News In Short 23 Mar 22- बैंकों को तीस मार्च तक करना होगा ऋण वितरण

नियम विरुद्ध कारोबार को सख्ती से बंद कराया जायेगा

News In Short : ख़बरें संक्षेप में 

 सागर वॉच/23 मार्च, 2022


30 मार्च के तक होंगे ऋण स्वीकृत

↺ शासन की विभिन्न विकास योजनाओं से स्व-रोजगारियों को ऋण एवं अनुदान राशि का वितरण किया जाए। कलेक्टर ने बुधवार को डीएलसीसी की बैठक में निर्देश दिये कि सभी बैंकर्स से कहा कि बैंकों में दर्ज स्व-रोजगार के सभी प्रकरणों में 30 मार्च के पूर्व ऋण स्वीकृत कर वितरित करें। कलेक्टर ने प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्योग उन्नयन योजना अंतर्गत एक जिला एक उत्पाद योजना के समस्त प्रकरणों का निराकरण करने के लिए भी जोर दिया।

News In Short 23 Mar 22-  बैंकों को तीस  मार्च तक करना होगा ऋण  वितरण

टाटा कम्पनी पुराने काम की मरम्मत करने बाद ही नया काम चालू करे 

↺ टाटा कम्पनी जब तक पुराने खोदे गये स्थानों पर पाईप लाईन बिछाकर उसका परीक्षण और मरम्मत  नहीं कर देते तब तक नये स्थान पर खुदाई का कार्य प्रारंभ ना किया जाय। कार्य में तेजी लाने हेतु दोनों एंजेसियॉं डबल शिफ्ट में कार्य करायें और परकोटा रोड पर पाईप लाईन बिछाये जाने के कार्य को रात्रि 10 से प्रारंभ कर सुबह तक किया जाय ताकि नागरिकों को यातायात में परेशानी ना हो।

टाटा एवं सीवर प्रोजेक्ट के अंतर्गत चल रहे कार्यो की नगर निगम में आयोजित हुयी समीक्षा बैठक में निर्देश दिये कि टाटा रि-स्टोरेशन का कार्य गुणवत्ता से करायें और कार्य के पश्चात् स्थान पर जो गिट्टी आदि छोड़ दी जाती है उसकी सफाई भी करायी जाये तथा जहॉ काम किया जा रहा है उसकी जानकारी से संबंधितों को अवगत करायें ताकि यह पता रहे कि यह कार्य किस एंजेसी के द्वारा किया जा रहा है।


 लकड़ी टालों पर लगातार रखी जाएगी नजर 

↺ विगत दिनों तिलक गंज में हुई भीषण आगजनी की घटना के तत्काल पश्चात जिले के संवेदनशील कलेक्टर श्री दीपक आर्य ने बुधवार को शहर के समस्त लकड़ी टाल संचालकों के साथ कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में बैठक आयोजित की। बैठक में आम सहमति और चर्चा उपरांत स्पष्ट रूप से निर्देशित किया गया कि समस्त लकड़ी टालों को 3 माह के अंदर फर्नीचर क्लस्टर सिद्धगुवां में शिफ्ट किया जाए। विस्थापित नहीं होने पर वे पुरानी जगह कारोबार नहीं कर सकेंगे। शहरवासियों के हित को ध्यान में रखते हुए और भविष्य में किसी भी प्रकार की दुर्घटना से बचने के लिए यह निर्णय आवश्यक है।

नियम विरुद्ध कारोबार को सख्ती से बंद कराया जायेगा 

↺ बीते दिनों शहर में हुई आगजनी की घटना के मद्देनजर जिला प्रशासन जिला प्रशासन शहर के लकड़ी के  टाल सहित अन्य संवेदनशील संस्थानों को सुरक्षित जगह ले जाना की योजना बना रहा है। इसी परिपेक्ष्य में लकड़ी टाल संचालकों की बैठक आयोजित की गई। जिसमें बताया गया  कि इसके अतिरिक्त ट्रांसपोर्ट नगर, मैकेनिक नगर और डेयरी विस्थापन भी प्रक्रियाधीन है। जिले वासियों के हित में किए जा रहे यह सभी कार्य अत्यंत महत्वपूर्ण हैं।

 बैठक में निर्देश दिए गए कि, फर्नीचर क्लस्टर क्षेत्र सिद्धगुवां में 3 माह के अंदर समस्त लकड़ी टालों को विस्थापित किया जाए। यहां समस्त आवश्यक मूलभूत सुविधाएं जैसे पेयजल, सड़क, विद्युत सहित अन्य व्यवस्थाएं भी सुनिश्चित की जाएंगी। 

कलेक्टर के मुताबिक  जब तक समस्त टाल विस्थापित नहीं होते तब तक सिटी मजिस्ट्रेट, नगर पुलिस अधीक्षक एवं तहसीलदार लगातार उक्त क्षेत्रों में कार्यों की मॉनिटरिंग करें। मॉनिटरिंग करते समय समस्त टालों में फायर सेफ्टी के उपकरण, फायर ब्रिगेड आने जाने के लिए सुगम रास्ता,विद्युत सप्लाई की उचित व्यवस्था सहित अन्य आवश्यक व्यवस्थाओं को सुनिश्चित करेंगे। व्यापारियों से सहयोग न मिलने की स्थिति में प्रशासन एवं पुलिस द्वारा सख्ती के साथ कारोबार को बंद किया जाएगा।


ई-उपार्जन पोर्टल पर सुविधा शुरू

↺ रबी विपणन वर्ष 2022-23 के लिए कृषकों को समर्थन मूल्य पर गेहू विक्रय करने हेतु एसएमएस के इन्तजार को समाप्त करते हुए अब कृषक  उपज विक्रय करने के लिए उपार्जन केन्द्र का चयन एवं उपज विक्रय की दिनांक स्वयं ई-उपार्जन पोर्टल पर कर सकेंगे।

जारी निर्देशों के अनुसार प्रत्येक उपार्जन केन्द्र पर गेहूं की तौल क्षमता का निर्धारण पोर्टल पर किया जाएगा, जिसके अनुसार प्रति तौल कांटा प्रतिदिन 250 क्विंटल के मान से गणना की गई है।

प्रत्येक उपार्जन केन्द्र पर प्रतिदिन न्यूनतम 1000 क्विंटल उपज की तौल हेतु 4 तौल कांटे आवश्यक रूप से लगाए जाएंगे एवं उपार्जन केन्द्र पर गेहूं की आवक अनुसार तौल काटों की संख्या में वृद्धि भी की जाएगी।  

किसान भाइयों द्वारा 23 मार्च से वेबसाइट  पर स्लॉट बुकिंग की जा सकेगी। इस लिंक की जानकारी एसएमएस के माध्यम से कृषक के मोबाइल पर प्रेषित की जाएगी। ई-उपार्जन पोर्टल पर पंजीकृत, सत्यापित कृषक द्वारा स्वयं के मोबाइल, एमपी ऑनलाईन, सीएससी, ग्राम पंचायत, लोक सेवा केन्द्र, इन्टर नेट कैफे, उपार्जन केन्द्र से स्लॉट बुकिंग की जा सकेगी। स्लॉट बुकिंग हेतु कृषक के ई-उपार्जन पोर्टल पर पंजीकृत मोबाइल पर ओटीपी प्रेषित किया जाएगा, जिसे पोर्टल पर दर्ज करना होगा।

सोमवार से शुक्रवार तक होगा उपार्जन

↺ कृषकों को अपनी उपज विक्रय करने हेतु स्लॉट बुकिंग दो पारी में प्रातः 9 से 1 बजे एवं अपरान्ह 2 से 6 बजे तक की जा सकेगी, जिसमें से एक पारी का चयन किया जा सकेगा। उपार्जन का कार्य सोमवार से शुक्रवार तक किया जाएगा एवं उपज विक्रय हेतु इसी अवधि की स्लॉट बुकिंग की जा सकेगी। कृषक द्वारा उपज विक्रय हेतु आगामी 7 दिवस में फसल विक्रय हेतु स्लॉट बुकिंग की जा सकेगी एवं स्लॉट की वैद्यता अवधि 3 कार्य दिवस तक रहेगी।

इस मात्रा के अनुसार ही कृषक से उपज की खरीदी की जा सकेगी।  निर्धारित दिवस में उपार्जन केन्द्र की तौल क्षमतानुसार स्लॉट बुक होने पर कृषक को आगामी रिक्त क्षमता वाले दिवस हेतु स्लॉट बुक करना होगा।

कृषक द्वारा स्लॉट बुकिंग करने के उपरांत उपार्जन केन्द्र का नाम, विक्रय योग्य मात्रा एवं विक्रय की दिनांक एसएमएस के माध्यम से सूचित की जाएगी तथा इसका प्रिन्ट भी निकाला जा सकेगा। कृषक द्वारा विक्रय की जाने वाली संपूर्ण उपज की स्लॉट बुकिंग एक समय में ही करनी होगी, आंशिक स्लॉट बुकिंग/आंशिक विक्रय नहीं किया जा सकेगा। कृषक द्वारा निर्धारित उपार्जन केन्द्र पर स्लॉट बुकिंग करने के उपरांत अन्य केन्द्र पर कृषक पंजीयन परिवर्तन, स्थानांतरण की सुविधा नहीं होगी।

 25 मार्च से प्रारंभ होगा रबी उपार्जन 

↺ रबी उपार्जन की प्रक्रिया 25 मार्च से प्रारंभ होगी।  जिला कलेक्टर ने उपार्जन शुरू होने से पहले ही उपार्जन केंद्र पर आवश्यक मूलभूत सुविधाएं सुनिश्चित कराएं एवं गेहूं चना सरसों का भौतिक सत्यापन भी शत-प्रतिशत सुनिश्चित करने के के लिए कहा है। इसके अलावा उन्होंने एसडीएम, तहसीलदार एवं जेएसओ उपार्जन केंद्रों का भौतिक सत्यापन करने  एवं समस्त रबी उपार्जन केंद्र पर भंडारण, परिवहन, बारदाने सहित समस्त अन्य मूलभूत व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के लिए कहा है। 

कलेक्टर ने बताया  कि इसी प्रकार उपार्जित फसल के भुगतान की राशि सीधे किसानों के खातों में हस्तांतरित होगी। इसके लिए उनको अपने अपने बैंक खातों में आधार नंबर लिंक कराना अनिवार्य होगा। उन्होंने बताया कि परिवर्तित व्यवस्था में फसल बेचने के लिए किसान, निर्धारित पोर्टल से नजदीक के उपार्जन केन्द्र, तिथि और टाईम स्लॉट का स्वयं चयन कर सकेंगे। उपार्जन केन्द्र, तिथि और टाईम स्लॉट का चयन नियत तिथि के पूर्व करना अनिवार्य होगा। सामान्य तौर पर उपार्जन प्रारंभ होने की तिथि से एक सप्ताह पूर्व तक उपार्जन केन्द्र तिथि और टाईम स्लॉट का चयन किया जा सकेगा।

कलेक्टर ने उपार्जन केंद्रों पर 25 मार्च के पूर्व बारदाना सहित अन्य व्यवस्थाएं करने और इसका भौतिक सत्यापन समस्त विभागीय अधिकारी तहसीलदार सहित अन्य वरीय अधिकारी कर प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के लिए कहा है । उन्होंने निर्देश दिए कि परिवहन भी समय पर हो और वेयर हाउस में सर्वेयर का मोबाइल नंबर, वेयर हाउस के बाहर चस्पा करें ।

25 मार्च के पश्चात  केवल अनुमत्य शीर्ष देयक ही  स्वीकार  होंगे

↺ आयुक्त कोष एवं लेखा द्वारा मार्च के अंतिम कार्य दिवसों में देयकों की प्रस्तुति एवं भुगतान हेतु कोषालयों में व्यवस्था की गई है। 25 मार्च के पश्चात अनुमत्य शीर्ष के देयकों को छोड़कर अन्य कोई देयक कोषालय में स्वीकार नहीं किए जाएंगे। 

जिसमें वेतन, वेतन एरियर्स, चिकित्सा प्रतिपूर्ति, विद्युत देयक एवं पेंशन, 25 मार्च तक प्रस्तुत किए जा चुके देयक जो आपत्ति में वापस किए गए हो, केन्द्रीय क्षेत्रीय योजनाओं, केन्द्र प्रवर्तीत योजनाओं, 15वें वित्त आयोग से संबंधित देयक जिनके आहरण के लिए वित्त विभाग द्वारा 25 मार्च या उसके पश्चात स्वीकृति जारी की गई हो, पूंजीगत व्यय से संबंधित देयक, अन्य देयक केवल वित्त विभाग, आयुक्त, कोष एवं लेखा की विशेष अनुमति से स्वीकार किए जा सकेंगे।

सभी आहरण एवं संवितरण अधिकारी 25 मार्च तक देयक कोषालय में प्रस्तुत करें। प्रदेश के समस्त कोषालय 26 मार्च एवं 27 मार्च को खुले रहेंगे। कोषालय अधिकारी एवं देयक भुगतान से संबंधित कोषालय, उपकोषालय के समस्त कर्मचारी उपस्थित रहेंगे। 23 मार्च से 31 मार्च तक देयकों के भुगतान से संबंधित कोई अधिकारी, कर्मचारी को अवकाश अनुमत्य नहीं होगा।                       

छात्रवृत्ति के लिए पोर्टल प्रारम्भ

↺ पिछड़ा वर्ग तथा अल्पसंख्यक कल्याण विभाग के तहत शैक्षणिक सत्र 2021-22 के लिए शासकीय महाविद्यालयों, शासकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्था के नवीन छात्रवृत्ति के ऑनलाइन आवेदनों के लिये पिछड़ा वर्ग पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति पोर्टल प्रारम्भ किया गया है। समस्त शासकीय शैक्षणिक संस्थाएं वर्ष 2021-22 में पिछड़ा वर्ग के नवीन प्रवेशित छात्रों के लिये पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति के नवीन आवेदन उक्त पोर्टल पर ही दर्ज करवायें।        

मकरोनिया रेलवे अन्डर ब्रिज 24 मार्च को बंद रहेगा

 मकरोनिया रेलवे अन्डर ब्रिज क्रमांक 1056/2 पर वरिष्ठ खण्ड अभियंता कार्य निर्माण भोपाल द्वारा नॉन इंटर लूकिंग का कार्य किया जाएगा। उक्त ब्रिज 24 मार्च को दिन व रात के लिए सड़क यातायात के लिए बंद रहेगा। 

शासकीय कार्यालय सप्ताह में 5 दिवस खुलेंगे

↺ सामान्य प्रशासन विभाग के माध्यम से राज्य शासन द्वारा कोविड-19 महामारी के रोकथाम एवं बचाव के संबंध में संपूर्ण प्रदेष के शासकीय कार्यालयों के कार्यदिवस सप्ताह में 5 दिवस (सोमवार से शुक्रवार) निर्धारित किए गए थे, उक्त आदेष 31 मार्च 2022 तक प्रभावी है। राज्य शासन द्वारा इसी अनुक्रम में यह निर्णय लिया गया है कि उक्त आदेश  30 जून 2022 तक प्रभावी रहेगा।

पूर्व सैनिकों के लिए रोजगार के अवसर

↺ डीजीआर, नई दिल्ली अंतर्गत पूर्व सैनिकों के लिए कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय में लाईब्रेरी एण्ड इन्फार्मेंषन असिस्टेंट का एक पद रिक्त है। जिला सैनिक कल्याण अधिकारी केप्टन (नौसेना) यूपीएस भदौरिया (से.नि.) ने बताया कि जो पूर्व सैनिकांं का जिला सैनिक कल्याण कार्यालय में पंजीकृत है और लाइब्रेरी साइंस और लाइब्रेरी सूचना विज्ञान  में डिप्लोमा किया है वे अपना आवेदन 25 मार्च तक कार्यालय में जमा कर सकते है। विस्तृत जानकारी के लिए जिला सैनिक कल्याण कार्यालय में संपर्क कर सकते है।

ट्रांसपोर्ट नगर  का स्थल निरीक्षण 

↺ सागर में लगभग 1200 बड़े मालवाहक वाहन रजिस्टर्ड हैं। इनमें से लगभग 25-30 प्रतिशत गाड़ियां खड़ी रहती होंगी इसलिए ट्रांसपोर्ट नगर में ट्रकों व अन्य वाहनों की संख्या को ध्यान में रखते हुए पार्किंग एरिया का निर्माण करें। इसके साथ ही माल लोडिंग सहित इनके अधिकतम वजन का ध्यान रखते हुए फ्लोर तैयार करें, ताकि कीचड़ आदि की समस्या न हो। 

कलेक्टर ने सागर स्मार्ट सिटी लिमिटेड द्वारा अमावनी में बनाए जा रहे ट्रांसपोर्ट नगर का स्थल निरीक्षण कर बताया कि ट्रकों की आवाजाही के साथ जनता का भी आना जाना बढेगा इसलिए यहां पानी, बिजली, ड्रेनेज़ आदि सभी मूलभूत सुविधाओं व अग्नि सुरक्षा, पुलिस व्यवस्था के भी प्रावधान रखे जायेंगे । 

इसके साथ ही उन्होंने भोपाल रोड के पास बनाए जाने वाले बस स्टैंड एवं न्यू आरटीओ ऑफिस के पास बनाएं जाने वाले बस स्टैंड का भी स्थल निरीक्षण कर दिशा निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यहां भी पानी, बिजली आदि सभी आवश्यकताओं का ध्यान रखें। बसों को धोने व सुधारने आदि के लिए अलग से वर्कशॉप एरिया का निर्माण करें, ताकि बस स्टैंड परिसर स्वच्छ रहे।कलेक्टर ने स्मार्ट रोड के तहत तिली चौराहे के व्यवस्थित व सुन्दर निर्माण के साथ यहां के ट्रैफिक को सुगम बनाने के लिए स्थल पर चौराहा निर्माण से पहले किए गए मार्किंग का भी निरीक्षण किया। 

जिला चिकित्सालय को  पीजी के लिए 6 सीटें मिलीं 

↺ जिला चिकित्सालय तिली अस्पताल में पीजी के लिए 6 सीटें मिलने पर संपूर्ण सागर जिले में खुशी की लहर व्याप्त है।  सिविल सर्जन डॉक्टर ज्योति चौहान ने बताया कि यह मध्यप्रदेश में सर्वाधिक छह सीटें जिला चिकित्सालय को प्राप्त हुई है इससे हमारे लिए स्वास्थ्य व्यवस्था को और सुचारू बनाने में कारगर सिद्ध होगी।

डॉ ज्योति चौहान ने बताया कि सागर जिला अस्पताल  में फेमिली मेडीसिन, ऑप्थेलमालॉजी और पीडियाट्रिक्स, में  दो- दो सीट्स की मान्यता दी गईं है। नेशनल बोर्ड ऑफ एक्जामिनेशन द्वारा ग्वालियर, सागर, जबलपुर, सतना और विदिशा जिला अस्पताल को  विभिन्न विषय में 14 पी. जी. डिप्लोमा सीटस की मान्यता  दी गई है।

स्वास्थ्य आयुक्त डॉ. सुदाम खाड़े ने बताया कि एन. बी. ई. ने  ग्वालियर जिला अस्पताल में डीजीओ की दो सीट,   सागर जिला अस्पताल  में फेमिली मेडीसिन, ऑप्थेलमालॉजी और पीडियाट्रिक्स, में  दो- दो सीट्स की मान्यता दी गई है। जबलपुर जिला अस्पताल  में पीडियाट्रिक्स और ऑप्थेलमालॉजी की एक-एक सीट, सतना जिला अस्पताल  में डीजीओ की 2 सीट और विदिशा जिला अस्पताल में  डीजीओ की 2 सीटस की मान्यता दी गई है। एनबीई के द्वारा प्रदेश के 5 जिला अस्पताल को 14 पीजी डिप्लोमा सीट्स का एक्रीडिएशन दिसम्बर 2026 तक के लिए किया गया है।
Share To:

Sagar Watch

Sagar Watch is the only news portal of Bundelkhand Region, which provide news updates in English & Hindi language. Rajesh Shrivastava, the Journalist, is the Chief Editor of this News Portal.

Post A Comment:

0 comments so far,add yours