MEDIA-WATCH-नेस्ले-कंपनी-ने-खुद-माना-मैगी-नूडल्स-सेहत-के-लिए-ठीक-नहीं

MEDIA WATCH@ ख़बरें ज़माने भर कीं 

SAGAR WATCH@ 02 JUNE 2021

MEDIA-WATCH-नेस्ले-कंपनी-ने-खुद-माना-मैगी-नूडल्स-सेहत-के-लिए-ठीक-नहीं

पत्रिका ने अपनी खबर में दो मिनट में बनने वाली मैगी नूडल्स के सेहत के लिए नुकसानदेह होने  की बात को इसकी निर्माता कंपनी द्वारा खुद स्वीकारने को उजागर किया है खबर में लिखा है नेस्ले कंपनी ने खुद माना है कि उसके ज्यादातर उत्पाद स्वास्थ्यवर्धक नहीं हैं। नेस्ले ने कहा है कि कंपनी अपना पूरा पोर्टफोलियो बदलने पर विचार कर रही है। लोगों की सेहत ध्यान में रखते हुए उन्हें जरूर पोषण और संतुलित खुराक मुहैया कराई जाएगी। ब्रिटेन की बिजनेस डेली फाइनेंशियल टाइम्स में ये रिपोर्ट छपी है। इसके मुताबिक कंपनी ने इसे स्वीकारते हुए कहा है कि वो अपने उत्पादों को सुधारने का काम करेगी।

Also Read: अधिक दूध पीने से नहीं बढता है कोलेस्ट्राल 

जी न्यूज़ @ कश्मीर के मामले को संयुक्त राष्ट्र महासभा उठाने के लिए पाकिस्तान को उकसाने के लिए  संयुक्त राष्ट्र महासभा के अध्यक्ष वोल्कन बोजकिर को  भारत के कड़े विरोध के बाद संयुक्त राष्ट्र के 193 सदस्यीय इस निकाय के प्रमुख को अब सफाई पेश करनी पड़ी है। भारत के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने इस सिलसिले में कहा कि जब संयुक्त राष्ट्र महासभा के कोई वर्तमान अध्यक्ष गुमराह करने वाला एवं पूर्वाग्रह से ग्रस्त बयान देता है तो वह अपने पद को बड़ा नुकसान पहुंचाता है. संयुक्त राष्ट्र महासभा के अध्यक्ष का आचरण वाकई खेदजनक है और यह वैश्विक स्तर पर उनके दर्जे को घटाता है। 

बीबीसी लन्दन ने  पाकिस्तान पर केन्द्रित एक सकारात्मक खबर में बताया है कि कैसे वहां सिंध प्रान्त के जिले ख़ैरपुर के क़स्बे राहूजा में रहने वाली एक 25 वर्षीय युवती ने के यूट्यूब चैनल की सफलता की प्रशंसा की है बीबीसी ने खबर में लिखा है कि बिजली और इंटरनेट मिलने की अनिश्चितताओं जैसी तमाम कठिनाइयों से जूझ कर भी राबिया नाज शेख़ रोज वीडियो बनाकर यूट्यूब के अपने फैशन चैनल  फैशन एडिक्शन पर अपलोड करती हैं. राबिया का यह शौक उनकी आमदनी का जरिया है. पाकिस्तान में जहां बहुत से लोगों के लिए अपना घर बनवाना किसी सपने से कम नहीं है, वहीं राबिया इसी आमदनी से दो कमरों का घर बनवाने में कामयाब हो रही हैं

नवभारत टाइम्स  की खबर कहती है कि काला कवक संक्रमण औरतों की तुलना में मर्दों को ज्यादा होता है। एसजीपीजीआई के तंत्रिका-कर्णविज्ञानी (न्यूरो-ओटोलॉजिस्ट) डॉ. अमित केसरी के हवाले से खबर कहती है कि महिलाओं में बनने वाला इस्ट्रोजन हारमोन उन्हें म्यूकरमाइकोसिस (ब्लैक फंगस) से बचा रहा है। पुरुषों के मुकाबले बेहद कम महिलाएं इसकी चपेट में आ रही हैं। दरअसल, महिलाओं में इस्ट्रोजन हारमोन 14 से 50 साल की उम्र तक बनता है। वहीं, लखनऊ के अस्पतालों में भर्ती हुई ब्लैक फंगस पीड़ित ज्यादातर महिलाओं की उम्र 50 साल से अधिक ही है।

Also Read: क्या शुरू हो गई है कोरोना की तीसरी लहर!

लाइव हिंदुस्तान  ने अनलॉक के मापदंडों पर खबर में बताया है कि स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रमुख  डॉ.बलराम  भार्गव ने लॉकडाउन को खोलने के लिए तीन-सूत्रीय मानदंड का सुझाव दिया- एक सप्ताह में संक्रमण दर 5 प्रतिशत से कम, 70 फीसदी  संवेदनशील आबादी का टीकाकरण और कोविड से बचने के उपयुक्त व्यवहार को लेकर समुदाय में जागरूकता जरूरी है । उन्होंने कहा कि तीसरी लहर को रोकने के लिए इन तीन बिन्दुओं पर खास तवज्जो देनी होगी 

दैनिक भास्कर  की खबर देश में खुफिया एजेंसियों या सुरक्षा से जुड़े महकमों के सेवानिवृत  अधिकारी को चेताने वाली है । खबर के मुताबिक  देश की सुरक्षा को लेकर केंद्र सरकार आदेश जारी किया है कि खुफिया एजेंसियों या सुरक्षा से जुड़े महकमों के रिटायर्ड अधिकारी अपने विभाग या किसी अन्य अधिकारी से जुड़ी बातें बिना पूर्वानुमति के सार्वजनिक नहीं कर सकते हैं। मंत्रालय द्वारा आदेश के साथ तैयार मसौदे के मुताबिक सेवानिवृत्ति की समय ही अधिकारी शपथपत्र देगा की वह संस्थान और अपने कार्यानुभव के बारे में बिना पूर्व अनुमति के कोई भी जानकारी सार्वजनिक नहीं करेगा। ऐसा करने में असमर्थ रहने पर उसकी आंशिक या पूरी पेंशन रोकी जा सकेगी 


Share To:

Sagar Watch

Sagar Watch is the only news portal of Bundelkhand Region, which provide news updates in English & Hindi language. Rajesh Shrivastava, the Journalist, is the Chief Editor of this News Portal.

Post A Comment:

0 comments so far,add yours