस अवसर पर केंद्र के कमाडेंट ब्रिगेडियर अमित बाजपेई ने शहीद स्मारक पर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की।  इसी मौके पर एक स्मारिका का विमोचन भी  हुआ। 

महार रेजिमेंट का है गौरवशाली इतिहास 

महार रेजिमेंट के स्वर्णिम इतिहास की शुरुआत 01 अक्टूबर 1941 को प्रथम बटालियन की स्थापना से हुई । अब तक यह रेजीमेंट 21 नियमित इन्फेंट्री बटालियन, तीन टी. ए. बटालियन, तीन राष्ट्रीय रायफल्स बटालियन और एक टास्क फोर्स बटालियन के साथ विशाल रेजिमेंट के रूप में विकसित हो चुकी है।

                    Also Read: Clerks-running Nagar Palikas in Bundelkhand

शुरुआत में पूर्णतः महार जाति की एक इन्फैंट्री रेजीमेंट के रूप में स्थापित हुई यह रेजिमेंट अब अखिल भारतीय स्वरुप धारण कर चुकी है । इसमें बार्डर स्काउट्स बटालियन की मिश्रित जातियों को शामिल किया गया । 

रेजिमेंट की जवानों ने ओलिंपिक खेलों में किया भारत का प्रतिनिधित्व 

महार रेजिमेंट ने राष्ट्र निर्माण, राहत अभियानों, जागरूकता कार्यक्रमों और खेलकूद में विशेष उपलब्धियां हासिल की हैं ।  रेजीमेंट के कई सैनिकों ने एशियाई खेलों और ओलम्पिक में भारत का प्रतिनिधित्व कर ख्याति प्राप्त    की ।

Also Read: Paste-COVID-19-Treatment-Charges-List-At-The-entrance-DM

उल्लेखनीय है कि 22 वीं महार रेजीमेंट के सूबेदार अमित पंघाल ने हाल ही में राष्ट्र मंडल खेलों, एशियन गेमऔर विश्व मुक्केबाजी चम्पियनशिप में जीत का परचम लहराया ।

Surkhi-By-Election-Govind-Singh-Rajpoot

Read In
English I हिंदी 
सागर वॉच 
। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता व चुनाव आयोग कार्य प्रभारी जेपी धनोपिया ने सोमवार को चुनाव आयोग को जिले की सुरखी कर विधानसभा क्षेत्र के भाजपा प्रत्याशी गोविंद सिंह राजपूत के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है।

धनोपिया ने अपनी शिकायत मे चुनाव आयोग से मांग की है कि मंत्री गोविंद सिंह राजपूत विधायक नहीं हैं । उन्हें महज आगामी  उप-चुनाव में फायदा दिलाने के लिए उपकृत कर के मंत्री बनाया गया है। जहां वे मंत्री पद व शासकीय तंत्र का दुरूपयोग कर रहे हैं। साथ ही मतदाताओं की धार्मिक भावनाओं से खिलवाड़ कर भगवान का नाम लेकर वोट मांग रहे हैं।

चुनाव आयोग मंत्री गोविंद सिंह राजपूत के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर उनके मंत्री से पद से हटाए जाने की कार्रवाई कराए । जिससे सुरखी विधानसभा क्षेत्र मे निष्पक्ष चुनाव के लिए माहौल बन सके।