Articles by "CM"
CM लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

CM CUP Sports  Meet-600  से    ज्यादा खिलाडियों ने   सहभागिता की

सागर वॉच/
खेल एवं युवा कल्याण विभाग के अंतर्गत विकासखंड सागर में मुख्यमंत्री कप खेल प्रतियोगिता 1 दिसम्बर को प्रातः 9 बजे से वात्सल्य स्कूल खेल मैदान में किया गया। प्रतियोगिता में एथलेटिक्स, कबड्डी, खो-खो, व्हालीबॉल, फुटबॉल तथा कुश्ती खेलों में 18 वर्ष से कम आयु वर्ग के बालक, बालिका लगभग 600 खिलाड़ियों ने सहभागिता की।

विकासखंड स्तरीय मुख्यमंत्री कप खेल प्रतियोगिता के समापन समारोह श्री वृन्दावन अहिरवार, अध्यक्ष-नगर पालिका निगम,विनोद  प्रजापति, उपाध्यक्ष म.प्र. खेल प्रकोष्ट, एड.श्री वीनू राणा, वरिष्ट समाजसेवी, आनंद विश्वकर्मा अध्यक्ष जिला कुश्ती संघ एवं श्री प्रदीप अबिद्रा, जिला खेल और युवा कल्याण अधिकारी आदि उपस्थित थे।

मंगल सिंह यादव प्रतियोगिता प्रभारी द्वारा सभी अतिथियों का पुष्पगुच्छ से स्वागत किया गया। इसके पश्चात अन्य प्रतियोगिता में सहयोग प्रदान करने वाले प्रशिक्षकों द्वारा भी अतिथियों का स्वागत किया गया। प्रतियोगिता प्रभारी श्री मंगल सिंह यादव द्वारा मुख्यमंत्री कप खेल प्रतियोगिता की संक्षिप्त जानकारी अतिथियों को दी गई।

कार्यक्रम में पधारे अतिथि श्री वीनू राणा द्वारा कहा गया कि खेलों को अपने जीवन में हमेशा रखना चाहिए क्योंकि खेलों से शारीरिक एवं मानसिक विकास होता है। श्री वृन्दावन अहिरवार द्वारा अपने उद्बोधन में विजेता खिलाड़ियों को बधाई दी एवं हारने वाले खिलाड़ियों को पूर्ण लगन एवं महनत से तैयारी करने हेतु प्रेरित किया। तथा म.प्र. के मुख्यमंत्री की योजनाओं के बारे मे खिलाड़ियो को अवगत कराया।


इसके पश्चात अतिथियों द्वारा विजेता टीम/खिलाड़ियों को पुरस्कार वितरण किये। प्रतियोगिता का परीणाम निम्नानुसार रहा-

  • 1.कबड्डी- बालक वर्ग - 1.विजेता खेल परिसर  2.उपविजेता.गवर्मेन्ट एक्सीलेंश स्कूल
  • 2.कबड्डी- बालिका वर्ग - 1.विजेता केन्द्रीय वि.क्र.3,  2.उपविजेता केन्द्रीय वि.क्र.01
  • 3.व्हालीबॉल-बालक वर्ग - 1.विजेता डी.पी.एस.स्कूल  2.उपविजेता. न्यू ज्ञानोदय स्कूल
  • 4.व्हालीबॉल-बालिका वर्ग - 1.विजेता एम.एल.बी.स्कूल .2.उपविजेता डी.पी.एस. स्कूल
  • 5.खो-खो- बालक वर्ग - 1.विजेता एस.वी.एन. स्कूल 2.उपविजेता आनंद मार्ग स्कूल
  • 6.खो-खो- बालिका वर्ग - 1.विजेता सागर साईन स्कूल 2.उपविजेता उत्कृष्ट विद्यालय
  • 7.फुटबॉल- बालक वर्ग - 1.विजेता के.व्ही.एन. 2.उपविजेता सागर स्पोर्टिंग
  • 8.फुटबॉल - बालिका वर्ग - 1.विजेता एल्कॉन इन्टरेनशनल स्कूल .2.उपविजेता खेल परिसर
  • 9.एथलेटिक्स बालक-
  • 100मी. 1..धु्रव वर्मा  2 अंकित कुलपारिया   .3 गर्ग धानक
  • 200मी. 1....पवन यादव  2.दीपेश गौहर         3शिवराज यादव
  • 400मी. 1.हिमांशु ठाकुर        2.कौशल यादव        3अनुज रैकवार
  • 1000मी. 1सलमान पठान       2.रीतेश यादव          3अर्ष जैन .
  • लॉग जम्प 1.दीपेश प्रसाद        .2हर्षवर्धन             3पुष्पेन्द्र अहिवार
  • हाई जम्प 1.हिमांशु पटेल        2.अरम जैन           3प्रभात कुर्मी
  • शाटपुट 1अजव सिंह ठाकुर    2शिवांश दुबे           3केशव डूमार .
  • जैवलिन 1राधवेन्द्र राजपूत      2अनिरूद्ध             3धनराज यादव

10.एथलेटिक्स बालिका-

  • 100मी. 1..रूकमणी पटेल      2मोहनी पटैल        3दिया ठाकुर
  • 200मी. 1तान्या मकोरिया      2दिया ठाकुर         3.कृष्णा तिवारी
  • 400मी. 1.नेहा धानक         2.खुशबू घोषी         3.रूचि ठाकुर
  • 1000मी. 1.पलक साहू         2.अंकिता दुबे         .3.मान्या पाण्डेय
  • लॉग जम्प 1रजनी रजक        .2.संजना यादव        3.जया चौधरी.हाई जम्प 1.राधिका विश्वकर्मा    2.खुशबू घोषी         3.विनीता अहिरवार.
  • शाटपुट 1कृभावना यादव      2.मानसी पटेल         3.कृष्णा तिवारी
  • जैवलिन 1.सरमीम खान       2उपासना वर्निकी       3कृअलसिया खान

11 कुश्ती बालक-

42कि.ग्रा. 1.क्रिश यादव        .2.कृष्णा यादव        

46कि.ग्रा. 1.मयंक  सोनी       .2संस्कार सोनी       3.अजय सौर

50कि.ग्रा. 1सुमित राय         2.यशवर्धन यादव      3.कृष्ण कुमार

54कि.ग्रा.. 1.अभिषेक यादव  

58कि.ग्रा. 1.रचित बाल्मिकी     2.चक्रधारी यादव     3.मोहित कश्यप
  
63कि.ग्रा. 1.यश यादव         2.दीपेश यादव       3.साहिल मोमिन

69कि.ग्रा. 1.आर्यन यादव       2.......................................3............................

76कि.ग्रा. 1.केतन कश्यप्   2.केशव कुमार डुमार 3...................................
     

12 कुश्ती बालिका-

38कि.ग्रा. 1.कामनी कोरी       2.चॉदनी सौर       3.साक्षी अहिरवार

40कि.ग्रा. 1.कल्याणी          2. सुहानी कलार     3कृकंचन अहिरवार

43कि.ग्रा. 1.अरूणा वासनिक    2.श्रद्धा गुप्ता        3.रानी ठाकुर

46कि.ग्रा.. 1.शैली सोनी         2.वैष्णवी यादव      3.भूमीका गुप्ता

59कि.ग्रा. 1.रूचि जैन 2. नैना बाई गौड़    3...................................

52कि.ग्रा. 1सत्या मौर्य         

56कि.ग्रा. 1..........................................2.......................................3...................................
60कि.ग्रा. 1.जया पटेल         

कार्यक्रम के सफल आयोजन में विभागीय प्रशिक्षक  प्रेमनेती राय, श्रीमती सीमा चक्रवर्ती,   उमेश चंद्र मोर्य,  श्यामलाल पाल,  नफीस खान,भीकम पटेल,एवं अन्य खेल संघ संस्थाओं के प्रशिक्षक  दविन्दर भाटिया, राजेश यादव,  विशाल तोमर, कार्यालयीन कर्मचारी  महेन्द्र सिंह राजपूत,   चंदन मोरे,   रंजीत बैन आदि ने सहयोग किया।

नगर निगम, पुलिस विभाग एवं स्वास्थ्य विभाग का विशेष सहयोग रहा। प्रतियोगिता प्रभारी श्री मंगल सिंह यादव द्वारा सभी अतिथियों एवं कार्यक्रम को सफल बनाने वाले प्रशिक्षकों एवं सहयोग करने वाले अन्य विभागों के प्रति आभार व्यक्ति किया

Dr Gour   Jayanti -दीपावली पर्व जैसी मनाई जाएगी गौर जयंती व  गौरव दिवस

सागर वॉच/
डॉ. हरि सिंह गौर की जंयती और सागर गौरव दिवस के आयोजन के लिए नगरीय विकास विभाग की ओर से सवा करोड़ रू. की राशि मंजूर की है।उन्होंने कहा कि सागरवासियों की सहभागिता से आगामी 26 नवम्बर को  डॉ. गौर जंयती और सागर गौरव दिवस को दिवाली पर्व जैसा मनाया जाएगा।

उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 26 नवम्बर को कार्यक्रम में शामिल होने के लिए अपनी सहमति दी है।  मुख्य मंत्री श्री चौहान मुख्य कार्यक्रम में शामिल होने से पहले  शाम 5 बजे डॉ. गौर की समाधि पर पुष्पचक्र अर्पित कर उनका पुण्य स्मरण करेंगे तथा तीनबत्ती पर उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण करेंगे।

नगरीय विकास मंत्री ने गुरूवार को कलेक्टर कार्यालय परिसर में डॉ. गौर की जंयती और सागर गौरव दिवस मनाने के तीन दिवसीय आयोजन की तैयारियों और सुझाव लेने को लेकर सभी वर्गो, जनप्रतिनिधियो, व्यवसायिक संस्थानों के प्रतिनिधियों, गणमान्य नागरिकों और पत्रकार बंधुओं की बैठक को संबोधित कर रहे थे।

भूपेन्द्र सिंह ने बताया कि कार्यक्रम को गरिमामय बनाने के लिए आयोजन समिति में शहर के गणमान्य नागरिकों को शामिल किया गया है। डॉ. गौर की जयंती और सागर गौरव दिवस चूकिं गैर राजनैतिक आयोजन है, इसलिए इसमें सभी को आंमत्रित किया गया है।  

26 नवम्बर को तीनबत्ती से कटरा चौकी के बीच कार्यक्रम होगा। जिसमें प्रख्यात कलाकारों की प्रस्तुति होगी।इस कार्यक्रम के सिलसिले  में  सभी पार्षदां से अनुरोध किया कि वे अपने वार्ड में भी आयोजन को लेकर समिति गठित करें। 20 नवम्बर को एक ही समय पर बैठक आयोजित कर घर-घर जाकर लोगों को हल्दी पीले चावल देकर आंमत्रित करे। सोशल  मीडिया पर भी आयोजन के संबंध में व्यापक प्रचार-प्रसार करने के लिए भी उन्होंने कहा।


विधायक शैलेन्द्र जैन ने सागर का नाम सागौर और विश्वविद्यालय में डॉ. गौर के नाम से पीठ स्थापित करवाने का सुझाव दिया।  श्री जैन ने अपनी ओर से आयोजन के लिए 2.51 लाख रू. देने की घोषणा की। 

जिला पंचायत अध्यक्ष हीरासिंह राजपूत ने घोषणा की कि हर पंचायत मुख्यालय पर दीपावली जैसा पर्व मनाया जाएगा। श्री राजपूत ने अपनी ओर से एक लाख रू. देने की घोषणा की। 

बैठक में श्री सुरेश आचार्य, डॉ. सुखदेव मिश्रा, पार्षद शैलेन्द्र ठाकुर, अमर जैन, कृष्णवीर सिंह अधिवक्ता, बार एसोसिएशन के अध्यक्ष एड. अंकलेश्वर दुबे, शैलेष केशरवानी, पत्रकार सर्वश्री अभिषेक यादव, संदीप तिवारी के अलावा सुरेन्द्र जैन, संतोष जैन,रानी अहिरवार पार्षद, याकृति जडिया पार्षद, देवेन्द्र पुस्केले, धमेन्द्र खटीक आदि ने महत्वपूर्ण सुझाव दिए।
 
आयोजन के लिए मिला 20 लाख से अधिक का जनसहयोग
बैठक में उपस्थित अनेक जनप्रतिनिधियों, प्रतिष्ठित नागरिकों, व्यापारिक संस्थाओं की ओर से जनसहयोग स्वरूप धनराषि देने की भी घोषणा की गई। उक्त राशि को आयुक्त नगर निगम  चन्द्रशेखर शुक्ला के पास जमा कराया जाएगा। 

सहयोग राशि देने वालों में 

  • समाज सेवी मीना पिंपलापुरे 3 लाख रू
  • राहुल साहू राजा क्रॉउन पैलेस होटल 2.21 लाख रू 
  • सर्वश्री नेवी जैन 1.11 लाख रू
  • प्रकाश  चौबे 1 लाख रू 
  • सत्येन्द्र सिंह होरा 1 लाख रू 
  • अशोक साहू चकिया 21 हजार रू
  • अशोक दुबे 21 हजार रू
  • महेश साहू 1 लाख रू
  • गोलू जैन 51 हजार रू
  • राधे-राधे मंडल 11 हजार रू
  • रमेश चौरसिया कल्प धाम गुप्र 3 लाख रू
  • संतोष जैन गडी 1 लाख रू
  • नंदकिशोर 51 हजार रू
  • राजेष मलैया 51 हजार रू 
  • उमेश यादव 51 हजार रू
  • मनोज रैकवार 21 हजार रू
  • कमलेश बघेल 51 हजार रू
  • अरूण सिघंई एवं 
  • सागर प्रसूति गृह 31-31 हजार रू. प्रमुख है।


प्रारंभ में जिला कलेक्टर दीपक आर्य ने तीन दिवसीय आयोजन की विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने बताया कि  पहले दिन स्कूल स्तर से विभिन्न प्रतियोगिताएं होगी। प्रत्येक वार्ड से रैली निकलकर पद्माकर सभागार में समाप्त होगी। फिल्म कलाकार श्री आशुतोष राणा व युवाओं और छात्रों के बीच संवाद का कार्यक्रम होगा। 

शाम को महापौर संगीता तिवारी की अध्यक्षता में महिलाओं को कार्यक्रम होगा। 25 नवम्बर को हर वार्ड से साईकिल रैली निकलेगी, जो पद्माकर सभागार में समाप्त होगी। सुबह 9 बजे सभी विद्यालय के बच्चे रैली के रूप में निकलकर गौर मूर्ति पर माल्यार्पण करेंगे। 12 बजे फिल्म प्रदर्शन के द्वारा स्कूली बच्चों को डॉ. गौर व सागर के विकास की जानकारी दी जाएगी। दोपहर 1 बजे रक्तदान शिविर  तथा 4 बजे सिने कलाकार मुकेश तिवारी का संवाद कार्य्रकम होगा।  शाम 6 बजे सभी वार्डो में दीप, उत्सव होगा।


CMs Directives-मप्र का राजस्व बढ़ाने के लिए हरसंभव प्रयास करें-मुख्यमंत्री

सागर वॉच / 15 दिसम्बर /

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश को तेजी से आगे ले जाना है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के निर्देशों पर कार्य कर केन्द्र सरकार की योजनाओं में नंबर-1 रहने की कोशिश करें। ईज ऑफ डूईंग बिजनेस एवं ईज ऑफ लिविंग दोनों के लिए प्राथमिकता से कार्य करें। 

बुधवार को  मंत्रालय में मंत्रि-परिषद के सदस्यों, अतिरिक्त मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव, सचिव तथा विभागाध्यक्षों के साथ बैठक की शुरूआत वंदे मातरम गान के साथ हुई। मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, डीजीपी विवेक जौहरी सहित वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि टीम मध्यप्रदेश जनता के लिए दिन-रात कार्य करने में जुटे। सभी आवश्यक कार्य करते हुए कोविड को कंट्रोल करना हमारी प्राथमिकता है। सभी व्यवस्थाएँ चाक-चौबंद रहें। बिना टीका लगवाए कोई भी व्यक्ति न रहे। सेकण्ड डोज़ का टारगेट समय पर पूरा करें।

उन्होंने  कहा कि विभाग अपने बजट का उपयोग समय पर करें। जो विभाग पैसा खर्च नहीं कर पाएंगे उनके बजट का पैसा दूसरे विभागों को दे दिया जाएगा। केन्द्र सरकार से संबंधित योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए आवश्यक राशि की मांग करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हम भारत सरकार की अनेकों योजनाओं में नम्बर वन है। हमारी कोशिश सभी योजनाओं में नम्बर वन रहने की होना चाहिए।

मुख्यमंत्री के मुताबिक केन्द्र सरकार की जैसे ही कोई नई स्कीम लॉच हो उस पर तत्काल हमारा ध्यान जाए। राजस्व संग्रहण के लिए अतिरिक्त कोशिश करें। प्रदेश के विकास का आधार राजस्व ही है। रेवेन्यू संग्रहण की बैठक हर हफ्ते हो। इसी पर प्रदेश की प्रगति निर्भर है। राजस्व बढ़ाने के लिए विशेषज्ञों के माध्यम से कोशिश करें। अधिकतम राजस्व संग्रहण हो।

कृषि के विविधीकरण को  महत्वपूर्ण मुद्दा बताते हुए उन्होंने कहा की विभिन्न फसलों की खेती के विकल्प लिए तेजी से प्रयास किए जाएँ। प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देने के लिए गंभीरता से कार्य करें। मोटा अनाज, कोदो-कुटकी, ज्वार-बाजरा की फसलों के उत्पादन पर ध्यान दें।

 इसके अलावा विकास के लिए रोडमेप बनाकर लक्ष्य निर्धारित कर समय-सीमा में पूरा करें। राजस्व बढ़े, काम की गुणवत्ता ठीक हो। इन्फ्रा-स्ट्रक्चर के कामों में देरी न हो। गुणवत्तापूर्ण काम समय पर पूरा नहीं होने पर पेनल्टी लगाकर कार्यवाही की जाए। व्यापार, निवेश और रोजगार बढ़ाने के लिए प्रयास किए जाएँ। स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध करायें।

जेम पोर्टल का इस्तेमाल अधिकाधिक करने के निर्देश देने के साथ ही मुख्यमंत्री ने विदेशी मुद्रा लाने के लिए निर्यात पर पर भी जोर देने के लिए कहा। "एक जिला-एक उत्पाद" को लेकर काम करें। कच्चा माल, कृषि उत्पाद निर्यात किये जा सकते हैं। स्टार्टअप के क्षेत्र में ध्यान दें। आत्म-निर्भर भारत निर्माण योजना और रोजगार योजना पर ध्यान देकर कार्य करें।

  • पीएम गति शक्ति प्रोजेक्ट पर तेज गति से कार्य करें। बेहतर समन्वय एवं इन्फ्रा-स्ट्रक्चर के क्षेत्र में केन्द्र सरकार के साथ साझा विजन में कार्य किया जाए।
  • शहरों के मास्टर प्लान बनाने की तैयारी करें। बिना मास्टर प्लान के शहरों की प्लानिंग नहीं हो सकती। प्रभारी मंत्री अपने प्रभार के जिलों एवं संबंधित अधिकारी मास्टर प्लान तैयार करें। शहर का गौरव पैदा करने के लिए भी कार्य करें।
  • आयुष्मान भारत योजना लोगों की जिन्दगी में क्रांति ला सकती है। इसको बेहतर और प्रभावी बनाकर लागू करें। प्रायवेट अस्पतालों में इस योजना का लाभ कार्डधारियों को दिलाए जाने के लिए प्रभावी रूप से कार्य हो।
  •  आईटीआई पहले से बेहतर हुई है। कौशल विकास के क्षेत्र में आज की जरूरत के हिसाब से और तेजी से काम किया जाये।
  • एनीसीसी, एनएनएस और संस्कार देने वाली शिक्षा को पाठ्यक्रमों में जोड़ें। मेडिकल और इंजीनियरिंग कॉलेजों में हिन्दी में पढ़ाई कराने के लिए कार्य-योजना बनाएँ।
  • भू-अधिकार योजना में प्लाट देने का अभियान शुरू कर दें। रोड कनेक्टिविटी, पीने का पानी, उज्जवला गैस कनेक्शन, बिजली, आयुष्मान कार्ड तथा रोजगार के प्रयास हों। आत्म-निर्भर परिवार बनाने की क्रांति लाएँ। 
  • कोई भी व्यक्ति बुनियादी सुविधाओं से वंचित नहीं रहें। पात्रों का राशन दिलाने और बैंक में खाता भी हो। बीमा और पेंशन योजनाओं में जागरूकता बढ़ायें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि स्वस्थ बच्चा स्पर्धा भी की जाए।
  • पीएम स्वनिधि योजना में फोकस करें। प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा स्वनिधि योजना सहित मातृवंदना और सुकन्या योजना में हम नम्बर वन हैं।
  • एक ही डेशबोर्ड पर सीएम की सभी योजनाओं की जानकारी प्राप्त हो सकें, इसके लिए कार्य करें। इसमें मध्यप्रदेश एवं भारत सरकार की सभी फ्लेगशिप स्कीम हो।
  • सीएम आवास योजना (शहरी) में गरीबों के मकान बनाने का कार्य प्राथमिकता से करें। कुछ बीमारियों के इलाज के लिये विशेषज्ञ डॉक्टरों के साथ शिविर लगाये जायें।
  • पिछड़े जिलों के लिए आकांक्षी ब्लॉक तय करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इंदौर का लाइट हाउस प्रोजेक्ट ठीक ढंग से चलता रहे। लोक अदालतें ढंग से लगती रहें।
  • प्रदेश में एक नई टाउनशिप बसाने के लिए काम करें। कृषि विश्वविद्यालय प्राकृतिक खेती का विषय जरूर पढ़ायें। मुख्यमंत्री और विधायक कप शुरू करायें। प्रदेश में सैनिक स्कूल खोलने का कार्य करें। क्षिप्रा नदी को शुद्ध करने का कार्य समय सीमा में किया जाए।

Smart City Project-एलिवेटेड कॉरिडोर  सागर को नया स्वरूप प्रदान करेगा-सीएम
सागर वॉच/ 10 दिसम्बर 2021/ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि लाखा बंजारा झील सागर की पहचान एवं गौरव है। मेरे पूर्व कार्यकाल में इसका कार्य स्वीकृत हुआ था पंरतु उसके बाद कार्य में विलंब हुआ। अब कार्य के‍ लिये नई टाइम लाइन निर्धारित कर दी गई है। 

मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को  सागर में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में लाखा बंजारा झील में चल रहे निर्माण कार्यों का निरीक्षण के दौरान निर्माण एजेंसी एवं संबंधित विभागों को निर्देश दिये कि लाखा बंजारा झील का कार्य नई टाइम लाइन अनुसार गुणवत्तापूर्ण किया जाए। 

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सागर अत्यंत प्राचीन और ऐतिहासिक नगर है। इसकी सारी आवश्यकताएँ पूरी करते हुए इसे आधुनिक स्वरूप देने के लिये लगभग एक हजार करोड़ रूपये के कार्य स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में स्वीकृत किये गये हैं। इनमें से कुछ कार्य प्रगतिरत हैं।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्राचीन सागर को लाखा बंजारा झील से 1.6 किलोमीटर के एलिवेटेड कॉरिडोर के माध्यम से जोड़ा जा रहा है। यह न केवल
बल्कि जनता को आवागमन की सुविधा भी देगा। इसे भविष्य में मेडिकल कॉलेज तक ले जाया जाएगा।

इस अवसर पर लोक निर्माण, कुटीर एवं ग्रामोद्योग मंत्री श्री गोपाल भार्गव, नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह, राजस्व एवं परिवहन मंत्री श्री गोविंद सिंह राजपूत, सांसद, विधायक एवं अन्य जन-प्रतिनिधि उपस्थित थे

Smart City Project Review-वर्ष 2019 में स्मार्ट सिटी मिशन में हुए कार्यों  में हुई अनियमितताओं की होगी जाँच

सागर वॉच
। 06 दिसम्बर 2021 मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि वर्ष 2019 में स्मार्ट सिटी मिशन में हुए कार्यों, उनके औचित्य, टेंडर प्रक्रिया, व्यय राशि तथा
की जाएगी। बैठक में जानकारी दी गई कि प्रदेश में 6 हजार 600 करोड़ रूपए राशि से 587 योजनाएँ संचालित हैं। 

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सभी सात शहरों में संचालित योजनाओं की वे स्वयं बिन्दुवार समीक्षा करेंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान मंत्रालय में स्मार्ट सिटी मिशन की समीक्षा बैठक को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने बैठक में कहा कि स्मार्ट सिटी मिशन में जनता की आवश्यकता और शहर की प्राथमिकता के अनुसार जन-प्रतिनिधियों और नगरवासियों की सलाह से कार्यों की प्राथमिकता तय होगी तथा उसके अनुरूप ही निर्माण कार्य संचालित किए जाएंगे।

स्मार्ट सिटी निर्माण में सौन्दर्यीकरण के स्थान पर उपयोगिता और जनता की सुविधा को प्राथमिकता बनाया जाएगा। कोई भी नया टेण्डर नहीं होगा और जो कार्य आरंभ नहीं हुए हैं उनकी समीक्षा की जाएगी। राशि का मितव्ययी और सही उपयोग सुनिश्चित किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि वे स्वयं सातों स्मार्ट सिटी भोपाल, इंदौर, जबलपुर, उज्जैन, ग्वालियर, सागर और सतना के जन-प्रतिनिधियों से संवाद करेंगे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि राज्य सरकार का उद्देश्य नगरीय विकास को नई दृष्टि देना है। बड़े शहरों के साथ मझौले और छोटे शहरों का नियोजन भी भविष्य की व्यवहारिक आवश्यकताओं के अनुसार किया जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि स्मार्ट सिटी मिशन के वित्तीय संसाधनों का उपयोग केवल स्मार्ट सिटी तक ही सीमित नहीं रहे। 

इसके वित्तीय संसाधनों का उपयोग संपूर्ण शहर के विकास में सुनिश्चित किया जाए। मूलभूत कार्यों के लिए स्मार्ट सिटी से नगर निगम या अन्य एजेंसियों को राशि हस्तांतरित करने में कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए। 

स्मार्ट सिटी मिशन को शहरों के विकास का इंजन बनाना है। मिशन में उपलब्ध संसाधनों का उपयोग संपूर्ण शहर के अधोसंरचना विकास में किया जाए, यह केवल सौन्दर्यीकरण तक सीमित न रहे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने भोपाल में बंद पड़े कैमरों और सागर के निर्माणाधीन लाखा बंजारा तालाब की धीमी प्रगति पर अप्रसन्नता व्यक्त की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि स्मार्ट सिटी मिशन, नगर निगम एवं पुलिस सहित नगरीय प्रबंधन से संबंधित विभिन्न एजेंसियों से बेहतर समन्वय सुनिश्चित करें।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि स्टार्टअप्स इंक्यूबेशन सेंटरों का प्रभावी संचालन सुनिश्चित किया जाए। स्टार्टअप्स की अवधारणा को युवाओं में उद्यमिता को विकसित करने के लिए औद्योगिक और तकनीकी संस्थाओं से आवश्यक सहयोग लिया जाए।

जानकारी दी गई कि स्मार्ट सिटी मिशन योजना के प्रथम चरण में जनवरी 2016 में भोपाल, इंदौर, जबलपुर, द्वितीय चरण में सितम्बर 2016 से उज्जैन, ग्वालियर और तृतीय चरण में जून 2017 से सागर और सतना को लिया गया है। 

इन सात स्मार्ट शहरों में प्रदेश की नगरीय आबादी की 34.8 प्रतिशत आबादी निवासरत है। मिशन में क्षेत्र आधारित विकास में मुख्य अधोसंरचना कार्य जैसे ठोस अपशिष्ट प्रबंधन और ट्रांसफर स्टेशन्स, जल प्रदाय, फ्लाई ओवर तथा ब्रिज, पार्क, उद्यान, खेल परिसर, ऊर्जा दक्ष लाईटिंग, पुरातत्व धरोहर संरक्षण में रिस्टोरेशन, लेक डेव्हलपमेंट के लिए कार्य किये जा रहे हैं। 

इसके अलावा  बायो मैथेनाइजेशन प्लांट, मल्टीलेवल पार्किंग व नॉन मोटराईज ट्रांसपोर्ट संबंधी कार्य किए जा रहे हैं। पैन सिटी के अंतर्गत संपूर्ण शहर के लिए एकीकृत कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सेंटर, इंटेलीजेंट ट्रेफिक मैनेजमेंट, स्टार्टअप इंक्युबेशन सेंटर, स्मार्ट क्लास रूम, स्मार्ट पोल जैसी गतिविधियाँ संचालित की जा रही हैं।

बैठक में स्मार्ट सिटी मिशन में ग्वालियर में सांस्कृतिक एवं पुरातत्व संग्रहालय, भोपाल की सदर मंजिल, ग्वालियर के टाउन हॉल, इंदौर की हरिराव होलकर छतरी एवं गांधी हॉल, ग्वालियर फोर्ट की फसाड लाइटिंग, उज्जैन के महाकाल मंदिर एवं निर्माणाधीन श्री महाकाल मंदिर परिसर, इंदौर की कान्ह नदी संरक्षण एवं सौन्दर्यीकरण परियोजना,  साथ ही जबलपुर के गुलउआ ताल, भोपाल के स्मार्ट पार्क, ग्वालियर की एनर्जी एफिशिएंट एलईडी स्ट्रीट लाइट, भोपाल के आर्च ब्रिज की चर्चा हुयी

बैठक में सागर के निर्माणाधीन फ्लाईओवर, भोपाल, इंदौर एवं उज्जैन के बायोमिथिनेशन प्लांट, भोपाल एवं इंदौर के अपशिष्ट ट्रांसफर स्टेशन, सौर ऊर्जा संयंत्र जबलपुर, इंदौर की छप्पन दुकानें, जबलपुर के खेल परिसर, उज्जैन के गणेश नगर स्मार्ट स्कूल, जबलपुर की मल्टीलेवल पार्किंग, भोपाल और इंदौर के स्टार्टअप्स इंक्यूबेशन सेंटर तथा ग्वालियर, जबलपुर और इंदौर में चल रहे इंटीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सेंटर की जानकारी दी गई।

स्मार्ट सिटी परियोजना की समीक्षा बैठक में नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस तथा अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Corona-Review-Meet-कोरोना-है-बहुरूपिया-वायरस-मुख्यमंत्री

सागर वॉच @
  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह  ने कोरोना को बहरूपिया बताया और कहा कि यह बहरूपिया वायरस है किसी भी रूप में असर कर जाता है। पता ही नही चलता। इसीलिए सख्ती जरूरी है अन्यथा तीसरी लहर घातक साबित होगी। यूपी और अन्य राज्यो की सीमाएं अभी सील रहेंगी। 31 मई के बाद प्रदेश को धीरे-धीरे खोलेंगें लेकिन सख्ती जारी रहेगी। 

कोरोना को लेकर सागर संभाग आयोजित संभागीय समीक्षा बैठक में उन्होंन अनलाॅक के पहले चरण में शादी-विवाह मेले-ठेले सभी शुरू होने का नतीजा दूसरी लहर में झेलना पड़ा। तीसरी लहर के मद्देनजर इनको ध्यान में रखकर खोलेंगे।  

Also Read: मुख्यमंत्री के खिलाफ मामला दर्ज कराने कांग्रेस पहुंची पुलिस थाने

उन्होंने कहा कि कोविड केयर सेंटर बन्द नही होंगे पूरे एक साल इनको चलाया जाएगा। चाहे सरकारी हो या निजी केयर सेंटर।  इसके अलावा तीसरी लहर से निपटने टेस्टिंग जारी रहेगी। संक्रमित मिलने पर माईक्रो कन्टेनमेंट बनाएंगे। 

उन्होंने कहा कि पोस्ट कोविड केयर ब्बेहद जरूरी है । हमे स्वस्थ्य हो चुके मरीजो की निगरानी करना होगी। ताकि उनको कोई बीमारी या साईड इफेक्ट तो नही हो रहे है। 

Also Read: Kill Corona Campaign- सागर जिले की सत्तर फीसदी पंचायतें हुईं कोरोना मुक्त

Read In- English I Hindi
News-In-Short

सागर वॉच /
सुरखी में होने वाले उप-चुनावों को लेकर क्षेत्र मे राजनैतिक गतिविधियां तेजी पकड़ती दिख रहीं हैं। इसी सिलसिले में सुरखी से कांग्रेस पार्टी की प्रत्याशी बनाईं गई पारूल साहू ने सोमवार को शहर के चुनिंदा पत्रकारों को चाय पर आमंत्रित किया। 

कांग्रेस प्रत्याशी की पत्रकरों से मुलाकात 

उन्होंने पत्रकारों को बताया कि वे  सुरखी की चुनावी जंग में जनता के भले के लिए उतर रही हैं। कांग्रेस प्रत्याशी के मुताबिक सुरखी की जनता के साथ धोखा हुआ है। उनकी लड़ाई जनता के साथ विश्वासघात करने वालों के खिलाफ है।

                            यह भी पढ़ें : प्रभारी-सीएम्ओ -बनकर-मौज-कर-रहें-हैं -लिपिक-लेखपाल

 उल्लेखनीय है पारूल साहू  अब तक दो बार पार्टी बदल चुकी हैं। सबसे पहले उन्होंने कांग्रेस छोड़कर भाजपा का दामन थामा और वर्ष 2013 मे सुरखी से भाजपा के टिकिट पर चुनाव लड़ी और जीत भी हासिल की। लेकिन अगली बार पार्टी ने उन्हें टिकिट ही नहीं दिया। अब एक बार फिर उन्होंने ने सुरखी से चुनाव लड़ने की तीव्र इच्छा के चलते कांग्रेस का दामन थाम लिया है।

राजस्व एवं परिवहन मंत्री का दौरा 

सुरखी विधानसभा  क्षेत्र से भाजपा के प्रत्याशी माने जाने वाले व प्रदेश के राजस्व व परिवहन मंत्री ने अपने विस क्षेत्र के राहतगढ़ का दौरा कर एक से ज्यादा विकास कार्यों की घोषणा की। इस दौरान उन्होंनें सड़कों, विभिन्न समाजों को सामुदायिक भवनों, शादी घर व खेल मैदान के निर्माण के लिए राशि की घोषणा भी की।

जिला कलेक्टर ने सुरखी के उपचुनाव की तैयारियों का लिया जायजा

जिला प्रशासन की टीम भी सोमवार को राहतगढ़ पहुंची। जहां जिले कलेक्टर विधानसभा के आगामी उप-चुनाव को लेकर प्रशासन द्वारा की  जा रहीं तैयारियों का जायजा लिया।

                             Read Also: After The Election She Will go To 3rd Party

इसी सिलसिले मे आयोजित बैठक मे उप जिला निर्वाचन अधिकारी ने तैयारियों के संबंध मे विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मतदान केन्द्रों के भौतिक सत्यापन, सेक्टर दलों का गठन, प्रथम स्तर पर ईव्हीएम की जांच, सुरक्षा बलों की तैनाती, वाहनों की व्यवस्था जैसी अहम काम कर लिए गए हैं ।

मुख्यमंत्री ने बीएमसी की चिकित्सकों से विडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये किया संवाद 

सोमवार को ही प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कोरोना योद्धा सेवा सम्मान कार्यक्रम के दौरान वीडियो संवाद के जरिए बुंदेलखंड चिकित्सा महाविद्यालय के चिकित्सकों से कोविड-19 महामारी से जूझने के दौरान के अनुभव साझा करने को कहा। 

इस सिलसिले में चिकित्सक मनीष जैन ने मुख्यमंत्री को विस्तार से बताया कि कोविड-19 महामारी से कारगर ढंग से निपटने के लिए प्रशासन, चिकित्सा महाविद्यालय व स्वास्थ्य विभाग के बीच बनाए गए तालमेल, मरीजों को बीमारी से लड़ने के दौरान हौसलाफजाई, परिजनों को अपने मरीजों का हालचाल जान सकने के लिए सहायता केन्द्र की शुरूआत व वीडियो काॅल पर बात कराने जैसी इंतजाम किए ।

               Read Also: Unsung Heroes- Aftaab Pledged to make country clean