Articles by "Bhupendra-Singh"
Bhupendra-Singh लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

Politics- निकाय चुनावों में भी कांग्रेस का हुआ सफाया -भूपेंद्र सिंह


सागर वॉच।
 मप्र के नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह का कहना है कि कि पंचायत चुनाव में भी कांग्रेस का सफाया हुआ है। उसी तरह निकायों में भी सफाया हो रहा है। 90 प्रतिशत परिणाम भाजपा के पक्ष में आए हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पर से लोगों का विश्वास उठ चुका है। हर व्यक्ति भारतीय जनता पार्टी की विचारधारा से प्रभावित होकर जुड़ रहा है। इसी का परिणाम है कि गांव और शहर में कांग्रेस का पराभव हो गया है।

मंत्री श्री सिंह ने बताया कि हर चुनाव की तरह नगरीय निकाय के अध्यक्ष  चुनाव में भी कांग्रेस चारों खाने चित हो गई है। 14 में से 13 नगरीय निकायों में अध्यक्ष पद पर भाजपा के अध्यक्ष निर्वाचित हुए हैं। कांग्रेस सिर्फ एक स्थान पर अपना अध्यक्ष बना सकी है। नगरीय निकाय चुनाव में भाजपा की एकतरफा जीत हुई है।  इस जीत पर  उन्होंने सभी अध्यक्षों को बधाई दी है। 

मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि यह गौरवशाली विजय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी और मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान जी के विकास और विजन की विजय है। मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा आने वाले दोनों चरणों में भी भाजपा का विजय अभियान इसी तरह जारी रहेगा और कांग्रेस का बुरी तरह से सफाया हो जाएगा। कई स्थानों पर कांग्रेस को प्रस्तावक समर्थक तक नहीं मिले। कई स्थानों पर भाजपा की निर्विरोध जीत हुई।


Political Update-मंत्री भूपेंद्र सिंह से भेंट कर युवाओं ने भाजपा की सदस्यता ली

 
सागर वॉच। गोपालगंज सागर से युवा टीम ने आज नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह से भेंट कर भाजपा की सदस्यता ग्रहण की।

पुनीत शर्मा व गौरव पांडे के नेतृत्व में भाजपा की सदस्यता लेने वाले युवाओं में प्रिंस तिवारी, तेजस भट्ट,  नीरज रैंकवार, प्रशांत राजपूत, मयूर गर्ग, नीतेश रैंकवार, गब्बर राजपूत, घनश्याम यादव, बलराम यादव, देव यादव, कुलदीप यादव, तनुज तिवारी, पीयूष तिवारी, शुभम तिवारी कई युवा शामिल हैं।

Crime Updates-कांग्रेस के राज में राजस्थान का तालिबानीकरण हो रहा: मंत्री भूपेंद्र सिंह

सागर वॉच।
नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह ने राजस्थान के उदयपुर में घटी नृशंस हत्या की वारदात पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि कि राजस्थान की कांग्रेस सरकार में तालिबानी और आईएसआईएस की मानसिकता का पोषण हो रहा है।


यहां जारी बयान में मंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा कि राजस्थान के कांग्रेसी शासन में तालिबानी और आईएसआईएस की कट्टरपंथी मानसिकता फलफूल रही है। उदयपुर में नुपूर शर्मा का समर्थन करने पर समुदाय विशेष के तत्वों ने जिस नृशंस तरीके से युवक कन्हैयालाल की गला रेत कर हत्या का वीडियो सार्वजनिक किया है उससे यह स्पष्ट हो गया है कि कांग्रेस के संरक्षण में देश, प्रदेश और समाज सुरक्षित नहीं है। इस वीभत्स घटना के हत्यारों को तत्काल ढूंढकर ऐसी सजा दी जाना चाहिए जो उदाहरण बन जाए।

Minister Reviews Smart City Project- लापरवाही बर्दाश्त नहीं खुद करेंगे कार्यों की समीक्षा-नगरीय विकास मंत्री

सागर वॉच।29 दिसम्बर 2021
नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह ने स्मार्ट सिटी के निर्माण कार्यों की समीक्षा में स्पष्ट रूप से निर्देश दिए कि अब किसी भी स्थिति में कोई भी लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी प्रत्येक दिन की प्रगति के वीडियो एवं फोटो उनके व्हाट्सएप नंबर पर प्रस्तुत किये जायेंगे। ताकि वो व्यक्तिगत रूप से भी कार्यों की समीक्षा करेंगे। इसके चलते कार्यों की प्रगति न मिलने पर जिम्मेदार अधिकारीयों व ठेकेदारों के खिलाफ कठोर कार्रवाई सुनिश्चित की जा सके। उन्होंने कहा कि काम के अनुसार भुगतान सुनिश्चित किए जाएंगे

इसी सिलसिले में नगरीय विकास मंत्री श्री सिंह ने कहा कि सभी निर्माण कार्य समय-सीमा में एवं गुणवत्तापूर्ण हो यह भी सुनिश्चित इसके लिए वो व्यक्तिगत रूप से प्रत्येक सप्ताह समस्त निर्माण कार्यों स्थल पर जाकर कार्यों की प्रगति देंखेंगे । उन्होंने कहा कि समस्त कार्यों के लिए आवश्यक स्वीकृतियां भी उपलब्ध कराई जा रही हैं और 24 घंटे कार्य किए जायेंगे।

समीक्षा बैठक में स्मार्ट सिटी के सीईओ राहुल सिंह राजपूत ने बताया कि सागर में स्मार्ट सिटी के माध्यम से 940 करोड रुपए की परियोजनाएं के तहत निर्माण कार्य किए जा रहे हैं। जिसमें 100 करोड़ रुपए की 15 कार्य पूर्णता की स्थिति में है। इसी प्रकार 450 करोड रुपए के कार्य चल रहे हैं एवं 200 करोड रुपए के कार्य निविदा स्तर पर हैं साथ ही सौ करोड रुपए के कार्य डीपीआर स्तर पर लंबित हैं। विश्वविद्यालय रोड और कामकाजी महिला छात्रावास का काम लगभग पूरा होने वाला है। एलिवेटेड कॉरिडोर का काम तेज गति से चल रहा है।

लाखा बंजारा झील कायाकल्प कार्यों में देरी बर्दाश्त नहीं

लाखा बंजारा झील कायाकल्प परियोजना के कार्यों की समीक्षा के दौरान मंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा कि किसी भी काम में कोई दिक्कत आ रही हो तो उन्हें बताएं, वे समस्या दूर करेंगे, लेकिन काम में देरी नहीं होना चाहिए। उन्होंने निर्देश दिए कि अधिकारी इन कार्यों की रोज प्रगति देखें। उनका ऑफिस भी इस कार्य की प्रतिदिन निगरानी करेगा।


पाइप बदले जाने के कारण सिविल लाइन में काम अटका

मंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा कि झील में नाला टेपिंग का काम इसी माह पूरा करें। इसके बाद 15 जनवरी तक अपशिष्ट उपचार संयंत्र का काम भी शुरू कर दें। स्मार्ट रोड परियोजना की समीक्षा के दौरान मंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा कि सिविल लाइन में पाइप लाइन बदले जाने के कारण देरी हो रही है इसके लिए वो स्वयं एमपीयूडीसी से बात करेंगे। उन्होंने कहा कि पीलीकोठी की घाटी की ढलान कम करने का प्रयास भी किया जाए।

देरी पर नाराजगी जाहिर की,एई को हटाने के निर्देश

मंत्री श्री सिंह ने संजय ड्राइव सडक निर्माण में देरी पर नाराजगी जाहिर की और संविदा पर तैनात एई को हटाने के निर्देश कलेक्टर श्री दीपक आर्य को दिए। उन्होंने सिटी स्टेडियम का काम अगस्त और खेल परिसर का काम मई माह तक पूरा करने के निर्देश दिए।

रेम्की कंपनी के कार्यों से मंत्री नाराज
ट्रांसपोर्ट नगर परियोजना की समीक्षा के दौरान मंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा कि रेमकी ने तीन माह के अंदर यहां पडा कचरा हटाने का आश्वासन दिया था, लेकिन डेढ साल बाद भी कचरा नहीं हटाया गया। उन्होंने रेमकी के अन्य कार्यों पर भी नाराजगी जताई और भोपाल स्तर से जांच कराने के निर्देश दिए।

समीक्षा बैठक में विधायक शैलेंद्र जैन, कलेक्टर श्री दीपक आर्य, नगर निगम कमिश्नर आरपी अहिरवार, स्मार्ट सिटी सीओ राहुल सिंह राजपूत सहित अन्य अधिकारी और इंजीनियर तथा स्मार्ट सिटी निर्माण कार्य में लगे निर्माण एजेंसियों की पदाधिकारी मौजूद थे।

Panchayat Election Update- निर्वाचन आयोग ने किये  पंचायत चुनाव निरस्त,  मंत्री ने कहा धन्यवाद

सागर वॉच। 28 दिसम्बर 2021 नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा पंचायत चुनाव निरस्त करने के फैसले का स्वागत करते हुए आयोग को इस निर्णय के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया है। मंत्री श्री सिंह ने इस फैसले के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह का आभार व्यक्त करते हुए कहा है कि मुख्यमंत्री ने केबिनेट की बैठक में अध्यादेश वापस लेने का निर्णय लिया जिसके बाद ही राज्य निर्वाचन आयोग की ओर से पंचायत चुनाव निरस्त किया जाना संभव हो सका। 

मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने यहां जारी बयान में कहा है कि सरकार का लक्ष्य ओबीसी वर्ग को 27 फीसदी  आरक्षण के साथ चुनाव कराने का है। इसके लिए सरकार सुप्रीम कोर्ट गई है। हमने समय मांगा है ताकि सारी बाधाओं को शीघ्रता से दूर किए जाने पर कार्य हो सके। जितनी भी संवैधानिक प्रक्रियाएं  हैं उन्हें पूरा करते हुए शीघ्र चुनाव कराने की कोशिश होगी जिसमें ओबीसी वर्ग के लिए 27 फीसदी  आरक्षण के साथ जनप्रतिनिधित्व मिल सकेगा।

Nal-Jal Yojna-खुरई विधानसभा क्षेत्र के करीब 500 गांवों तक पहुंचेगा शुद्ध पेयजल

सागर वॉच। 16 दिसम्बर 2021
 

खुरई विधानसभा क्षेत्र के गांवों में घर-घर तक नल के माध्यम से शुद्ध पेयजल पहुंचाने के काम को और गति मिल गयी है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में संपन्न कैबिनेट की बैठक में खुरई विधानसभा क्षेत्र के करीब 500 गांवों के लिए टोंटी से शुद्ध पेयजल पहुंचाने की परियोजना को स्वीकृत हो गयी है। परियोजना के अमल में 800 करोड़ से ज्यादा की लागत आएगी।

इस स्वीकृति के लिए खुरई से विधायक तथा मध्यप्रदेश के नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का आभार जताया एवं खुरई के लोगों को इसकी शुभकामनाएं दी हैं। इस तरह भूपेन्द्र सिंह के प्रयास से खुरई को अब एक और बड़ी सौगात मिलने  रास्ता साफ हो गया है। खुरई को इस सौगात के लिए श्री भूपेन्द्र सिंह ने अथक प्रयास किये। श्री सिंह लगातार इस दिशा में सक्रिय रहे एवं उनकी कोशिशों को अब मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने सफल कर दिया है।

भूपेन्द्र सिंह की कोशिशों के बाद अब खुरई विधानसभा में बहुत बड़ी ग्रामीण आबादी को पानी के लिए भटकने से राहत मिलेगी और उनके लिए साफ पानी का प्रबंध घर बैठे ही हो जाएगा। भूपेन्द्र सिंह जी के प्रयासों से यह खुरई के रहवासियों के लिए जल क्रांति के शुभारंभ का शुभ अवसर है।

खुरई विधानसभा क्षेत्र के जो गांव इस योजना का लाभ पाने जा रहे हैं,  उनमें रामछपरी, सेमरालोधी, खिरियाकलां, समसपुर, परसोन, अन्डेला, खटौरा, रौडा, हीरनछीपा, दुगाहाकलां, लालोई, उझनेठ, बिजरी, राडों मालगुजारी, नौधाना, चंद्रपुर, पिथोरिया, बांदरी करोली, मेहर, बेहरोल, खदेसरा, भारछा, परोदिया नैनागिर, ग्वारी, खरौसा, करैया गूजर, कठेली, मुकरामपुर, खजरा हरचंद्र, भीलोने, सिलोधा, घोरट, बगथरी पट्टी, सुमरेरी, बनहोत, गोलनी और गंभीरिया बुजुर्ग आदि प्रमुख रूप से शामिल हैं। 

आज स्वीकृत की गयी समूह जल प्रदाय योजना में खुरई के 323 तथा मालथौन के 234 गांव जोड़े जाने को मंजूरी दी गया है। इससे इन गांवों में रहने वाली आबादी को घर तक नल के माध्यम से जल सप्लाई का लाभ और जल्दी मिलने का रास्ता साफ हो गया है।



Smart-Working-Will-Make-Cities-Smart-परियोजना-की-राशि-बड़े-विकास-कार्यों-में-खर्च-हो-मंत्री

सागर वॉच। नगरीय प्रशासन एवं आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह ठाकुर का कहना है कि स्मार्ट सिटी में सीईओ के पद पर कार्यरत अधिकारी का सोच विकास आधारित होना चाहिए। स्मार्ट सिटी परियोजना का पैसा छोटे-छोटे कार्यों में खर्च करने की नीति उचित नहीं है, परियोजना की राशि बड़े विकास कार्यों में खर्च की जाना चाहिए.सागर के विकास के लिए एक साथ इतनी अधिक राशि मिलना आगामी कई वर्षों तक संभव नहीं हो सकेगा।

Also Read: समीक्षाओं में प्रगति की मीनारें तन रहीं हैं हकीकत में बदहाल है शहर

मीडिया से अनौपचारिक चर्चा के दौरान उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी सागर में चल रहे अधिकांश विकास एवं निर्माण कार्य आगामी विधानसभा चुनाव से पहले पूरे करा लिए जाएंगे.उन्होने कहा कि ऐसे में निर्माण कार्यो को पूरी गुणवत्ता और मजबूती के साथ कराया जाना चाहिए. 

मंत्री श्री सिंह ने कहा कि नगरीय निकाय चुनाव पर आरक्षण को लेकर जब तक हाई कोर्ट में मामला लंबित है तब तक चुनाव कराने के संबंध में कुछ भी कहना कठिन है. सरकार सभी पक्षों पर सोचकर निर्णय करेगी। 


सागर में राज्य स्तरीय विश्वविद्यालय खुलने की फिलहाल परिस्थितियां नहीं हैं सरकार के पास फिलहाल इस संबंध में कोई प्रस्ताव लंबित भी नहीं है यह बात नगरीय प्रशासन मंत्री भूपेंद्र ठाकुर ने कहीं उन्होंने कहा कि सागर में छत्रसाल विश्वविद्यालय छतरपुर का नोडल केंद्र शीघ्र प्रारंभ करने की पहल की जाएगी जिससे सागर में निवासरत विद्यार्थियों को छोटी-छोटी समस्याओं के निराकरण के लिए छतरपुर नहीं जाना पड़ेगा।

मंत्री सिंह ने कहा कि स्मार्ट सिटी में सीईओ के पद पर कार्यरत अधिकारी का सोच विकास आधारित होना चाहिए अधिकारी आईएएस होने मात्र से ज्यादा फर्क नहीं पड़ता प्रदेश में कई अन्य स्मार्ट सिटी में सीईओ के पद पर आईएएस अधिकारी है लेकिन वहां चल रहे काम संतोषजनक नहीं हैं।

Read In English I HindiLocal-Bodies-Yearning-for-CMOs-प्रभारी सीएम्ओ-बनकर-मौज-कर-रहें-हैं-लिपिक-लेखपाल

सागर वॉच। 26 सितंबर।
(अवनीश जैन ) / 
बुंदेलखंड के सागर संभाग के छह जिलों में स्थित पचास निकायों में मुख्य नगर पालिका अधिकारी के पद खाली पड़े हैं और प्रभारियों के भरोसे चल  रहे है. आलम यह है कि दमोह नगर पालिका और पथरिया नगर परिषद में तो पिछले चार वर्ष से एक उपयंत्री सीएमओ के प्रभार में .रह चुके हैं तो कहीं पर लिपिक तो कहीं पर लेखापाल प्रभारी सीएमओं बने बैठे है.

    नगरीय प्रशासन एवं विकास तथा आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह ठाकुर के गृह जिले की दस नगर पालिकाएं  मुख्या नगर पालिका अधिकारी पदस्थ नहीं  होने के चलते प्रभारियों के भरोसे चल रहीं हैं । जहाँ रहली नगर पालिका में मुख्य लिपिक कम लेखापाल नितिन नारायण पांडे के स्थान पर अजय गुमास्ता राजस्व उप निरीक्षक को प्रभार सौंपा गया है तो वहीँ नगर परिषद शाहपुर में उपयंत्री वीर विक्रम सिंह पौने दो वर्षों से सीएमओं के प्रभार में है।

 Read Also: Say No to Radium Cutter or else Police come

 दमोह जिले का हाल भी कुछ ऐसा ही है, वहां दमोह नगर पालिका में वर्षों से पदस्थ उपयंत्री कपिल खरे 8 नबंवर 2016 से प्रभारी सीएमओ के रूप में काम देख रहे है साथ ही  पथरिया नगर परिषद का भी काम देख रहे है हटा नगर पालिका में भी सुशील अग्रवाल प्रभारी सीएमओ के रूप में हैं 

पन्ना जिले में नगर परिषद अजयगढ़ में लेखापाल, नगर परिषद ककरहटी में सहायक राजस्व निरीक्षक, नगर परिषद अमानगंज और नगर परिषद पवई में राजस्व उपनिरीक्षक नगर पालिका चला रहे हैं 

       Read Also: कामकाज में कसावट लाने कोरोना नियंत्रण केंद्र पहुंचे कलेक्टर

 छतरपुर जिले में नगर पालिका नौगांव में राजस्व निरीक्षक तो नगर पालिका महाराजपुर में राजस्व उपनिरीक्षक सीएमओ के प्रभार में है. नगर परिषद हरपालपुर और गढ़ी मलहरा में सहायक ग्रेड 1 प्रभारी के रूप में काम कर है. नगर परिषद चंदला में राजस्व उपनिरीक्षक तो बारीगढ़ में राजस्व उपनिरीक्षक और राजनगर में सहायक राजस्व अधिकारी प्रभारी बने बैठे है.नगर परिषद खजुराहों में भी लेखापाल लखन तिवारी प्रभारी सीएमओ के रूप में कार्य देख रहे है. नगर परिषद बड़ा मलहरा में मुख्य लिपिक कम लेखापाल साहब बने बैठे हैं 

                     Read Also: After The Election She Will go To 3rd Party

टीकमगढ़ जिले में  घुवारा में राजस्व उपनिरीक्षक, बक्स्वाहा में सहायक ग्रेड 1 प्रभारी बने बैठे है. नगर परिषद कारी में स्वास्थ्य अधिकारी को मुख्य नगर पालिका अधिकारी का प्रभार दे दिया गया है. बड़ा गांव में राजस्व उपनिरीक्षक, खरगापुर में राजस्व उपनिरीक्षक, पलेरा में सहायक ग्रेड 2, जतारा में राजस्व उपनिरीक्षक, लिधौरा खास में सहायक ग्रेड 2, पृथ्वीपुर में राजस्व उपनिरीक्षक, निवाड़ी में राजस्व निरीक्षक, तरीकरचला में राजस्व उपनिरीक्षक और नगर परिषद ओरछा में राजस्व उपनिरीक्षक डेढ़ दो साल से मुख्य नगर पालिका अधिकारी के प्रभार में चल रहे है. बाकी नगर पालिकाओं और नगर परिषदों में लोकसेवा आयोग से चयनित मुख्य नगर पालिका अधिकारी पदस्थ हैं.

                Read Also: Unsung Heroes- Aftaab Pledged to make country clean

    मुख्य नगर पालिका अधिकारी के पद पर पदस्थापना न होने के कारण प्रभारी अधिकारियों की मनमानी आती रहती है. जिसका असर निकायों के विकास कार्यों पर भी पड़ता है और शासन की मंशानुरूप काम भी नहीं हो पाते हैं और निर्माण कार्यों में घटिया सामग्री की शिकायतों के चलते गुणवत्ता पूर्वक कार्य भी पूर्ण नहीं हो पाते है