Articles by "Covid-19"
Covid-19 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

Mega-Vaccination-Drive--पहले-ही-दिन-सागर-में-लक्ष्य-से-ज्यादा-हुआ-टीकाकरण

सागर वॉच @ 
विश्व योग दिवस पर देशव्यापी स्तर पर शुरू हुए महाटीकाकरण अभियान के सागर जिले में अच्छे नतीजे सामने आए हैं। जिले में लक्ष्य से ज्यादा टीकाकरण हुआ है। जिला प्रशासन कोविडरोधी टीकाकरण के महाभियान को सफल बनाने के लिए योजनाबद्ध तरीके से कर रहा है। इसी सिलसिले में जिला पंचायत मुख्यकार्यपालन अधिकारी ने ग्रामीण क्षेत्र में टीकाकरण के लिए बनाए गए 242 टीकाकरण केन्द्रों से 21 जून से 30 जून के बीच लगभग 20 हजार पौधों का वितरण किए जाने के इंतजाम किए हैं।
 
Also Read: तीसरी लहर के सितम्बर-अक्टूबर से शुरू होने की आशंका..!

जिला कलेक्टर  ने टीकाकरण के महाभियान मे लापरवाही बरतने पर शाहपुर व जैसीनगर के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र की दो एएनम चंद्रवती अहिरवार व मीना अहिरवार को निलंबित कर दिया है।वहीं इन्हीें सामुदायिक केन्द्रों के प्रभारी  मुख्य चिकित्सा अधिकारियों क्रमशः आनंद दास शर्मा व डाॅ. एलएस शाक्या को भी कर्तव्यों में लापरवाही के चलते कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

Also Read: सागर में बनेगी बुंदेलखंड की सबसे ऊंची ईमारत

Inaugration-of Covid-19-Hospital-मप्र-में-कोरोना-संक्रमण-की-दर-एक-फीसद- से-नीचे-पहुंची

सागर वॉच।
 भारत सरकार के पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस तथा इस्पात मंत्रालय के कैबिनेट मंत्री  धर्मेन्द्र प्रधान का कहना है कि करोना की दूसरी लहर के चलते  मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान द्वारा जनता के हित में लिए गए निर्णय के कारण मप्र में कोरोना संक्रमण लगातार कम हुआ और कोरोना सक्रमण की दर घटकर  0.46 प्रतिशत रह गयी। वर्तमान में  प्रदेश में ऐसे 24 जिले हैं जहां कोरोना का एक भी प्रकरण नहीं हैं।


मुख्यमंत्री चौहान के ऐसे ही सूझ-बूझ भरे फैसलों में से एक सागर के बीना में भी भारत ओमान रिफ़ाइनरी के पास 200 बिस्तरों का ऑक्सीजन युक्त अस्थाई कोविड अस्पताल है।यह अत्यंत कम समय में विकिसित की गई सर्व सुविधायुक्त मेडिकल सुविधा का बेहतरीन उदाहरण है।

शनिवार को भारत सरकार के पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस तथा इस्पात मंत्रालय के कैबिनेट मंत्री  धर्मेन्द्र प्रधान ने  मुख्या मंत्री की उपस्थिति में अस्थाई कोविड अस्पताल का लोकार्पण एवं ऑक्सीजन बॉटलिंग एवं रीफ़िलिंग प्लांट का शिलान्यास किया।


भगवान करे इस हॉस्पिटल की जरूरत ही न पड़ें

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि, ईश्वर से प्रार्थना है कि, इस अस्पताल की आवश्यकता कभी ना पड़े परंतु , इस अस्पताल का निर्माण सावधानी के तौर पर किया गया है। भविष्य में संभावित तीसरी लहर की तैयारी के रूप में इस अस्पताल में समस्त सुविधाएँ स्थापित की गई हैं। हमारा प्रयास है कि, आपदा प्रबंधन कमेटी की सक्रियता और जनता के सहयोग से तीसरी लहर को रोका जा सकेगा।
उन्होंने कहा कि, कोरोना वायरस  वेरिएंट बदलता रहता है। दूसरी लहर के वक़्त हम सभी ने ख़तरनाक संक्रमण का सामना किया। अतः भविष्य की किसी भी आशंका  को न नकारते हुए  समस्त आवश्यक व्यवस्थाएँ सुनिश्चित की जा रही हैं।


इस क्रम में बीना रिफ़ाइनरी के सहयोग से ऑक्सीजन भरण  एवं पुनर्भरण  संयंत्र  का निर्माण किया जा रहा है। जिससे कोरोना संक्रमण के इलाज के लिए आवश्यक ऑक्सीजन उपलब्ध हो सकेगी साथ ही मप्र  ऑक्सीजन के मामले में आत्मनिर्भर होगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि, इतने कम समय में इस अस्पताल का निर्माण संभव हो पाया क्योंकि, प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी एवं भारत सरकार के पेट्रोलियम मंत्री श्री धर्मेंद प्रधान ने इस संपूर्ण कार्य में भरपूर सहयोग दिया। पूर्व में श्री प्रधान इस अस्पताल का निरीक्षण करने आए थे और आज लोकार्पण के अवसर पर भी यहाँ मौजूद हैं।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि, मध्य प्रदेश में करोना संक्रमण अब नियंत्रण में है। 12 जून की स्थिति में सागर में तीन और पूरे बुन्देलखंड में 15 प्रकरण हैं। परंतु हमें न ही निश्चिंत होना है और न ही सावधानियाँ छोड़नी हैं। बल्कि, लगातार कोविड संक्रमण रोकने सम्मत व्यवहार अपनाना है। जिसमें मास्क लगाना, सेनेटाईजर अथवा साबुन का इस्तेमाल करना, भीड़ एकत्रित न करना तथा अत्यावश्यक रूप से वैक्सीनेशन कराना शामिल है।


मुख्यमंत्री  चौहान ने कहा कि, यह समय संयम एवं धैर्य का परिचय देने का है। फ़िलहाल किसी भी प्रकार के बड़े आयोजन नहीं किए जा सकेंगे। शादी, धार्मिक अनुष्ठान अथवा किसी भी प्रकार के बड़े कार्यक्रम आयोजित नहीं किए जा सकेंगे। लापरवाही और ढिलाई के चलते ही संक्रमण बढ़ता है, आतः संक्रमण रोकने में संयम और सावधानियाँ ही काम आएँगी।


संक्रमण को रोकने के तीन उपाय

मुख्यमंत्री चौहान ने कोरोना संक्रमण को रोकने के तीन उपाय बताए। जिसमें सरकार, जनता एवं आपदा प्रबंधन समिति  का सक्रिय सहयोग शामिल है। उन्होंने बताया कि, शासन द्वारा प्रतिदिन 80 हज़ार टेस्ट कराने का। लक्ष्य निर्धारित किया गया है। कोरोना जांच के बाद संक्रमित और संदिग्ध व्यक्तियों को तत्काल कोविड देखभाल केंद्र  में  संगरोध  किया जा रहा है। इसी प्रकार किल कोरोना अभियान, द्वार-द्वार सर्वेक्षण  एवं बुखार   क्लीनिक के माध्यम से भी संक्रमण पर नियंत्रण बना हुआ है।

Kill-Corona-Campaign- निगम-इलाके-में-दस-दिनों-में-आधे-वार्ड-कोरोना-मुक्त-हुए

सागर वॉच । 
नगर निगम क्षेत्र में पिछले 10 दिनों में 48 वार्डो में से 24 वार्ड ऐसे है जिनमें एक भी सक्रिय प्रकरण नहीं है और ये सभी वार्ड हरित प्रक्षेत्र में शामिल हो गये है जबकि 24 वार्ड ऐसे है जो भी पीले प्रक्षेत्र में  उनमें 10 से कम सक्रिय मामले हैं । इस प्रकार मौजूदा स्थिति में नगर निगम के इन 24 वार्डो में कुल 40 सक्रिय प्रकरण् शेष बचे है।

इन 24 वार्ड जिनमें सक्रिय प्रकरण है उनमें 

तिली वार्ड में 6, बाघराज वार्ड में 4, मधुकरशाह वार्ड में 3, सिविल लाईन में 3 

तथा 

विठ्ठलनगर वार्ड, रविशंकर  वार्डगोपालगंज वार्ड और शिवाजीनगर वार्ड में दो-दो 

Also Read: नेस्ले कंपनी ने खुद माना मैगी नूडल्स सेहत के लिए ठीक नहीं

तिलकगंजवार्ड, शास्त्री वार्ड, गौरनगर, शनिचरी, परकोटा, गुरूगोविंदसिंह,सुभाषनगर,तुलसीनगर,संतरविदास, मोतीनगर, जवाहरगंज, नरयावली नाका, लक्ष्मीपुरा, पंतनगर, अम्बेडकर, काकागंज में एक-एक सक्रिय है।

कलेक्टर दीपकसिंह एवं नगर निगम आयुक्त आर.पी.अहिरवार के संयुक्त प्रयासों से पूर्व में हॉट स्पॉट बने वार्ड भी अब कोरोना से मुक्त हो गए हैं   इन वार्डो में संक्रमण रोकने के उपाय किये गये और जो लोग संक्रमित थे उन्हें तत्काल उपचार दिया गया इस कार्य में नगर निगम द्वारा बनाये गये कोविड फीवर क्लीनिक, घर-घर जांच और दवा वितरण, सैंपलिंग एवं कोविड सहायता केन्द्र बनाये जिससे नागरिकों की प्रारंभ में ही जांच हो गई और लक्षण पाये जाने पर उन्हें कोविड केयर सेंटर में भर्ती किया गया और उनके निवास के पूरे क्षेत्र में कंटेनमेंट क्षेत्र बनाया गया ताकि बाहर और अंदर आने जाने वालों को रोक दिया गया जिससे संक्रमण आगे नहीं बढ़ गया।

Also Read: तीसरी लहर के सितम्बर-अक्टूबर से शुरू होने की आशंका..!

ग्रीन जोनों के वार्डो पर नजर डाले तो पिछले 10 दिनों की स्थिति में निगम के 24 वार्ड ग्रीन जोन में शामिल हो गये हैं । जिनमें प्रकरणों की संख्या शून्य है जबकि यह वार्ड शहर की घनी आबादी वाले और विशेषकर व्यवसायिक क्षेत्र है लेकिन वह ग्रीन जोन में है  शेष बचे वार्ड भी जल्दी ही ग्रीन जोन में आ जायेगे।

MEDIA WATCH @खबरें ज़माने भर कीं 

Sagar Watch@ 05 June 2021

Media-Watch-तीसरी-लहर-के-सितम्बर-अक्टूबर-से-शुरू-होने-की-आशंका

जी न्यूज़
 ने भारत के महामारी विशेषज्ञों के हवाले से अपनी खबर से संकेत दिए हैं कि कोविड-19 की तीसरी लहर अपरिहार्य है, और इसके सितम्बर-अक्टूबर से शुरू होने की आशंका है. इसलिए देश को अधिक से अधिक लोगों का टीकाकरण करना चाहिए। खबर कहती है कि कोविड-19 की दूसरी लहर का अच्छी तरह सामना किया और यह उसी का परिणाम है कि संक्रमण के नए मामले काफी कम हो रहे हैं। खबर में  इस बात पर भी जोर दिया कि तीसरी लहर से निपटने के लिए भी तैयारियां पूरी होनी चाहिए, जिससे युवा आबादी के अधिक प्रभावित होने की आशंका है।

Also Read: तो क्या शर्मा जी होंगे उप्र के नए मुख्यमंत्री ...?

बीबीसी लन्दन  ने उप्र की सियासत पर केन्द्रित अपनी खबर में बताया है कि राजनीतिक जगत में इस बात की भी चर्चा है कि योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री बनाना बीजेपी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के शीर्ष नेताओं को अब ऐसा फैसला समझ में आ रहा है, जिसे अब बदलना और बनाए रखना, दोनों ही स्थितियों में घाटे का सौदा दिख रहा है। दूसरे, पिछले चार साल के दौरान बतौर मुख्यमंत्री, योगी आदित्यनाथ की जिस तरह की छवि उभर कर सामने आई है, उसके सामने चार साल पहले के उनके कई प्रतिद्वंद्वी काफी पिछड़ चुके हैं

Also Read: नेस्ले कंपनी ने खुद माना मैगी नूडल्स सेहत के लिए ठीक नहीं

दैनिक भास्कर की खबर कहती है कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया अब कोवीशील्ड के साथ ही रूस की कोविड वैक्सीन स्पुतनिक ट वैक्सीन भी बनाएगी। सूत्रों के मुताबिक, देश की दवा नियामक प्राधिकरण  ने शुक्रवार को इसकी मंजूरी दे दी। इसके बाद कंपनी वैक्सीन का टेस्ट और एनालिसिस कर सकेगी। अब तक स्पुतनिक-  को भारत में डॉ. रेड्डीज लैबोरेटरीज बना रही है। भारत में स्पुतनिक-वी  की 85 करोड़ डोज बनाई जानी हैं। भारत में बनने वाली वैक्सीन दुनिया में कहीं भी बनाई जाने वाली स्पुतनिक-ट का 65ः से 70ः हिस्सा होगा।

द वायर ने केन्द्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) हवाले से अपनी खबर में  बताया है  कि सेवानिवृत्त अधिकारियों का निजी क्षेत्र में नौकरी स्वीकार करना गंभीर कदाचार का मामला है। सीवीसी ने आदेश जारी कर कहा कि केंद्र सरकार के सभी संगठनों को सेवानिवृत्ति के बाद रोजगार देने से पहले सतर्कता विभाग से अनिवार्य रूप से मंजूरी लेनी चाहिए। सीवीसी ने कहा कि यदि किसी सेवानिवृत्त अधिकारी ने एक से अधिक संगठनों में काम किया है, तो उन सभी संगठनों से सतर्कता संबंधी मंजूरी प्राप्त की जानी चाहिए, जहां अधिकारी ने पिछले 10 वर्षों में सेवा दी थी.


New-In-Short-आज -से-बाज़ार-खुलेगा-पर-रात्रिकालीन-कर्फ्यू-जारी-रहेगा

सागर वॉच @  
कल से सागर  का बाजार खुलेगा। लोगों को घरों से बाहर आने-जाने की अनुमति होगी। बाजार सुबह छः बजे से शाम छः बजे तक खुले रहेंगें। लेकिन रात दस बजे से सुबह छः तक का रात्रिकालीन कर्फ्यू  बदस्तूर जारी रहेगा। रविवार की पूर्ण बंदी भी जारी रहेगी। 

जिले में भीड़ बढ़ाने वाले सार्वजनिक आयोजनों पहले की तरह प्रतिबंधित रहेंगें। किसी भी दुकान पर दुकानदार और ग्राहकों कोई भी लेन देने केवल दोनों के मास्क पहने होने की स्थिति में होगा। शादी समारोहों में दोनों पक्षों से अधिकतम बीस लोगों व अंतिम सस्कार में अधिकतम दस लोगों की उपस्थिति की अनुमति होगी। सभी प्रतिबंध पांच जून से सोलह जून तक प्रभावी रहेंगें।

Also Read: नेस्ले कंपनी ने खुद माना मैगी नूडल्स सेहत के लिए ठीक नहीं

सागर शहर के लिए जल्द ही एक बाईपास मार्ग की सुविधा मिल सकती है। इस सिलसिले में नगर के विधायक ने प्रदेश के लोक निर्माण विभाग के मंत्री से चर्चा की। चर्चा में बताया गया कि सागर शहर की सीमा के समानांतर लगभग 118 करोड़ की राशि से बनने वाला यह मार्ग  18 किमी लंबा, 17 मीटर चैड़ा होगा। 

प्रस्तावित बाईपास मार्ग बमोरी तिराहे से प्रारंभ होकर पथरिया जाट नवीन आरटीओ के पीछे की पहाड़ी चढ़ते हुए कनेरा देव मशान झिरी, आमेट रजौआ बदौना होते हुए भोपाल रोड स्थित महर्षि विद्या मंदिर यहां जुड़ जाएगा। 

MEDIA WATCH@ 03 JUNE 2021

SAGAR WATCH@ खबरें ज़माने भर कीं 

MEDIA-WATCH-तो-क्या-शर्मा-जी-होंगे-उप्र-के-नए-मुख्यमंत्री ?

तो क्या शर्मा जी होंगे उप्र के नए मुख्यमंत्री ...?

बीबीसी लन्दन ने उत्तर प्रदेश  में  मौजूदा सियासी उठा-पटक को लेकर नेतृत्व परिवर्तन के कयासों को हवा देने वाली एक अहम् खबर छापी है। खबर के मुताबिक पिछले दो हफ्ते से संघ और बीजेपी के केंद्रीय नेताओं की बैठकों का दौर चल रहा है इसी से सरकार और संगठन में बदलाव की संभावनाओं के बीच दोनों स्तरों पर नेतृत्व परिवर्तन तक की चर्चा गर्म है राजनीतिक पर्यवेक्षकों ने यह तक कह दिया कि अरविंद शर्मा मुख्यमंत्री भी बनाए जा सकते हैं इस काल्पनिक बदलाव की वजह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के प्रभाव को कम करना या फिर उनकी कथित मनमानीपूर्ण कार्यशैली पर रोक लगाना है

Also Read: नेस्ले कंपनी ने खुद माना मैगी नूडल्स सेहत के लिए ठीक नहीं

शरीर है कि चुम्बक ....!

जी न्यूज़ ने ईरान न्यूज़ के हवाले से लगाई एक रोचक खबर में बताया है कि ईरान में एक शख्स रहता है,जिसका शरीर किसी चुंबक से कम नहीं है. दरअसल, उसके शरीर से कोई भी चीज बड़ी आसानी से चिपक जाती है. द सन में छपी खबर के मुताबिक, ईरान में रहने वाले अबोलफज्ल खुद में किसी चमत्कार से कम नहीं हैं. दरअसल, कोई भी चीज उनके शरीर से ऐसे चिपक जाती है, जैसे उसमें कोई चुंबक फिट हो

राहुल गाँधी ने ट्विटर पर कईयों से बनायीं दूरियां 

पंजाब केसरी ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर केन्द्रित अपनी खबर में बताया है कि  अकसर सोशल मीडिया को हथियार के रूप में इस्तेमाल कर मोदी सरकार पर हमला करते हुए  ट्विटर पर एक्टिव रहने वाले राहुल गांधी ने अचानक कई नेताओं, पत्रकारों और दूसरे नेताओं को अनफॉलो कर दिया है। उनके इस रुख को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म है। खबर कहती है कि राहुल गांधी 281 लोगों को फॉलो कर रहे थे जिनकी तादाद घटकर 219 रह गई है।  पार्टी सूत्रों का कहना है कि राहुल गांधी की टीम जो नई लिस्ट तैयार कर रही है, उसमें नेता-पत्रकार और अन्य क्षेत्रों से जुड़े लोग शामिल होंगे। 

Also Read: क्या शुरू हो गई है कोरोना की तीसरी लहर!

लो आ गए दूसरी स्वदेशी वैक्सीन ...

दैनिक जागरण की खबर बताती है कि देश में निर्मित एक और कोरोना वैक्सीन अगले कुछ माह में आ जाएगी। इसके लिए केंद्र ने 30 करोड़ खुराकें बुक कराई है और अग्रिम समझौते के तहत 1500 करोड़ रुपये का भुगतान भी कर दिया है। खबर में बताया है कि हैदराबाद की वैक्सीन निर्माता कंपनी बायोलॉजिकल- ई इस साल के अगस्त- दिसंबर तक वैक्सीन की खुराकें मुहैया करा देंगी। स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरुवार को इस बारे में जानकारी दी और बताया कि इसके लिए केंद्र की ओर से 1,500 करोड़ रुपये का भुगतान बायोलॉजिकल-ई को कर दिया गया है। भारत बायोटेक के कोवैक्सीन   के बाद यह दूसरा स्वदेशी वैक्सीन है।

पन्द्रह जून तक मुफ्त मिलेगी ....

महानगर टाइम्स ने खेती-किसानी से जुडी खबर में लिखा है की केंद्र सरकार द्वारा किया जा रह मिनी किट कार्यक्रम के तहत बीजों का वितरण 15 जून, 2021 तक निःशुल्क किया जायेगा  ताकि किसानों को खरीफ फसलों की बुआई से पहले बीज मिल जाएं राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन के तहत किसानों को दलहन के कुल 20,27,318 मिनी किट, सोयाबीन के आठ लाख से ज्यादा मिनी किट और मूंगफली के 74,000 मिनी किट निशुल्क दिए जाएंगे। जिससे किसानों को काफी लाभ मिल सकता है। ये मिनी किट राष्ट्रीय बीज निगम (एनसीएस), नैफेड और गुजरात राज्य बीज निगम जैसी राष्ट्रीय एजेंसियों द्वारा उपलब्ध करायी जा रही हैं

ममता को घेरने मप्र में मंथन ..

दैनिक भास्कर ने भी देश की सियासत को गरमा रही बंगाल से जुडी खबर प्रकाशित की है    खबर में बीजेपी सूत्रों के हवाले से बताया है  कि ममता की घेराबंदी के लिए मप्र में चल रहा है मंथन। खबर के मुताबिक  बंगाल चुनाव में प्रभारी रहे  राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री शिव प्रकाश  के साथ मध्यप्रदेश के तीन दिग्गज नेता कैलाश विजयवर्गीय, प्रहलाद पटेल और नरोत्तम मिश्रा को राष्ट्रीय नेतृत्व की तरफ से अहम जिम्मेदारी दी गई थी। तीनों नेताओं की दिल्ली से लेकर भोपाल तक आपस में लंबी मुलाकात इशारा कर रही है कि सुलगते बंगाल पर तीनों नेता रणनीति बना रहे हैं।

  MEDIA WATCH@ खबरें ज़माने भर कीं 

SAGAR WATCH@ 01 JUNE 2021

MEDIA-WATCH-केंद्रीय-कर्मचारियों-के-वेतन-में-एक-जुलाई-से-होगा-ईजाफा

जी न्यूज़ 
ने देश के केंद्रीय कर्मचारियों को खुश करने वाली खबर को प्रमुखता से प्रकाशित की है खबर में बताया है कि लम्बे इंतज़ार के बाद वह समय आ गया है. जब देश में 50 लाख केंद्रीय कर्मचारियों और 61 लाख पेंशनर्स का महंगाई भत्ता 1 जुलाई से बढ़ने जा रहा है. कर्मचारियों का महंगाई भत्ता अभी 17 फीसदी  की दर से मिलता है जो अब सीधे 28 फीसदी  हो जाएगा. इस बढ़ोतरी का फायदा उन्हें वेतन में इजाफे के रूप में दिखेगा. बताया कि जून 2021 तक भी इसमें  3-4 फीसदी  का उछाल आने की उम्‍मीद है.इससे जून 2021 के बाद महंगाई भत्ता बढ़कर 32 परसेंट तक पहुंच जाएगा. 

Also Read: क्या शुरू हो गई है कोरोना की तीसरी लहर!

डेली ट्रिब्यून  पियक्कड़ों के लिए खुशखबरी बताते हुए दिल्ली सरकार ने संशोधित आबकारी नियम के अधीन शराब की ‘होम आपूर्ति की अनुमति दे दी है। दिल्ली उत्पाद शुल्क (संशोधन) नियम, 2021 सोमवार को अधिसूचित किया गया जिसके अनुसार, लाइसेंस धारकों को एप या वेबसाइट के माध्यम से खरीदी गई शराब की ‘होम डिलिवरीश् की अनुमति दे दी गई है। इसके साथ ही अब लाइसेंस धारक खुली जगहों जैसे छतों, क्लबों के आंगनों, बार और रेस्तरां में भी शराब परोस सकेंगे।

Also Read: अधिक दूध पीने से नहीं बढता है कोलेस्ट्राल 

महानगर  ने  दुनिया भर के यूटयूबर के लिए  जेब  हल्का करने  वाली खबर लगाई है खबर में बताया है कि यूट्यूब ने अपने प्लेटफॉर्म को लेकर एक बड़ी घोषणा की है। 1 जून से यूजर्स को यूट्यूब प्लेटफॉर्म से होने वाली कमाई पर टैक्स देना होगा। हालांकि ऐसी खबरें हैं कि अमेरिकन कंटेंट क्रिएटर्स टैक्स के दायरे में नहीं आएंगे। यह नियम भारत समेत दूसरे देशों के लिए है। यूजर्स को सिर्फ उन्हीं व्यूज के लिए टैक्स का भुगतान करना होगा, जो अमेरिकी दर्शकों से मिले हैं। टैक्स की दर 24 फीसदी प्रतिमाह होगी।

Also Read: वियतनाम में मिला हवा के जरिये तेजी से फैलने वाला कोविड का नया वैरिएंट

अमर उजाला  ने अपनी खबर में बताया है कि हाल ही में रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन द्वार इजाद की गए कोरोना की दवा लेने से किन लोगों को परहेज करना चाहिए  गाइडलाइंस में डीआरडीओ ने स्पष्ट किया है कि अनियंत्रित ब्लड शुगर, हृदय की बीमारी, एक्यूट रेसिप्रेटरी डिस्ट्रेस सिंड्रोम (एआरडीएस), लिवर और किडनी के रोगियों पर इस दवा का परीक्षण नहीं हुआ है, ऐसे में इन रोगियों को फिलहाल 2-डीजी दवा नहीं दी जानी चाहिए। इसके अलावा गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं और 18 साल से कम आयु के लोगों के लिए भी इस दवा के इस्तेमाल पर फिलहाल रोक है।

Also Read: नासा को मंगल ग्रह पर मिले मशरूम हो सकता है एलियन से भी नाता

दैनिक भास्कर     ने ट्विटर  के हेकड़ी भरे तेवरों की केंद्र सरकार की सख्ती के आगे हवा निकलने की खबर को प्रमुखता से छापा है । खबर खातीं है कि   केंद्र सरकार से टकराव के बाद ट्विटर ने नए आईटी नियमों का पालन करने का निर्णय  लिया है। सोमवार को सोशल मीडिया कंपनी ने दिल्ली हाईकोर्ट में जवाब पेश किया। कंपनी ने बताया कि उसने भारत सरकार के आई रूल कानून 2021 को लागू कर दिया है। इसके लिए कंपनी ने एक अधिकारी की नियुक्ति 28 मई को ही कर दी थी। हालांकि, कोर्ट में सरकार ने ट्विटर के दावे को खारिज कर दिया है।

Also Read: पथकर चौकी पर सौ मीटर से लम्बी कतार होने पर मुफ्त गुजारना होगा वाहनों को

बीबीसी लन्दन ने सऊदी अरब में मस्जिदों में लगे  ध्वनि विस्तारक यंत्रों की आवाज कम किये जाने के सम्बन्ध सरकार की राय पर विस्तृत खबर छापी है खबर में बताया है  कि सऊदी अरब के इस्लामिक मामलों के मंत्री डॉक्टर अब्दुल लतीफ बिन अब्दुल्ला अजीज अल-शेख ने पिछले सप्ताह ही इन प्रतिबंधों की घोषणा की थी.उन्होंने कहा था कि मस्जिदों पर लगे लाउडस्पीकर की आवाज को अधिकतम आवाज के एक तिहाई से ज्यादा नहीं होना चाहिए. उन्होंने कहा था कि लोगों से लगातार मिल रहीं शिकायतों के बाद यह निर्णय किया गया है.उन्होंने कि ऐसी  शिकायतें मिलीं हैं,जिनमें कुछ अभिभावकों ने लिखा कि लाउडस्पीकर की तेज आवाज से उनके बच्चों की नींद ख़राब होती है

Also Read: MEDIA-WATCH-ख़बरें-ज़माने-भर-कीं

प्रातःकाल अखबार ने  विश्व स्वस्थ संगठन द्वारा कोरोना वायरस के विभिन्न वेरिएंट के नामांकरण किये जाने के विषय को अपनी खबर में प्रमुखता से उठाया हैखबर के मुताबिक  नए सिस्टम में भारत में मिला वैरिएंट ‘डेल्टा’- विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने उभरते हुए कोरोनावायरस वेरिएंट को लेबल करने के लिए नामों के एक सेट की सिफारिश की है जिन्हें वैश्विक चिंता का विषय माना जाता है। अब तक,विश्व स्वस्थ्य संगठन  द्वारा चिंता के चार प्रकार के वैरिएंट  की पहचान की गई है ग्रीक वर्णमाला के पहले चार अक्षरों के बाद उनके सार्वजनिक नाम  क्रमशः अल्फा, बीटा, गामा और डेल्टा होंगे।

MEDIA WATCH@ ख़बरें ज़माने भर कीं 

SAGAR WATCH@ 30 MAY 2021

MEDIA-WATCH-क्या-शुरू-हो-गई-है-कोरोना-की-तीसरी-लहर!

पत्रिका
ने अपनी खबर क्या शुरू हो गई है कोरोना की तीसरी लहर! सवाल से उठायी है। खबर में बताया है कि  महाराष्ट्र के सिर्फ एक जिले में मिले 8 हजार संक्रमित बच्चे महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले से बच्चों के कोरोना संक्रमित होने के जो आंकड़े सामने आए हैं, वह डराने वाले दिख रहे। महराष्ट्र सरकार की ओर से कोरोना वायरस संक्रमितों के जिलेवार जारी आंकड़ों पर गौर करें तो सिर्फ अहमदनगर जिले में मई महीने में करीब आठ हजार बच्चे कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं।

Also Read: वियतनाम में मिला हवा के जरिये तेजी से फैलने वाला कोविड का नया वैरिएंट

जी न्यूज ने बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के एक शोध के हवाले से खबर दी है कि कोरोना संक्रमण से ठीक हो चुके लोगों में वैक्सीन  की पहली खुराक 10 दिन के अंदर पर्याप्त एंटीबॉडी बना देती है. ये एंटीबॉडी कोरोना से लड़ने में कारगर होती हैं. जबकि जो कोरोना संक्रमित नहीं हुए हैं, उनमें वैक्सीन लगने के बाद एंटीबॉडी बनने में 3 से 4 हफ्ते का समय लगता है.

Also Read: अधिक दूध पीने से नहीं बढता है कोलेस्ट्राल 

नवभारत टाईम्स ने देश के साइकिल उद्योग के लिए कोरोना महामारी काल को वरदान बताते हुए लगाई खबर में बताया है कि चालू वित्त वर्ष 20 फीसदी की बढ़ोतर की उम्मीद के जा रही है  खबर में बताया है कई कोरोना वायरस की पहली  लहर के चलते साइकिलों की बिक्री में 22 फीसदी की बड़ी गिरावट दर्ज की गई, जिसकी वजह सरकार की ओर से विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के लिए स्टैंडर्ड साइकिलों  की खरीद में गिरावट आना रहा।

Also Read: नासा को मंगल ग्रह पर मिले मशरूम हो सकता है एलियन से भी नाता

बीबीसी लंदन ने कोरोना वायरस के पैदाईश के स्थान की तलाश के सिलसिले में दुनिया भर में मची हाय-तौबा से जुड़ी अपनी एक खबर में बताया है कि अमेरिका के बाद अब ब्रिटेन की खुफिया एजेंसी ने भी माना है कि यह ‘संभव’ है कि कोरोना महामारी की शुरुआत चीन की प्रयोगशाला से वायरस लीक होने के बाद हुई हो.खबर में ब्रिटेन के वैक्सीन मंत्री नदीम जहावी ने विश्व स्वास्थ्य संगठन से कोरोना वायरस के स्रोत का पता लगाने के लिए पूरी जाँच की माँग की है ताकि कोरोना वायरस के स्रोत का पता लग सके. 

Also Read: पथकर चौकी पर सौ मीटर से लम्बी कतार होने पर मुफ्त गुजारना होगा वाहनों को

दैनिक भास्कर ने अपनी एक खबर में बताया है कि बाल आयोग ने पुलिस से ट्विटर पर प्राथमिकी दर्ज करने को कहा और बाल यौन शोषण से जुड़ी जांच में सहयोग न करने का आरोप भी लगाया है। खबर के मुताबिक आयोग ने दिल्ली पुलिस को भेजी अपनी शिकायत में कहा है कि ट्विटर पर बाल यौन शोषण के कुछ लिंक मिले हैं। इसके अलावा डार्क वेब पर बनाए  गए कुछ लिंक भी ट्विटर पर दिखाई दिए हैं। ट्विटर इंडिया द्वारा आयोग के सवाल का जवाब देने में खुद को असमर्थता बताया तो आयोग ने ट्विटर के खिलाफ पुलिस शिकायत की प्रक्रिया शुरू की।

Also Read: MEDIA-WATCH-ख़बरें-ज़माने-भर-कीं

समय लाईव ने अपनी खबर में कहा है कि केरल में मॉनसून की शुरूआत देर से होगी। खबर मुताबिक मानसून के 3 जून तक केरल पहुचने के आसार है। अखबार ने दक्षिण-पश्चिमी हवाएं के  धीरे-धीरे मजबूत होने को आधार बनाकर  बारिश की गतिविधि में वृद्धि की संभावना जताई है। खबर में यह भी बताया है कि पिछले पांच वर्षों में, वर्ष 2017 और 2018 को छोड़कर, मानसून  कुछ दिनों की देरी से ही आया । 

Corona-Guidelines-Violation-सेंट्रल-बैंक-बजाज-अलियांज़-कम्पनी-के-दफ्तर-हुए-सील

सागर वॉच @
जिले में कोरोना संक्रमण की रोकथाम की मुहिम के तहत सेंट्रल बैंक शाखा गोपालगंज, बजाज एलियांज लाईफ बीमा लिमिटेड, गोपालगंज एवं एक प्रायवेट फायनेंस बैंक को कोरोना गाईड लाईन का पालन न करते पाये जाने पर सील किया गया। इसके अलावा कटेंनमेंट क्षेत्र से बाहर नहीं निकलने के बारे में लोगों को हिदायत दी।

Also Read: MEDIA-WATCH-ख़बरें-ज़माने-भर-कीं

गोपालगंज वार्ड में अधिकारियों की टीम पहुॅची तो पाया कि सेंट्रल बैंक गोपालगंज शाखा में पदस्थ कर्मचारी बिना मास्क के कार्य करते पाये उसी प्रकार बैंक में आने वाले ग्राहकों की भीड़ भी थी जिससे ना सोशल डिस्टेसिंग का पालन हो रहा था और कई लोग मास्क भी नहीं लगाये थे, जो कोरोना गाईड लाईन का उल्लघन है इसी प्रकार सेंट्रल बैंक के सामने प्रायवेट फायनेंस बैंक में भी यही स्थिति पायी गई जिसको देखते हुये जनता की सुरक्षा हेतु निगमायुक्त आर.पी.अहिरवार ने बैंकों को सील करने की त्वरित कार्यवाही गई।

Also Read: नासा को मंगल ग्रह पर मिले मशरूम हो सकता है एलियन से भी नाता

 इस दौरान निगमायुक्त ने आमजन से कोरोना को समाप्त करने में सहयोग करने की अपील की उन्महोंने  कहा की महिला बाल विकास एवं स्वास्थ्य विभाग की टीम सर्वे करने आपके घर आती है तो उससे कोई जानकारी छुपाये न बल्कि सही-सही जानकारी दें जो आपके ही हित में है

 निगमायुक्त ने वार्ड प्रबंधन समिति के सदस्य और वार्ड के नागरिक से कहा कि महामारी को अपने वार्ड से समाप्त करने के लिये अपने व्यवहार को सयंमित करें बेवजह घर से निकलें,  अति आवश्यक हो तो बाहर जाते समय मास्क लगाये, घर में भी सोशल डिस्टेसिंग का पालन करें। 

Also Read: Kill Corona Campaign- सागर जिले की सत्तर फीसदी पंचायतें हुईं कोरोना मुक्त

Corona-Review-Meet-कोरोना-है-बहुरूपिया-वायरस-मुख्यमंत्री

सागर वॉच @
  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह  ने कोरोना को बहरूपिया बताया और कहा कि यह बहरूपिया वायरस है किसी भी रूप में असर कर जाता है। पता ही नही चलता। इसीलिए सख्ती जरूरी है अन्यथा तीसरी लहर घातक साबित होगी। यूपी और अन्य राज्यो की सीमाएं अभी सील रहेंगी। 31 मई के बाद प्रदेश को धीरे-धीरे खोलेंगें लेकिन सख्ती जारी रहेगी। 

कोरोना को लेकर सागर संभाग आयोजित संभागीय समीक्षा बैठक में उन्होंन अनलाॅक के पहले चरण में शादी-विवाह मेले-ठेले सभी शुरू होने का नतीजा दूसरी लहर में झेलना पड़ा। तीसरी लहर के मद्देनजर इनको ध्यान में रखकर खोलेंगे।  

Also Read: मुख्यमंत्री के खिलाफ मामला दर्ज कराने कांग्रेस पहुंची पुलिस थाने

उन्होंने कहा कि कोविड केयर सेंटर बन्द नही होंगे पूरे एक साल इनको चलाया जाएगा। चाहे सरकारी हो या निजी केयर सेंटर।  इसके अलावा तीसरी लहर से निपटने टेस्टिंग जारी रहेगी। संक्रमित मिलने पर माईक्रो कन्टेनमेंट बनाएंगे। 

उन्होंने कहा कि पोस्ट कोविड केयर ब्बेहद जरूरी है । हमे स्वस्थ्य हो चुके मरीजो की निगरानी करना होगी। ताकि उनको कोई बीमारी या साईड इफेक्ट तो नही हो रहे है। 

Also Read: Kill Corona Campaign- सागर जिले की सत्तर फीसदी पंचायतें हुईं कोरोना मुक्त

 Congress-Afoot-Protes-मुख्यमंत्री-के-खिलाफ-मामला-दर्ज-कराने-कांग्रेस-पहुंची-पुलिस-थाने

सागर वॉच @
  म.प्र. के  मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान द्वारा  कोविड-19 से हुई मौतों के आंकड़े आमजन से छुपाने एवं प्रदेश वासियों को भ्रमित करने के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का प्रकरण दर्ज कराने कांग्रेसजनों ने मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष एवं पूर्व मंत्री सुरेन्द्र चौधरी की अगुवाई में थाना कैंट पहुंचकर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विक्रम सिंह को शिकायती पत्र सौंपा। 

Also Read: Kill Corona Campaign- सागर जिले की सत्तर फीसदी पंचायतें हुईं कोरोना मुक्त

इस मामले में पूर्व मंत्री चौधरी ने कहा कि वर्ष 2021 की शुरूआत से ही कोरोना की दूसरी लहर ने मप्र में अपने पांव पसारना शुरू ही किए थे और कोरोना मरीजों की मृत्यु होने लगी थी। लेकिन मुख्यमंत्री कोरोना की दूसरी लहर के भयावह रूप धारण करने तक उसकी उपेक्षापूर्ण व्यवहार करते रहे हैं। उनके ईशारे पर कोरोना पीड़ितों की संख्या यहां तक कि शमशानघाट एवं कब्रिस्तानो में हुए दाह संस्कारों की संख्या को भी छुपाया गया। 

 प्रदेश में कोरोना से इलाज की समुचित व्यवस्था भी नहीं कराई गई जिससे मरीज परेशान हुए और असमय काल के गाल में समा गए इसके लिए सीधे - सीधे मुख्यमंत्री जिम्मेवार हैं। शिवराज सिंह  ने इस कोरोना काल को गंभीरता से नहीं लिया इसी कारण कोरोना के मरीजों को अस्पतालों में ऑक्सीजन, इंजेक्शन नहीं मिल पाया और बदहाल व्यवस्था के कारण मौतों का आंकड़ा बढ़ता गया और सरकार मौतों के आंकड़ों को छुपाती  रही जनता के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ करने के लिए मुख्यमंत्री दोषी है जिन पर गैर इरादतन हत्या का प्रकरण दर्ज होना चाहिए।

Also Read: दिवंगतों की अस्थियों को था विसर्जन का इंतजार निगम कर्मियों ने निभाया इंसानी धर्म

 इस दौरान श्री चौधरी के साथ सचिव राकेश राय, अशरफ खान, शरद राजा सेन,सिंटू कटारे,राहुल चौबे ,अनिल कुर्मी, राशिद खान ,निखिल चौकसे  ,सुरेन्द्र करोसिया, अतुल नेमा,संदीप चौधरी  मुकेश खटीक,अभिषेक पाठक,मिथुन घारू आदि कांग्रेसजन मौजूद थे।

 Vaccination-Programme-In-Sagar-Covaxin-की-दूसरी-खुराक-का-समय -चार-से-छः-हफ्ते-के-बीच


सागर वॉच @  23-24- मई 2021

जिला टीकाकरण अधिकारी सागर द्वारा बताया गया कि 23-24 मई दिन शनिवार को कोविड 19 वैक्सीनेशन, सागर शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में 18 वर्ष से उपर एवं 45 वर्ष से उपर के पात्र हितग्राहियों का वैक्सीनेशन निम्नानुसार स्थानों पर किया जावेगा।
          

कोविशील्ड वैक्सीन के द्वितीय डोज में 12 से 16 सप्ताह में लगाया जा रहा हैं एवं कोवैक्सीन वैक्सीन के द्वितीय डोज में 4 से 6 सप्ताह में लगाया जा रहा हैं  सभी हितग्राही इस बात का ध्यान रखे । 


जब आपका समय हो जाये तभी टीकाकरण सेटर पर द्वितीय डोज लगवाने जाये और असुविधा से बचें । जिनको द्वितीय डोज लगना हैं उन्हें फोन द्वारा सूचना दी जा रही हैं मास्क पहने, दूरी बनाकर रहे,और हाथ समय-समय पर जरूर धोते रहें शासन की गाइडलाइन का पालन करें ।

शहरी क्षेत्र सागर

1.महारानी लक्ष्मी बाई स्कूल क्रमांक -1 (एम.एल.बी.स्कूल) बस स्टेंड के पास।

2.पी.टी.सी. ग्राडंड (ड्राइव रन) कचहरी रोड।

3.पुलिस लाईन एस.पी. ऑफिस के पीछे।

4.न्यू कैंट स्कूल सदर।

5.हुलासीराम मुखारया हाई स्कूल सदर बाजार।

6.कला एवं वाणिज्य महाविघालय तहसीली।


7.हाईस्कूल रजाखेड़ी मकरोनिया।

8.पंडित रविषंकर शुक्ल कन्या उच्च.माध्य.विघा. मोतीनगर।

9.दीनदयाल नगर मेेदान मकरोनिया (ड्राईव रन)  

ग्रामीण क्षेत्र सागर

1.कन्या हाईस्कूल बण्डा।

2.कन्या हाईस्कूल गढ़ाकोटा।

3.नगर भवन शाहगढ़।

4.मंगल भवन जैसीनगर।

5.जे.वाय.एस.एस. हॉस्पिटल खुरई।

6.हाईस्कूल राहतगढ़।


7.पंचायत भवन केसली।

8.कन्या हाईस्कूल क्षीर देवरी।

9.कन्या हाई स्कूल रहली ।

10.उत्कृष्ट हाई स्कूल मालथौन ।

11.उ.मा.कृषि विद्यालय सुरखी

12.उत्कृष्ट विद्यालय बीना ।

Kill-Corona-Campaign- सागर-जिले-की-सत्तर-फीसदी-पंचायतें-हुईं-कोरोना-मुक्त

सागर वॉच @ कोरोना संक्रमण की रफ्तार भले ही अभी पूरे देश में कम नहीं हुई है लेकिन बुंदेलखंड के खासकर ग्रामीण क्षेत्रों में यह पूरी तरह से काबू में आता दिख रहा है। जिला प्रशासन के आंकड़ों के मुताबिक सागर जिले की 71 फीसदी से ज्यादा पंचायतें कोरोना के संक्रमण से मुक्त हो गईं है। 43 फीसदी पंचायतें तो ऐसीं हैं जहां कोरोना संक्रमण पहुंच ही नहीं पाया। इसके अलावा करीब 29 फीसदी पंचायतों में पिछले  दो सप्ताह से एक भी व्यक्ति कोरोना से संक्रमित नहीं हुआ। इसके चलते जिले के ग्रामीण इलाकों में कोरोना से संक्रमित होने की दर ( Positivity Rate) घटकर केवल ३ फीसदी रह गयी है।

जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ इच्छित गढ़पाले के मुताबिक निरंतर निरीक्षण करने एवं जनप्रतिनिधियों की सहभागिता से जिले की 734 ग्राम पंचायतों में से 526 ग्राम पंचायतें कोरोना मुक्त हो गईं है। उन्होंनेे बताया कि जिले की 734 ग्राम पंचायतों में विस्तृत कार्ययोजना बनाई गई।

जिसके तहत समस्त सरपंचों ,पंचायत सचिव,सहायक सचिव को आवश्यक दिशा निर्देश जारी किए गए और समस्त ग्राम पंचायतों में बाहर से आने वाले प्रवासी व्यक्तियों, श्रमिकों के लिए संगरोध केन्द्र (क्वॉरेंटाइन सेंटर) बनाए गए जिसमें संदिग्धों को 7 दिनों तक इनमें रखने के बाद ही उनको ग्रामों में प्रवेश दिया गया । 

Also Read: Old But Bold-उम्र सौ के पार फिर भी कोरोना को दी पटखनी

डॉ गढ़पाले ने बताया कि जिले की 315 ग्राम पंचायत में ऐसी हैं जहां एक भी व्यक्ति कोरोना संक्रमित नहीं हो पाया और 211 ग्राम पंचायत हैं ऐसी हैं जिनमें विगत 15 दिवस  में कोई भी  संक्रमित नहीं हुआ।

डॉ  गढ़पाले ने बताया कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए 3 जोन बनाए गए। जिसमें ग्रीन जोन में जिले की 526 ग्राम पंचायतों आ गई हैं। इसी प्रकार 187 ग्राम पंचायतें ऐसी है जिसमें 5 से कम कोरोना संक्रमित व्यक्ति चिन्हित किए गए हैं उनको ऑरेंज जोन में रखा गया है ।डॉ  गढ़पाले ने बताया कि 21 ग्राम पंचायतें ऐसी हैं जिनमें 5 से अधिक कोरोना संक्रमित व्यक्ति पाए गए हैं उनको रेड जोन में रखा गया है। इस प्रकार से 208 पंचायतें जिसमें ऑरेंज जोन और रेड जोन शामिल हैं कोरोना संक्रमण मुक्त के लिए शेष रह गई हैं ।

Also Read: Viral Video: Expose the working of the police

डॉ गढ़पाले ने बताया कि विगत 15 दिवस में ग्रामीण क्षेत्र में पॉजिटिव प्रकरणों की संख्या में कमी आई है, प्रतिदिन सैम्पलिंग के अनुपात में ग्रामीण क्षेत्र में पॉजिटिविटी की दर भी घटकर 3.0 प्रतिशत पर आ चुकी है । किल कोरोना सर्वे प्रत्येक ग्राम में घर घर सर्वे कराया जाकर संभावित संक्रमित चिन्हितकर दवाइयों को वितरण किया गया है जिससे इनका स्वास्थ्य वेहतर बना रहे, इनमें से आधे से अधिक के स्वास्थ्य में सुधार भी हुआ है । पर्यवेक्षण दल द्वारा 13000 से अधिक मेडिसिन किट वितरित की गई है ।

Also Read: Ministers Byte-हर वर्ग के साथ खड़ी प्रदेश सरकारः गोविंद सिंह राजपूत

पंचायत औषधि वितरण केन्द्र  के माध्यम से-सभी ग्राम पंचायत भवनों पंचायत औषधि वितरण केन्द्र स्थापित किये गये है इनमें बच्चों के लिए अलग से दवाएं भी रखाई गई है । ये केन्द्र नियमित रूप से सुबह 10ः30 से शाम 5ः30 बजे तक खुल रहे है, जिनमें संभावित संक्रमित के अतिरिक्त घर के अन्य सदस्य भी स्वास्थ्य अमले से परामर्श अनुसार सामान्य बीमारियों हेतु औषधि प्राप्त कर रहे है । बताया गया है कि जनता कर्फ्यू एवं रोको टोका अभियान - ग्राम पंचायतों द्वारा संकल्प पारित करते हुए जनता कर्फ्यू का उल्लंघन और मास्क न पहनने वालों पर जुर्माना भी लगाया जा रहा है ।

Old-But-Bold-उम्र-सौ-के-पार-फिर-भी-कोरोना-को-दी-पटखनी

सागर वॉच @
कोरोना महामारी की मार से कराह रहे देश में कुछ ऐसे मामले भी सामने आते है जो न केवल कोरोना से पीड़ित लोगों को बल्कि सभी को  को सुकून देते हैं  और बीमारी का डट कर मुकाबला करने के लिए हौसलाफजाई भी करते हैं। ऐसा ही एक मामला बुंदेलखंड के संभागीय मुख्यालय के निजी अस्पताल से सामने आया है। जिसमें एक सौ चार उम्र की महिला  महज दस दिनों में कोरोना से जंग जीत कर स्वस्थ्य हो गयीं  हैं।

मध्य प्रदेश के सागर के भाग्योदय चैरिटेबल ट्रस्ट अस्पताल में बीना निवासी सुंदर बाई जैन (104) महज 10 दिनों में कोरोना से जंग जीत कर स्वस्थ्य हो गई है. आधार कार्ड के अनुसार उसका जन्मदिन 19 मई 1917 है.


इस महिला का इलाज कर रहे चिकित्सक डॉ. सौरभ जैन ने कहा कि 10 मई को कोरोना पीड़िता सुंदर बाई जैन को हमारे अस्पताल में भर्ती कराया गया था और लगभग 10 दिन के इलाज के बाद वह पूर्ण स्वस्थ हो गईं.उन्होंने कहा कि सुंदर बाई ने इलाज में सभी को सहयोग दिया. गुरुवार दोपहर उनकी अस्पताल से छुट्टी कर दी गई और उनके परिजन उन्हें बीना ले गए हैं. जैन ने बताया कि इस महिला को जब भर्ती कराया गया था, उस समय वह काफी कमजोर लग रहीं थीं, लेकिन उपचार शुरू होने के बाद जल्दी ही उनकी सेहत में सुधार आने लगा, इसकी एक बड़ी वजह मरीज का मानसिक रूप से काफी मजबूत एवं शारीरिक रूप से सक्रिय होना रहा.


सुंदर बाई को उम्र से जुडी समस्याएं के रहते हुए भी जल्दी ठीक होना भी एक काफी सकारात्मक पहलू है. महिला की सक्रियता भर्ती किए जाने के पांच दिन बाद से ही काफी बढ़ गई थी. वह खूब बातचीत भी करने लगीं. पिछले तीन दिनों से वह घर जाने के लिए बेसब्र भी हो रहीं थीं.

 Real-Life-Hero-दिवंगतों की-अस्थियों-को-था-विसर्जन-का-इंतजार-यह-इंसानी-धर्म-भी-निगम-कर्मियों-ने-ही-निभाया

सागर वॉच @
  कोविड मरीजो के अन्तिम सँस्कार के बाद उनकी अस्थियां रखी हुई है। अस्थियों के विसर्जन का संस्कार बाकी है लेकिन उनके परिजन किसी वजह से अब तक इन्हें लेने नहीं आए। जब मुक्ति धाम की दीवार पर लटकी अस्थियों की पोटली की संख्या बढ़ने लगी तो नगर निगम प्रशासन इनके विसर्जन की जिम्मेदारी भी अपने कंधों पर ले ली। 

Also Read: कलेक्टर ने बिलिंग को लेकर निजी अस्पतालों पर नकेल कसी

अब नगर निगम ने अस्थियों की पोटलियों का माँ नर्मदा नदी में नरसिंहपुर जिले के बरमान में इनका विसर्जन कराने का सिलसिला शुरू कर दिया है।  मंगलवार को निगम कर्मचारीयो ने मुक्तिधाम से बीस दिवंगतों की अस्थियां एकत्रित की और  मानव धर्म निभाते हुए  इसके विसर्जन की व्यवस्था हिन्दू रीति रिवाज से कराना तय किया। 

बॉक्स में लाल कपड़ा के ऊपर इन अस्थियो को रखा। बाकायदा इन पर फूल डाले और एक वाहन से नरसिंहपुर जिले के बरमान ले गए। यहां नर्मदा नदी में एक नाव में सवार होकर इनको नदी में विसर्जित किया गया।

Also Read: Divisional Commissioner-राजघाट में पर्याप्त पानी तंगी नहीं होगी गर्मी में

नगर निगम आयुक्त आर पी अहिरवार के मुताबिक  पिछले दिनों मुक्तिधाम के निरीक्षण में दिखा की यहाँ पर अस्थियां रखी हुई है  परिजन किन्ही कानोवश नही आ पाए। करीब 20- 25 दिन इंतजार किया। ऐसे में धार्मिक परम्पराओं के मुताबिक इनका विसर्जन हो । इसके लिए तय किया कि जैसे ही इकठ्ठा होगी । इनको नर्मदा नदी में विसर्जित कराएंगे।

मंगलवार सुबह काकागंज मुक्तिधाम घाट से निगम कर्मचारियों की टीम जिसमें प्रमुख रूप से प्रभारी अधिकारी  प्रहलाद रैकवार,  कुलदीप वाल्मिक,  आशुतोष सोलंकी, रंजीत साहू,   अजय रैकवार, राकेश खटीक एवं उनकी टीम के 10 कर्मचारी सुबह वाहन से बरमान घाट रवाना हुये और वहाॅ अस्थियों  का विसर्जन करके माॅ नर्मदा जी से इनकी आत्मा की शांति हेतु प्रार्थना की। इस कार्य से यह सिद्व होता है कि सरकारी विभाग का कार्य सिर्फ शासकीय काम करना नहीं है बल्कि सामाजिक सरोकारों के कार्यो से भी उसका उतना ही संबंध है जितना कि सरकारी कार्य से और यह कार्य उसी दिशा में मानव सेवा की दिशा में मिसाल है।

Also Read: महामारी के दौर में उंचे दामों में मेडिकल उपकरण बेचने वाले पुलिस के हाथ चढे़