Articles by "# District-Admin"
# District-Admin लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

Lakha-Banjara-Lake-हाई-कोर्ट-ने-कलेक्टर-से-झील-का-अतिक्रमण-हटाकर-रपट-पेश-करने-को-कहा

सागर वॉच, 
जबलपुर । उच्च न्यायलय ने एक जनहित याचिका की सुनवाई करते हुए शहर की लखा बंजारा झील की जमीन पर हुए अतिक्रमण को हटाने का नोटिस दिया है  नोटिस में अदालत ने जिला कलेटर से अगली सुनवाई से की तारिख 17 अगस्त से पहले अतिक्रमण हटाकर कार्रवाई के बारे में स्टेटस रपट के साथ हाजिर होने को कहा है 

Also Read: -लाखा बंजारा झील पर अवैध कब्ज़ा धारियों की अब आयी शामत

याचिकाकर्ता वकील जगदेव ठाकुर ने बताया कि शहर के मध्य स्थित सागर तालाब जिसे लाखा बंजारा झील के नाम से भी जाना जाता है। लगभग 400 एकड़ रकबे में फैले इस तालाब पर कई प्रभावशाली लोगों  एवं राजनेताओ का कब्जा हो गया है। उन्होंने उस पर पक्के मकान बना लिए है तथा कई लोगों द्वारा तालाब की जमीन पर अतिक्रमण करके खेती भी की जा रही है !उक्त तालाब लाखा बंजारा नामक बंजारे लगभग 500 से अधिक वर्ष पूर्व स्वयं की पूंजी से निर्मित किया गया था यह तालाब ऐतिहासिक  महत्व का है


सागर के तत्कालीन कलेक्टर विकास नरवाल द्वारा 2016 मे तालाब का नाप-जोख  कराया गया था तब तालाब की लगभग 30-32 एकड़ भूमि पर अवैध कब्जा पाया गया था लेकिन शासन प्रशासन राजनैतिक एवं प्रभावशाली लोगो के चलते अब तक  अतिक्रमण मुक्त करने की कार्यवाही नहीं कर सका । 


इस दिशा में  अब तक प्रशासन की ओर से कोई ठोस कार्रवाई नहीं होने पर उन्होंने अधिवक्ता रामेश्वर सिंह ठाकुर के माध्यम से जनहित याचिका दायर की, याचिका की प्रारम्भिक सुनवाई करते हुए मुख्य न्यायमूर्ति रफीक एवं विजय कुमार शुक्ला की युगल पीठ द्वारा कलेक्टर सागर, नगर निगम सागर, सागर स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट प्रबंधक को नोटिस जारी कर किए गए अतिक्रमण के समवंध मे स्टेट्स रिपोर्ट पेश करने का आदेश दिया गया है

प्रशासन को आगामी सुनवाई  17 अगस्त 2021 के पूर्व अतिक्रमण हटाकर सुनवाई के तारीख  के पूर्व स्टेट्स रिपोर्ट पेश करना होगी ! याचिकाकर्ता की ओर से पैरवी अधिवक्ता रामेश्वर सिंह ठाकुर द्वारा की गई।

Sagar-Collector-माफिया -के-खिलाफ-के-सख्त-करवाई-के-निर्देश-जारी

 सागर वॉच 
। 20 जुलाई 2021

जिला कलेक्टर ने शहर को माफिया मुक्त करने के लिए समस्त प्रकार के माफियाओं के खिलाफ  प्रभावी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही घरेलू गैस का उपयोग करने वाले  व्यावसायिक  प्रतिष्ठानों के खिलाफ अधिक से अधिक कार्यवाही कर  पुलिस प्रकरण बनाने के लिए कहा है। 

उन्होंने समस्त एसडीएम को स्पष्ट निर्देश दिए कि, प्रत्येक सप्ताह समस्त प्रकार के माफियाओं को चिन्हित कर उन पर आवश्यक कार्रवाई की जाए। साथ ही इस संबंध में समय सीमा बैठक में प्रतिवेदन भी प्रस्तुत करें।


कलेक्टर दीपक सिंह ने यह भी निर्देश दिए कि, आदतन अपराधियों की सूची बनाकर सुनियोजित तरीके से कार्यवाही करते हुए जिले को अपराध मुक्त किया जाए। उन्होंने मिलावट से मुक्ति अभियान के तहत मिलावटी खाद्य पदार्थों की जाँच की प्रक्रिया निरंतर जारी रखें और अधिक से अधिक नमूने लेकर कार्यवाही करें जिससे जिले को मिलावट से मुक्त किया जा सके।

कलेक्टर सिंह ने निर्देश दिए कि मिलावट से मुक्ति अभियान में छोटे और  बड़े मिलावट खोरों पर  आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत कार्यवाही व एफआईआर  कराना सुनिश्चित करने के आदेश दिए हैं।

Anti-Encroachment-Drive-तीनबत्ती-से-राधा-तिराहे-तक-सड़क-किनारे-दूकान-लगाने-वालों-की-अब-खैर-नहीं

सागर वॉच।
सोमवार को शहर के ह्रदयस्थल तीनबत्ती से कटरा यातायात चौकी तक 
मुख्य सड़क दोनों किनारों  पर जमीन पर दूकान लगाने वालो एवं अमानक पाॅलीथीन का उपयोग करने वाले दुकानदारों के खिलाफ चालानी कार्यवाही की गई ।

जिला प्रशासन और नगर निगम की इस संयुक्त कार्रवाई में सड़क किनारे दूकान लगाने वाले व्यवसाईयों को ताकीद किया गया है की यातायात व्यवस्था की सुगम के लिए यह कार्रवाई निरंतर जारी रहेगी 


गौरतलब है कि  जिला कलेक्टर द्वारा 4 जुलाई को शहर की यातायात व्यवस्था की सुगमता की दृष्टि से  गौरमूर्ति से राधा तिराहा, जय स्तंभ से विजय टाकीज, मस्जिद से गौरमूर्ति  तक सड़क के किनारे हाथ ठेला पर फल, सब्जी विक्रय करने वाले दुकानदारों को  पुरानी सब्जी मंडी में  और इस क्षेत्र के जूते, चप्पल, मनहारी एवं अन्य दुकानदार जो फुटपाथ पर रखकर अपना व्यवसाय करने वालों को साबूलाल मार्केट के अंदर व्यवस्थित बैठकर वहाॅ व्यवसाय करने के निर्देश  जारी किये गए थे। 

साथ ही यह भी कहा गया था कि 10 जुलाई तक की दी गयी समय सीमा के बाद यदि कोई दुकानदार सड़क पर सामग्री रखकर व्यवसाय करते हुये पाया जायेगा तो उसके विरूद्व निगम द्वारा हटाये जाने की कार्यवाही की जायेगी।  

pollution spreading vehical to be prohibited

सागर वॉच। 
कमिश्नर मुकेश शुक्ला ने सागर जिले में 120 पेट्रोल पम्पों में से केवल 8 में पीयूसी स्थापित होने पर परिवहन विभाग के प्रति नाराजगी जाहिर की है।

उन्होंने नगर की वायु गुणवत्ता खराब कर रहे  15 वर्ष पूर्ण करने वाले आटो, बसों आदि वाहनों के सम्बन्ध में कहा कि  ये वाहन अधिक धुआ छोड़ते है और वायु प्रदूषित करते है। इन पर  प्रतिबन्ध लगाया जाये । इसके अलावा  उन्होंने-ई रिक्शा  को प्रोत्साहित करने, सभी वार्डों में सड़क किनारे धूल नियंत्रण के लिये पेवर ब्लॉक लगाने, वृक्षारोपण करने के निर्देश दिये।

Also Read: -लाखा बंजारा झील पर अवैध कब्ज़ा धारियों की अब आयी शामत

उन्होंने जिला आपूर्ति अधिकारी से कहा कि कोयला सिगडी वालों को गैस कनेशन के लिये प्रोत्साहन करें। जिला आपूर्ति अधिकारी श्री वाय कर ने बताया कि सागर जिले में अभी तक 2 लाख 80 हजार उज्जवला गैस के कनेशन  दिये जा चुके हैं। चाय दुकाने, होटल, रेस्टोरेंट आदि में लकड़ी, कोयले का उपयोग न हो। इन स्थानों पर व्यवसायिक एलपीजी गैस का उपयोग हो। उन्होंने एआरटीओ को   दिये कि सभी पेट्रोल पम्पों पर पीयूसी स्थापित किये जाये। उन्होंने आरटीओ के प्रति नाराजगी व्यक्त की।

कमिश्नर शुक्ला ने वायु गुणवत्ता सुधार के लिये आगामी तीन दिनों में स्मार्ट सिटी कार्यालय में प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, स्मार्ट सिटी सीईओ, नगर निगम आयुक्त, यातायात, उप-अधीक्षक फुड, आरटीओ, आदि अधिकारियों के साथ बैठक कर माइक्रो प्लान बनाने के निदश दिय। उन्होंने ईट भट्टों की भी जानकारी ली। 

Also Read: Health Bytes-सहज प्रसव में तन के साथ मन की तंदरुस्ती भी अहम होती है-डॉ गढ़पाले

उन्होंने बहु-स्तरीय पार्किंग के संबंध में निदश दिये। भोपाल से आई केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारी डाक्टर रानू चैकसे ने बताया कि जिस प्रकार अभी स्वच्छता सर्वे किया जाता है। उसी प्रकार आगामी माहों में वायु गुणवत्ता के संबंध में भी सर्वे किया जायेगा।

बैठक में नगर निगम आयुक्त आरपी अहिरवार, केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड भोपाल से डाक्टर रानू चैकसे, क्षेत्रीय अधिकारी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड व्हीएस राय, स्मार्ट सिटी मुख्य कार्यपालन अधिकारी  राहुल सिंह राजपूत, अधीक्षण यंत्री पीडब्ल्यूडी,उप पुलिस अधीक्षक यातायात, जिला आपूर्ति अधिकारी, एआरटीओ आदि मौजूद थे। 

National-Green-Tribunal --लाखा-बंजारा-झील-पर-अवैध-कब्ज़ाधारियों-की-अब-आयी-शामत

सागर वॉच।
 राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण की भोपाल स्थित सेंट्रल जोन बैंच सागर शहर की लाखा बंजारा झील के सीमांकन कराने का आदेश जिला प्रशासन को दिया है
। प्राधिकरण ने यह निर्देश फरियादी जाया ठाकुर के आवेदन के मद्देनजर दिए हैं

अधिकृत जानकारी के मुताबिक  राष्ट्रीय  हरित  प्राधिकरण के आदेश के पालन में कलेक्टर सागर ने 25 जून 2021 के द्वारा लाख बंजारा झील ( सागर तालाब ) का टी0एस0एम0 मशीन से सीमांकन कर नक्शा सहित प्रतिवेदन प्रस्तुत करने हेतु अधिकारियों और कर्मचारियों का दल गठन किया गया है।

Also Read: Health Bytes-सहज प्रसव में तन के साथ मन की तंदरुस्ती भी अहम होती है-डॉ गढ़पाले

इस सिलसिले में नजूल अधिकारी सागर आदित्य शर्मा ने बताया कि गठित दल द्वारा सीमांकन का कार्य 7 जुलाई से कार्य समाप्ति तक किया जा रहा है। सभी सम्बन्धित लोगों को सूचना भेजी जा चुकी है कि लाख बंजारा झील (सागर तालाब) के समीप बने भूमि, भूखंडो में काबिज या निवासरत या हितबद्व पक्षकार सीमांकन के समय उपस्थित रहकर सीमांकन में सहयोग करें एवं अपने अपने स्वत्व संबंधी दस्तावेजों की छायाप्रति सीमांकन दल के अधिकारी और कर्मचारियों को प्रस्तुत कर सकते है। सूचना उपरांत अनुपस्थिति की दशा में एक पक्षीय सीमांकन कर प्रतिवेदन प्रस्तुत किया जायेगा।  


गौरतलब है कि जिला प्रशासन की ओर से समिति गठित कर निम्नानुसार क्षेत्र का सर्वेक्षण, सीमांकन करने, झील, जल निकाय के उपलब्ध सबसे पुराने रिकार्ड के आधार पर वास्तविक माप का सीमांकन करने के निर्देश दिये गये है। साथ ही अतिक्रमण के तहत् वास्तविक क्षेत्र की रिपोर्ट प्रस्तुत करने हेतु आदेशित किया गया है । सीमांकन में कई बड़े दिग्गजो के मकान में तालाब में बने है। लम्बे समय से इनको हटाने की बात चल रही है।  

Virtual-Job-Fair-जिले-के-युवाओं-के-लि- एक-से-पांच-जुलाई-तक-लगेगा-रोजगार-मिला

सागर वॉच@
 जिले के युवाओं को अधिक से अधिक से रोजगार दिलाने के मकसद से 
एक से पांच  जुलाई तक वर्चुअल रोजगार मेला का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें मध्यप्रदेश  और गुजरात की कंपनियां ऑनलाईन साक्षात्कार लेकर पात्र युवाओं का चयन करेंगी।

रोजगार उप संचालक डा. नागवंशी ने बताया कि लाईन ऑपरेटर, तकनीशियन, सुरक्षा गार्ड, सुपरवाईजर एवं टेक्सटाईल प्रशिक्षक के पद पर 18 से 45 वर्ष की आयु के अलग-अलग कक्षा 5वीं से स्नातक एवं आईटीआई योग्याताधारियों का चयन करेंगी। वेतन अलग-अलग योग्यातानुसार रहेगा।


उन्होंने बताया कि दोपहर 12 से 2 बजे तक मदरसन एमएस इंटरप्राइजेस पीथमपुर एक जुलाई को वाट्सअप लिंक https://chat.whatsapp.com/ELM2hqaIeWM6stCRVYHmUQ   पर यशस्वी एकेडमी प्रबंधन पीथमपुर 2 जुलाई को वाट्सअप  https://chat.whatsapp.com/DK8CTaxngqg40KnMn4VD6p   पर, 

3 जुलाई को बलाशोर इंडिया लिमिटेड अंजार गॉंधी नगर धाम गुजरात वाट्सअप लिंक  https://chat.whatsapp.com/H27TjjEPOERJ6zCxeaPPod   पर 

एवं 5 जुलाई को वर्धमान यार्न मण्डीद्वीप भोपाल वाट्सअप लिंक https://chat.whatsapp.com/EnzI16WXFJg7GtaKKEgMIN   से जो आवेदक ज्वाईन करेंगे उन्हें साक्षात्कार हेतु अलग से एक घंटे पहले लिंक दी जाएगी।

  
नागवंशी की मुताबिक  सागर जिले के योग्यताधारी आवेदकों से अनुरोध है कि अधिक से अधिक संख्या में आभासी रोजगार मेला  साक्षत्कार में भाग लेने हेतु दी गई वाट्अप लिंक पर ज्वाईन करें। जो दी गई वाट्अप लिंक पर ज्वाईन करेगें उन्ही आवेदकों को साक्षात्कार में सम्मिलित किया जा सकेगा।  

Also Read:  India Smart City Contest 2020- सागर स्मार्ट सिटी को मिला देश में दूसरा स्थान

सागर वॉच @ 
स्मार्ट सड़क गलियारा ( Smart Road Corridor) की समीक्षा बैठक में  एस आर-2 तिली तिराहे से सिविल लाइन मार्ग के प्रगतिरत कार्यों में आ रही तकनीकी समस्याओं को सुलझाने  के लिए संबंधित विभागों के अधिकारियों एवं इंजीनियरों स्मार्ट रोड के बेहतर निर्माण कार्य को समय सीमा में पूर्ण करने के निर्देश दिये। साथ ही स्मार्ट रोड कॉरिडोर के कामकाज में तेजी लाने के लिए  मशीनों व मानव क्षमता  बढ़ाने के मुद्दे पर भी चर्चा हुयी ।

Also Read: Smart Initiative -शहर के हर इलाके में आकार ले रहे हैं स्मार्ट पार्क और क्रीडा स्थल

स्मार्ट रोड कोरीडोर के वर्तमान में चल रहे कार्य के साथ-साथ स्मार्ट रोड फेस-2 अंतर्गत शहर को अन्य शहरों से जोड़ने वाली सड़कों के विकास व  उन सड़कों पर साईकिल पथ, फुटपाथ, सुसज्जित लाईट एवं अन्य स्मार्ट घटकों के निर्माण के सम्बन्ध में भी निर्देश दिये गये। इसी सिलसिले में शहर की सड़को पर रौशनी  व्यवस्था में सुधार करने के लिए ऊर्जा-किफायती प्रकाश खम्बों  के साथ-साथ सौर ऊर्जा संयंत्र को स्थापित करने हेतु विस्तृत परियोजना रपट तैयार किया जाना है 

सागर स्मार्ट सिटी लिमिटेड कार्यालय के सभाकक्ष में जिला कलेक्टर सह अध्यक्ष सागर स्मार्ट सिटी लिमिटेड दीपक सिंह की अध्यक्षता में समीक्षा बैठक संपन्न हुई। कलेक्टर  ने सागर स्मार्ट सिटी लिमिटेड द्वारा सागर शहर में विकसित की जाने वाली विभिन्न परियोजनाओं के प्रगतिरत कार्यों की समीक्षा कर तेजी से गुणवत्तापूर्ण कार्य पूरा करने हेतु निर्देशित किया। 


उक्त बैठक में निगमायुक्त सह कार्यकारी निदेशक श्री आर. पी. अहिरवार, सागर स्मार्ट सिटी के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री राहुल सिंह राजपूत, कार्यपालन यंत्री अभिषेक सिंह राजपूत, सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

New-In-Short-आज -से-बाज़ार-खुलेगा-पर-रात्रिकालीन-कर्फ्यू-जारी-रहेगा

सागर वॉच @  
कल से सागर  का बाजार खुलेगा। लोगों को घरों से बाहर आने-जाने की अनुमति होगी। बाजार सुबह छः बजे से शाम छः बजे तक खुले रहेंगें। लेकिन रात दस बजे से सुबह छः तक का रात्रिकालीन कर्फ्यू  बदस्तूर जारी रहेगा। रविवार की पूर्ण बंदी भी जारी रहेगी। 

जिले में भीड़ बढ़ाने वाले सार्वजनिक आयोजनों पहले की तरह प्रतिबंधित रहेंगें। किसी भी दुकान पर दुकानदार और ग्राहकों कोई भी लेन देने केवल दोनों के मास्क पहने होने की स्थिति में होगा। शादी समारोहों में दोनों पक्षों से अधिकतम बीस लोगों व अंतिम सस्कार में अधिकतम दस लोगों की उपस्थिति की अनुमति होगी। सभी प्रतिबंध पांच जून से सोलह जून तक प्रभावी रहेंगें।

Also Read: नेस्ले कंपनी ने खुद माना मैगी नूडल्स सेहत के लिए ठीक नहीं

सागर शहर के लिए जल्द ही एक बाईपास मार्ग की सुविधा मिल सकती है। इस सिलसिले में नगर के विधायक ने प्रदेश के लोक निर्माण विभाग के मंत्री से चर्चा की। चर्चा में बताया गया कि सागर शहर की सीमा के समानांतर लगभग 118 करोड़ की राशि से बनने वाला यह मार्ग  18 किमी लंबा, 17 मीटर चैड़ा होगा। 

प्रस्तावित बाईपास मार्ग बमोरी तिराहे से प्रारंभ होकर पथरिया जाट नवीन आरटीओ के पीछे की पहाड़ी चढ़ते हुए कनेरा देव मशान झिरी, आमेट रजौआ बदौना होते हुए भोपाल रोड स्थित महर्षि विद्या मंदिर यहां जुड़ जाएगा। 

 How-to-get-Vaccination-Jab-कोविन-वेबसाइट-पर-स्व-पंजीयन-कर-के-करें-टीकाकरण-केंद्र-का-चयन


सागर वॉच  / 9 मई 2021@ जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. एस.आर..रोशन के मुताबिक  कि 18 वर्ष से ऊपर वाले युवाओं को सर्वप्रथम सेल्फ रजिस्ट्रेशन पोर्टल पर जाये यहाँ रजिस्ट्रेशन का विकल्प होगा आपको अपना मोबाइल नंबर दर्ज करें और गेट-ओटीपी पर क्लिक करना होगा। आपके मोबाईल नंबर पर ओटीपी का मैसेज आएगा तत्काल वापस भेजते ही नया पेज खुलेगा यहाँ आपको अपनी व्यक्तिगत ब्यौरा  भरना  है कोई एक विकल्प चुनकर शासन द्वारा मान्य आईडी (आधार, पेन कार्ड, वोटर आई इत्यादि) नंबर डालना है फिर नाम, लिंग, जन्मतिथि भरनी होगी इसके बाद अपने नजदीकी कोविड वैक्सीनेशन सेंटर चुनने का विकल्प आयेगा सेंटर चुनने के बाद आप अपनी सुविधा अनुसार उपलब्ध स्लॉट चुन सकते है ।

Also Read: नयी दवा मरीजों को बाहर से ऑक्सीजन देने की निर्भरता को कम करती है

स्लॉट बुक होने पर आप टीकाकरण केन्द्र पर जाकर टीका लगवा सकते है स्लॉट निश्चित संख्या में बुक होने के बाद बंद हो जाता है असुविधा से बचे यदि आपका स्लॉट बुक हो गया है और आप ने टीका नहीं लगवाया तो आपको पुनः स्लॉट बुक करने की प्रक्रिया दोहराना होगी तत्पश्चात् टीका लगवा सकते है।

45 वर्ष से अधिक आयु के हितग्राही टीकाकरण केन्द्र पर टीका लगवाने हेतु आवश्यक दस्तावेजों के रूप में आधार कार्ड अथवा कोई भी शासकीय पहचान पत्र साथ लेकर अवश्य आयें । टीकाकरण सत्र स्थल पर भी पंजीयन करा सकते है। ऐसे वरिष्ठ नागरिक जो अपना पंजीयन स्वयं नहीं कर सकते वह जनसुविधा केन्द्र या कॉमन सर्विस सेंटर पर जाकर भी अपना पंजीयन करा सकते है ।


टीकाकरण केन्द्र जहाँ टीका लगाये जावेगे ग्रामीण क्षेत्रों में - 18 वर्ष से 44 वर्ष के हितग्राहियों का टीकाकरण स्थल सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बण्डा, शाहगढ़ एवं रहली ,सिविल अस्पताल खुरई, बीना ।

सागर शहरी क्षेत्र अंतर्गत 
  • पण्डित रविशंकर शुक्ल उ.मा.शाला मोतीनगर
  • एम.एल.बी. स्कूल क्रमांक 1 बस स्टेण्ड के पास, पुलिस लाईन सागर ।

45 वर्ष से अधिक आयु के हितग्राहियों का टीकाकरण निम्न स्थलों पर संचालित किया जावेगा - 

सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र रहली, बण्डा, देवरी, केसली, जैसीनगर, शाहगढ़, शाहपुर, राहतगढ़, मालथौन, सिविल अस्पताल खुरई, बीना ।

सागर शहरी क्षेत्र अंतर्गत 
  • एम.एल.बी.स्कूल क्रमांक 1 बस स्टेण्ड सागर, 

  • हुलासी राम मुखारया स्कूल सदर बाजार, 

  • आर्ट एण्ड कॉर्मस महाविद्यालय तहसीली, 

  • पीटीसी ग्राऊड पीली कोटी के नीचे ड्राईव रन कोविड वैक्सीनेशन सांय 4 बजे से 7 बजे तक स्वयं के वाहन मे ही वैक्सीनेशन होगा।

Also Read: आयुष्मान कार्ड पर पर निजी अस्पतालों में मुफ्त होगा कोरोना का इलाज

कोविड-19 का टीका पूर्ण सुरक्षित है स्वयं लगवायें परिवार के सदस्यों को लगवायें अन्य परिचितों को प्रेरित कर कोविड-19 का टीका अवश्य लगवायें टीकाकरण केन्दों्र पर सोशल डिस्टेसिंग का पालन अवश्य करें कोरोना के संक्रमण से स्वयं बचे।

 टीकाकरण पश्चात 30 मिनिट वेटिंग रूम में अवश्यक रूकें टीका लगवाने के पूर्व कुछ खाकर अवश्य आये, साथ ही कोविड - 19 गाईड लाईन का पालन अवश्यक करें । मॉस्क पहने, हाँथ धोते रहें, अनावश्यक घर से बाहर न निकले, दो गज की दूरी अवश्यक बनाये रखें । 

शासकीय स्वास्थ्य संस्थाओं में टीकाकरण की सुविधा निःशुल्क है । और अधिक जानकारी के लिए टोल फ्री नंबर 1075 पर संपर्क कर सकते है।

 Also Read: Get Covid-19 Test Report Online-मप्र में कोरोना टेस्ट की रपट मिलेगी घर बैठे

सागर वॉच @ 
जिला प्रशासन के जांच दल को शहर के निजी अस्पतालों में इलाज के लिए तय दरों से ज्यादा राशि वसूलने व ऑक्सीजन  सिलेंडर की की ढुलाई मरीज के परिजनों से कराने जैसी अनियमितताएं मिली हैं। जांच में शहर के जाने-माने चार निजी अस्पतालों में अनियमितताएं  पायीं गयीं हैं । जिला प्रशासन  उचित  जवाब नहीं दिए जाने पर इन अस्पतालों के खिलाफ कठोर कार्रवाई कर सकता  है ।

Also Read: एक टैंकर से दूसरे टैंकर ऑक्सीजन की पलटी, विधायक ने जताई चोरी की आशंका

 गाइडलाइन के मुताबिक इलाज ना करने की शिकायतें प्राप्त होने पर तत्काल कार्रवाई करते हुए कलेक्टर  दीपक सिंह ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के नेतृत्व में एक दल बनाकर जाँच कराई। कलेक्टर के मुताबिक शहर के कुछ निजी चिकित्सालयों द्वारा निर्धारित कीमतों से अधिक राशि वसूलने, ऑक्सीजन सिलेंडर शिफ्ट करने एवं अन्य शिकायतें प्राप्त होने पर तत्काल कार्रवाई करते हुए संबंधित निजी चिकित्सालयों की मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुरेश बौद्ध , डॉ विपिन खटीक,  डॉ एम.एल.जैन एवं अन्य डॉक्टरों के दल ने शनिवार को निजी चिकित्सालयों में पहुँचकर बिंदुवार जानकारी प्राप्त कर शिकायतों की जांच की। 

Also Read: आयुष्मान कार्ड पर पर निजी अस्पतालों में मुफ्त होगा कोरोना का इलाज

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुरेश बौद्ध ने बताया कि चिरंजीवी नर्सिंग होम रहातगढ बस स्टेण्ड का निरीक्षण किया गया । जिसमें पाया गया कि नर्सिंग होम संचालक द्वारा मरीज के परिजनों से आक्सीजन सिंलेंडरों को शिफ्ट कराया जा रहा था जबकि यह कार्य अस्पताल के वार्ड बॉय या स्टॉफ द्वारा कराया जाना चाहिये । नर्सिंग होम के संचालक डॉक्टर तौमर को बुलाये जाने पर वह एक घंटे तक उपस्थित नहीं हुये।

इसी प्रकार सागर श्री अस्पताल मकरोनिया का दल द्वारा निरीक्षण किया गया निरीक्षण दौरान डॉ.शैलेन्द्र मिश्रा ने बताया कि  नर्सिंग होम द्वारा अत्याधिक चार्ज लिया जा रहा हैं जिसमें डॉ.मिश्रा को सम्पूर्ण बिल सहित सीएमएचओ कार्यालय में उपस्थित होने की सलाह दी गई ।ताकि नर्सिग होम की जाँच सुनिश्चित की जा सके।

Also Read: नहीं मिला राजघाट के पानी में कोरोना का संक्रमण-विधायक

इसी क्रम में सुयश नर्सिंग होम रजाखेडी  मकरोनिया का दल द्वारा निरीक्षण किया गया जिसमें मरीजों की ओपीडी में अधिक संख्या एवं भीड़भाड़ पाई गई। इसी प्रकार पटकुई बरारू ग्राम में संचालित सुकृति नर्सिंग होम का दल द्वारा निरीक्षण किया गया। जिसमें डाक्टर एवं सिस्टर का डयूटी चार्ट नहीं पाया गया और बायोमेडीकल वेस्ट का सही निष्पादन नहीं किया जा रहा था।

उक्त 04 निजी नर्सिंग होम के संचालकों को नर्सिंग होम में पाई गई अनियमिताओं के संबंध में नर्सिंग होम एक्ट के तहत कारण बताओं नोटिस जारी किये गये हैं । सभी नर्सिंग होम के संचालको द्वारा संतोषजनक उत्तर प्राप्त न होने की स्थिति में संबंधित के लाईसेंस निरस्त किये जायेगें एवं वैधानिक कार्यवाही की जाएगी। 

Also Read: Get Covid-19 Test Report Online-मप्र में कोरोना टेस्ट की रपट मिलेगी घर बैठे

News-In-Short-कोरोना-कर्फ्यू-के-दौरान-दस-लोगों-की-मौजूदगी-में-घर-पर-ही-हो-सकेंगे-विवाह

 सागर वॉच @
जिले में कोरोना 
कर्फ्यू  की अवधि एक बार फिर बढाकर   8 मई को प्रातः 6 बजे तक के लिए कर दी  गई है। कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट दीपक सिंह द्वारा दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के तहत जारी इस आदेश में सभी प्रकार की गतिविधियों व आयोजनों के लिए लोगों के  एकत्रित होने पर  17 मई को प्रातः 6 बजे तक के लिए पूरी तरह से रोक लगा दी है। 

आदेश में पहले की तरह केन्द्र व राज्य सरकार के अति-आवश्यक  व आपातकालीन सेवाएं देने वाले विभागों के कर्मचारियों को इन प्रतिबंधो से छूट रहेगी। शेष विभागों में केवल 10 फीसदी कर्मचारियों के साथ काम होगा। 

Also Read: 18+Vaccination Drive- Get yourself Registered Before getting Vaccine Sho

शहर में सब्जी की खरीद-फरोख्त  एनसीबी स्कूल खेल परिसर के बाजू में , दीनदयाल नगर स्थित केन्द्रीय विद्यालय क्रमांक -2 के सामने वाला मैदान , खुरई रोड स्थित गल्ला मण्डी का प्रांगण नं .- 2 में  प्रातः 7 बजे से 9 बजे तक खुलेगी ।  लेकिन यहां सब्जी के थोक विक्रेता केवल खुदरा सब्जी, फल विक्रय करने वाले विक्रेताओं को ही विक्रय करेगे ।

कोरोना  कर्फ्यू  की अवधि में  पूर्व से निर्धारित विवाह विवाह, निकाह कार्यक्रम बिना बारात, महज दस लोगों की मौजूदगी में  घर पर ही हो सकेंगें।  इस प्रकार के  वैवाहिक कार्यक्रम में कोई बाहरी व्यक्ति आमंत्रित नहीं किये जा सकेगें । सामूहिक भोज का कार्यक्रम भी नहीं होगा । 

Also Read: Covid To Cowin-After recovery no hard work for at least six month

 Read In English -English   
Congratulation-सागर-ने-जीता-दीनदयाल-उपाध्याय-पंचायत-सशक्तीकरण-पुरस्कार

सागर वॉच @
प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी  ने  देशभर से  उत्कृष्ट  पंचायतों  की प्रतिस्पर्धा में  भाग लेने वालीं  74000 पंचायतों  में  से  पुरस्कार के लिए चुनी गयीं 313 पंचायतों  को   पुरस्कार  कि राशि  वर्चुअल  बटन दबाकर ट्रांसफर की।  

इसी  प्रतिस्पर्धा में सागर    जिला पंचायत को उत्कृष्ट कार्य हेतु पं. दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरूस्कार के साथ 50 लाख की राशि सीधे  प्राप्त हुयी । 

पुरूस्कार प्राप्त करने के लिये सागर जिला मुख्यालय पर जिला पंचायत की अध्यक्ष  दिव्या अशोक सिंह बामोरा, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत डाॅ. इच्छित गढ़पाले , अशोक  सिंह बामोरा,   जय गुप्ता जिला तकनीकी विशेषज्ञ उपस्थित रहे।

Also Read: Real Life Hero-Woman doctor travel 180 km from scooty to do Covid duty

 गौरतलब है कि पंचायतीराज दिवस 24 अप्रैल को भारत सरकार द्वारा 5 श्रेणियों में पुरूस्कार ग्राम पंचायतों, जिला पंचायतों को प्रोत्साहन हेतु प्रतिवर्ष दिये जाते है। जिसमें पं. दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरूस्कार, जीपीडीपी पुरूस्कार, बाल हितैषी पंचायत पुरूस्कारी, नानाजी देशमुख पंचायत सशक्तिकरण पुरूस्कारी, ई पंचायत पुरूस्कार की ये पांच श्रेणियों में उनके कार्यो के मूल्यांकन के आधार पर होता है।

वर्चुअल कार्यक्रम में केन्द्रीय पंचायतीराज मंत्री  नरेन्द्र सिंह तोमर, माननीय मुख्यमंत्री म.प्र. शासन एवं समस्त राज्यों के माननीय मुख्यमंत्री की मौजूदगी में संपन्न हुआ। कार्यक्रम संपूर्ण भारत से लगभग 5 करोड़ लोगों ने ऑनलाइन देखा। पुरूस्कार प्राप्त होने परं कलेक्टर  दीपक सिंह जिला पंचायत की अध्यक्ष  दिव्या अशोक  सिंह एवं मुख्य कार्यपालन अधिकरी जिला पंचायत डाॅ. इच्छित गढ़पाले द्वारा पंचायतीराज के जिले के समस्त जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारी कर्मचारियों को दी बधाई।

Also Read: Top-officials-took-immediate-steps-to-tighten-BMC-Management

Covid-Care-Center-सागर-के-हर-विकासखंड-में-शुरू --होगा-कलेक्टर

सागर वॉच ।
समाचार संक्षेप 

 तीन माह का राशन मुफ्त

राज्य शासन  कोविड संक्रमण के दौर में गरीबों को तीन माह का राशन मुफ्त देगा। यह राशन पात्र हितग्राहियों को राशन की उचित मूल्य की दुकानों से बिना बायोमीट्रिक सत्यापन के मिलेगा।

प्रमुख सचिव, खाद्य फैज अहमद किदवई के मुताबिक कोरोना संक्रमण के दौर में भौतिक दूरियों को बरकरार रखने के चलते यह राशन अपैल, मई व जून माह के लिए बांटा जा रहा है।

इसी सिलसिले में वृद्ध व निःशक्त जनों को भी आशीर्वाद योजना के तहत मुफ्त राशन दिया जाएगा। यह राशन सीधे उनके घर तक पहुंचाया जाएगा।

मुफ्त राशन वितरण के दौरान उचित मूल्य की दुकानों पर भीड़ न लगे इस लिहाज से दुकानों के खुले रहने की समय बढ़ाया जा रहा है। वितरण व्यवस्था में किसी भी तरह की गड़बड़ी की शिकायत मिलने पर दोषी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Also Read: बीएमसी-को -बनायें-पूर्णत-कोविड-अस्पताल-केंद्रीय-संस्कृति-मंत्री

कार्यभार गृहण

किशोर न्याय मंडल व बाल कल्याण समिति के नए चुने गए सदस्यों ने सोमवार को अपना कार्यभार गृहण किया।इस मौके पर जिले की बाल संरक्षण व महिला बाल विकास अधिकारी ने किशोर न्याय मंडल की अशासकीय सदस्यों-वंदना तोमर व मंजूमाला सिंह और बाल कल्याण समिति के सदस्यों-आनंद मोहन नायक, अमित अग्रवाल, चंद्र प्रकाश शुक्ला व स्वाति राय को बधाई व उनके कार्यों के बारे में जानकारी दी।

कोविड हेल्प डेस्क

बुंदेलखंड चिकित्सा महाविद्यालय में कोरोना संक्रमण के मरीजों व उनके परिजानों की मदद के लिए हेल्प डेस्क बनाई गयी है। नगर विधायक की प्रयासों से बीएमसी परिसर में शुरू हुई यह हेल्प डेस्क कोविड अस्पताल में ईलाज ले रहे मरीजों व उनके परिजनों की समस्याओं का मौके पर ही निराकरण करने का प्रयास करेगी। जरूरत मंद हेल्प डेस्क के लिए निर्धारित किए गए किसी भी फोन नं को लगा कर मदद मांग सकते हैं।

Also Read: MLA visited Covid ICU to know the patients condition

कोविड हेल्प डेस्क के फोन नं-07582-242831, टोल फ्री नं-1075

मोबाईल नं- 09329462324, 09329475494

कोविड देखभार केन्द्र खुलेंगे

प्रदेश के मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैस ने सोमवार को प्रदेश के सात जिलों के जिलाधीशों से कोरोना संक्रमण के प्रबंधन को लेकर वीडियो कांफ्रेंस की। बैठक में सागर जिले के कलेक्टर ने बताया कि जिले के सभी विकासखंडों में सौ बिस्तरों का कोविड देखभाल केन्द्र शुरू किए जा रहे हैं।


 Biggest ever surge in Corona-Positve-Cases- माह-के-पहले-पखवाड़े-में-ही-डेढ़-हजार-से-ज्यादा-कोरोना-पॉजिटिव-मामले-सामने

सागर वॉच ।
  सागर में आज  कोरोना संक्रमण के 278 नए मामले सामने आए, यह जिले में अब तक किसी एक दिन सामने आने वाले कोरोना पॉजिटिव मामलों की सबसे बड़ी संख्या है। जिले में अप्कोरैल माह के पहले 15 दिनों में   1507 कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आये हैं । करोना  संक्रमण के फैलाव के गति को देखते हुए  जिला प्रशासन ने गुरुवार  से ही २१  अप्रैल तक के लिए कोरोना कर्फ्यू प्रभावी करने के आदेश जारी कर दिए ।

Also Read: सरकार का मुंह न ताकें खुद एहतियात बरतें कुलांचे भरते कोरोना संक्रमण से बचने

बुंदेलखंड चिकित्सा  महाविद्यालय की विषाणु प्रयोगशाला से प्राप्त अधिकृत जानकारी के मुताबिक जिले   में अब तक सामने आए कोरोना पॉजिटिव मरीजों की कुल  संख्या तक 7731 है जबकि स्वस्थ हुए मरीजों की कुल  संख्या 6235 है। जिले में कोरोना बीमारी से मरने वालों की कुल संख्या 163 है।  जिले में पिछले 24 घन्टे में   कोरोना मर्ज से तीन लोगों की मौत हुई है। जिले में वर्तमान में कोरोना संक्रमण  के सक्रिय मामले 1535 हैं। जिले में आज 15 अप्रैल, रात दस बजे से 21 अप्रैल सुबह 6 बजे तक के लिए कोरोना कर्फ्यू लगाने का आदेश भी जारी हो गया है।

Also Read: बीएमसी को बनायें पूर्णतः कोविड अस्पताल - केंद्रीय संस्कृति मंत्री

 कोरोना संक्रमण के फैलाव कि रफ़्तार सागर संभाग के सभी छः जिलों में काफी तेज है । गुरुवार को छतरपुर में भी कोरोना संक्रमण के  157 नए मामले सामने आये ,जबकि दमोह में 128 कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आये ।

 Non-Payment-of-Tution-Fee -स्कूल-बकाया-फीस-कि-आड़-में-बच्चों-को-परीक्षा-में-बैठने-से-वंचित-न-करें-मंत्री

सागर वॉच ।  स्कूल शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार) और सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री इन्दर सिंह परमार ने कहा कि अभिभावकों या छात्रों द्वारा फीस भुगतान न करने अथवा बकाया होने के आधार पर, कक्षा 9वीं से 12वीं की परीक्षा में भाग लेने से किसी भी विद्यार्थी को वंचित नहीं किया जाएगा। बकाया फीस के भुगतान के लिए संबंधित अभिभावक या छात्र से अंडरटेकिंग ली जाकर उन्हें परीक्षा में सम्मिलित किया जाएगा। यह आदेश प्रदेश के समस्त सीबीएसई, आईसीएसई, मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल एवं अन्य बोर्ड से संबद्ध गैर अनुदान प्राप्त अशासकीय विद्यालयों पर समान रूप से लागू होगा।

श्री परमार ने बताया कि निजी विद्यालय प्रबंधन लंबित फीस की किस्त के भुगतान न किए जाने के आधार पर किसी भी विद्यार्थी को ऑनलाइन क्लासेस या विद्यालय में भौतिक रूप से संचालित कक्षाओं में भाग लेने से नहीं रोकेंगे। इसी प्रकार विद्यार्थियों के परीक्षा परिणाम को भी नहीं रोका जा सकेगा।

मंत्री श्री परमार ने बताया कि स्कूल शिक्षा विभाग को पालकों से गैर अनुदान प्राप्त अशासकीय विद्यालयों की फीस भुगतान और जबरन फीस वसूली संबंधी अनेक शिकायत विभिन्न माध्यमों से प्राप्त हो रही थी। पालकों की सहूलियत और विद्यार्थियों की पढ़ाई अनवरत जारी रखने के उद्देश्य से स्कूल शिक्षा विभाग ने सभी जिलो के कलेक्टर को निर्देश जारी किए हैं।


स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा जारी निर्देश में स्पष्ट किया गया है कि गैर अनुदान प्राप्त निजी विद्यालय प्रबंधन शैक्षणिक सत्र 2019-20 तथा 2020-21 के लिए नियत की गई फीस अभिभावकों से ले सकेंगे। अभिभावक यह फीस 6 समान किस्तों में जमा कर सकेंगे, जो 5 मार्च 2021 से प्रारंभ होकर 5 अगस्त 2021 को समाप्त होगी। यदि किन्हीं अभिभावकों को फीस के भुगतान में कठिनाई हो रही है तो वे अपना व्यक्तिगत अभ्यावेदन संबंधित विद्यालय को प्रस्तुत कर सकेंगे। 

 विद्यालय प्रबंधन द्वारा उक्त अभ्यावेदन को सहानुभूति के साथ विचार कर निराकरण किया जाएगा। यह व्यवस्था शैक्षिक सत्र 2021-22 की फीस संग्रहण व्यवस्था को प्रभावित नहीं करेगी। इस सत्र के लिए विद्यालय प्रबंधन द्वारा सूचित एवं नियत की गई फीस को अभिभावकों को समय अनुसार भुगतान करना होगा।

To Read In English Click Here-  English I Hindi

Initiatives to increase irrigated-area-in-panchayat-of-sagar-district-7-हजार-से-ज्यादा-बनेगें -खेत-तालाब-तीन-महीनों-में

सागरवॉच
। 
बुंदेलखंड में सागर जिले की पंचायतों में नवाचार अपनाए जाने की दिशा में जनसहयोग से विशेष प्रयास किए जा रहे हैं। इसी दिशा में जिला पंचायत के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने अगले तीन महीने में सभी पंचायतों के तहत कुल 36 हजार एकड़ कृषि भूमि को सिंचित बनाने की अभिनव योजना पर काम शुरू किया है।

जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी  इक्च्क्षित  गढ़पाले  के मुताबिक जिले की 734 ग्राम पंचायतों में आगामी तीन माह में 7340 खेत तालाब बनाये जायेंगे। इन तालाबों से जिले के ग्रामीण अंचलों की 36 हजार एकड़ कृषि भूमि सिंचित होगी। तालाब खुदाई का कार्य 20 मार्च से प्रारंभ किया जाना था। लेकिन इस अवधि में खेतों से रबी फसलों की कटाई नहीं हो पाने से तालाब खुदाई का कार्य 15 दिन बाद शुरू किया जाएगा। 

प्रत्येक पंचायत में 10-10 खेत तालाब के मान से 7340 तालाबों से 3600 घनमीटर जल भंडारण क्षमता निर्मित होगी। इससे करीब 7.92 करोड क्यूबिक मीटर वर्षा जल का संचय होगी। जिससे जिले के ग्रामीण अंचलों में भू-जल स्तर में सुधार होगा। इसके अलावा प्रत्येक पंचायत में एक-एक सामुदायिक तालाब का निर्माण भी किया जायेगा।

 Also Read: जननेतृत्व से लबालब हुए तालाब, विभागीय नाकारापन से छलनी हुई धरती

 उन्होंने बताया कि जिले की प्रत्येक ग्राम पंचायत में मनरेगा के मद से 10-10 खेत तालाब खोदे जायेंगे। जल संरक्षण के उद्देश्य से यह कार्य मिशन मोड में कराया जायेगा। इसके लिए ग्राम पंचायत के रोजगार सहायक से लेकर सचिव, उपयंत्री, सहायक यंत्री व जनपद सीईओ को अलग-अलग स्तर पर जिम्मेदारियां सौंपी गई हैं। यह काम 20 मई 2021 तक पूर्ण कराने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

 तालाब निर्माण कि प्रक्रिया से जुड़े सवाल पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री गढ़पाले ने कटाया कि  हितग्राहियों व स्थलों का चयन जियो टैग, टीएस व एएस जारी होने से लेकर निर्माण कार्यों का मूल्यांकन और सत्यापन की विस्तृत जानकारी जिला पंचायत सागर के एपीओ को भेजना होगी। खेत तालाबोंं के निर्माण का 25 से 100 फीसदी तक कार्य पूरे  करने की अलग-अलग समय सीमा निर्धारित की गई है।


जनपदों कि मुख्य कार्यपालन अधिकारी इस अस अभिनव योजना के क्रियान्वयन पर कड़ी नजर रखेंगें । जिपं सीईओ ने अधीनस्थ अमले को स्पष्ट तौर पर निर्देशित किया है कि खेत तालाबों के निर्माण कार्य में लेट-लतीफी बर्दास्त नहीं की जायेगी। शिकायतें सामने आने पर संबंधितों के विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी।

तय समय पर काम पूरा नहीं होने पर जिम्मेदार कर्मचारियों पर होगी सख्त कारवाई 

तालाब निर्माण योजना के तय समय से पहले पूरा करने के सिलसिले में जिला पंचायत सीईओ  ने अपने अधीनस्थों को ताकीद किया कि  फरवरी माह में प्रत्येक पंचायत में 10-10 हितग्राहियों के नाम तय नहीं करने वाले सचिवों का फरवरी माह का वेतन नहीं मिलेगा। उधर 20 मई तक लक्ष्य पूर्ति नहीं होने पर संबंधित अधिकारियों, कर्मचारियों को अप्रैल-मई माह का वेतन नहीं दिया जायेगा। 


Read In English- English I Hindi
Punjab-National-Bank-Organized-Financial-Literacy-Campaign

SagarWatch@
पंजाब नेशनल बैंक मंडल कार्यालय, सागर द्वारा गुरूवार को वित्तीय समावेश एवं वित्तीय साक्षरता अभियान का आयोजन किया गया। इस अवसर पर कलेक्टर श्री दीपक सिंह, पंजाब नेशनल बैंक भोपाल अंचल के प्रमुख श्री प्रवीण कुमार जैन, मंडल कार्यालय सागर के मंडल प्रमुख श्री नवीन बुंदेला, सागर जिले के समस्त शाखा प्रबंधक एवं बैंक ग्राहक उपस्थित थे।

Also Read : Smart city-School of Learning by Doing Mistakes

इस अवसर पर ऋण अनुशषण एवं औपचारिक संस्थाओं से ऋण के साथ भारत सरकार द्वारा संचालित विभिन्न बीमा योजनाओं की जानकारी दी गई। पीएम स्वनिधि योजना के तहत लाभांवित हितग्राहियों को क्यूआर कोड वितरित किए गए। मंडल प्रमुख श्री नवीन बुंदेला ने सभी का आभार व्यक्त किया।



Read In English I Hindi
COVID-19-UPDATE-niji-aspatal-corona-upchaar-ki-daren-mukhya-swaa-par-chaspa-karen-collector

 सागर वॉच । कोविड-19 के उपचार के लिए निजी अस्पतालों द्वारों मरीजों से उपचार के नाम पर कथित तौर पर अनाप-शनाप  शुल्क लिए जाने के शिकायतों में लगातार इजाफा होते देख जिला प्रशासन सतर्क हो गया है । मंगलवार को जिला कलेक्टर ने कोविड-19 का उपचार करने वाले सभी निज निजी अस्पतालों पर लगाम कसते हुए आदेश जारी किया है कि उन्हें कोविड-19 की उपचार की दरें सार्वजनिक करनी होंगी और वो उनसे हटकर कोई भी शुल्क नहीं ले सकेंगे ।

Read Also: Surkhi-and-corona-are-hogging-headlines-In-Bundelkhand

मंगलवार को जिला कलेक्टर सभाकक्ष में जिले में कोविड-19 की उपचार के सिलसिले में बैठक आयोजित की   गयी । बैठक में जिले की निजी अस्पतालों के संचालक , भारतीय चिकित्सा परिषद् की सदस्य व मुख्या चिकित्सा अधिकारी शामिल हुए ।

Also Read: Clerks-running Nagar Palikas in Bundelkhand

 बैठक में जिला कोलेक्टर ने सभी निजी अस्पतालों को  कोविड-19 का इलाज शुरू करने के निर्देश देते हुए  उनके संचालकों को ताकीद किया की कोविड-19 के मरीजों का इलाज कोविड-19 दिशा-निर्देशों के तहत ही करें, कोविड-19 के मरीजों की लिए अस्पताल में उपलब्ध पलंगों की कुल संख्या के दस फीसदी पलंग के साथ आइसोलेशन वार्ड बनायें 

इसके अलावा जिला कलेक्टर  ने निजी  अस्पतालों के संचालकों से सख्ती से कहा कि वे न केवल अस्पताल के प्रवेश द्वार पर कोविड-19 की उपचार की दरों की सूची चस्पा करें बल्कि द्वार पर चस्पा की गयी सूची की फोटो सहित अपना प्रतिवेदन प्रशासन के समक्ष प्रस्तुत करें 

     Read Also: कामकाज में कसावट लाने कोरोना नियंत्रण केंद्र पहुंचे कलेक्टर

इतना ही नहीं कलेक्टर ने निजी चिकित्सालय के संचालकों को सख्त लहजे में चेताया कि अगर कोविड-19 के  मरीजों से  प्रवेश द्वार पर चस्पा की गयी कोविड -19 उपचार की सूची में दर्शाईं गयीं दरों से अतिरिक्त किसी भी अन्य प्रकार का  शुल्क लिया तो उनके खिलाफ सख्त कारवाई की जाएगी ।

निजी अस्पतालों को यह भी निर्देश दिए गए कि वे कोविड -19 के मरीजों की जांच पूरी सावधानी से कर के इलाज शुरू करें व अस्पताल में आने वाले सर्दी -खांसी , जुकाम के मरीजों की जानकारी अविलम्ब कोरोना कमांड सेंटर भेजें ।

         Read Also: Unsung Heroes- Aftaab Pledged to make the country clean