Inaugration-of Covid-19-Hospital-मप्र-में-कोरोना-संक्रमण-की-दर-एक-फीसद- से-नीचे-पहुंची

Inaugration-of Covid-19-Hospital-मप्र-में-कोरोना-संक्रमण-की-दर-एक-फीसद- से-नीचे-पहुंची

सागर वॉच।
 भारत सरकार के पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस तथा इस्पात मंत्रालय के कैबिनेट मंत्री  धर्मेन्द्र प्रधान का कहना है कि करोना की दूसरी लहर के चलते  मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान द्वारा जनता के हित में लिए गए निर्णय के कारण मप्र में कोरोना संक्रमण लगातार कम हुआ और कोरोना सक्रमण की दर घटकर  0.46 प्रतिशत रह गयी। वर्तमान में  प्रदेश में ऐसे 24 जिले हैं जहां कोरोना का एक भी प्रकरण नहीं हैं।


मुख्यमंत्री चौहान के ऐसे ही सूझ-बूझ भरे फैसलों में से एक सागर के बीना में भी भारत ओमान रिफ़ाइनरी के पास 200 बिस्तरों का ऑक्सीजन युक्त अस्थाई कोविड अस्पताल है।यह अत्यंत कम समय में विकिसित की गई सर्व सुविधायुक्त मेडिकल सुविधा का बेहतरीन उदाहरण है।

शनिवार को भारत सरकार के पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस तथा इस्पात मंत्रालय के कैबिनेट मंत्री  धर्मेन्द्र प्रधान ने  मुख्या मंत्री की उपस्थिति में अस्थाई कोविड अस्पताल का लोकार्पण एवं ऑक्सीजन बॉटलिंग एवं रीफ़िलिंग प्लांट का शिलान्यास किया।


भगवान करे इस हॉस्पिटल की जरूरत ही न पड़ें

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि, ईश्वर से प्रार्थना है कि, इस अस्पताल की आवश्यकता कभी ना पड़े परंतु , इस अस्पताल का निर्माण सावधानी के तौर पर किया गया है। भविष्य में संभावित तीसरी लहर की तैयारी के रूप में इस अस्पताल में समस्त सुविधाएँ स्थापित की गई हैं। हमारा प्रयास है कि, आपदा प्रबंधन कमेटी की सक्रियता और जनता के सहयोग से तीसरी लहर को रोका जा सकेगा।
उन्होंने कहा कि, कोरोना वायरस  वेरिएंट बदलता रहता है। दूसरी लहर के वक़्त हम सभी ने ख़तरनाक संक्रमण का सामना किया। अतः भविष्य की किसी भी आशंका  को न नकारते हुए  समस्त आवश्यक व्यवस्थाएँ सुनिश्चित की जा रही हैं।


इस क्रम में बीना रिफ़ाइनरी के सहयोग से ऑक्सीजन भरण  एवं पुनर्भरण  संयंत्र  का निर्माण किया जा रहा है। जिससे कोरोना संक्रमण के इलाज के लिए आवश्यक ऑक्सीजन उपलब्ध हो सकेगी साथ ही मप्र  ऑक्सीजन के मामले में आत्मनिर्भर होगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि, इतने कम समय में इस अस्पताल का निर्माण संभव हो पाया क्योंकि, प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी एवं भारत सरकार के पेट्रोलियम मंत्री श्री धर्मेंद प्रधान ने इस संपूर्ण कार्य में भरपूर सहयोग दिया। पूर्व में श्री प्रधान इस अस्पताल का निरीक्षण करने आए थे और आज लोकार्पण के अवसर पर भी यहाँ मौजूद हैं।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि, मध्य प्रदेश में करोना संक्रमण अब नियंत्रण में है। 12 जून की स्थिति में सागर में तीन और पूरे बुन्देलखंड में 15 प्रकरण हैं। परंतु हमें न ही निश्चिंत होना है और न ही सावधानियाँ छोड़नी हैं। बल्कि, लगातार कोविड संक्रमण रोकने सम्मत व्यवहार अपनाना है। जिसमें मास्क लगाना, सेनेटाईजर अथवा साबुन का इस्तेमाल करना, भीड़ एकत्रित न करना तथा अत्यावश्यक रूप से वैक्सीनेशन कराना शामिल है।


मुख्यमंत्री  चौहान ने कहा कि, यह समय संयम एवं धैर्य का परिचय देने का है। फ़िलहाल किसी भी प्रकार के बड़े आयोजन नहीं किए जा सकेंगे। शादी, धार्मिक अनुष्ठान अथवा किसी भी प्रकार के बड़े कार्यक्रम आयोजित नहीं किए जा सकेंगे। लापरवाही और ढिलाई के चलते ही संक्रमण बढ़ता है, आतः संक्रमण रोकने में संयम और सावधानियाँ ही काम आएँगी।


संक्रमण को रोकने के तीन उपाय

मुख्यमंत्री चौहान ने कोरोना संक्रमण को रोकने के तीन उपाय बताए। जिसमें सरकार, जनता एवं आपदा प्रबंधन समिति  का सक्रिय सहयोग शामिल है। उन्होंने बताया कि, शासन द्वारा प्रतिदिन 80 हज़ार टेस्ट कराने का। लक्ष्य निर्धारित किया गया है। कोरोना जांच के बाद संक्रमित और संदिग्ध व्यक्तियों को तत्काल कोविड देखभाल केंद्र  में  संगरोध  किया जा रहा है। इसी प्रकार किल कोरोना अभियान, द्वार-द्वार सर्वेक्षण  एवं बुखार   क्लीनिक के माध्यम से भी संक्रमण पर नियंत्रण बना हुआ है।
Share To:

Sagar Watch

Sagar Watch is the only news portal of Bundelkhand Region, which provide news updates in English & Hindi language. Rajesh Shrivastava, the Journalist, is the Chief Editor of this News Portal.

Post A Comment:

0 comments so far,add yours