Video-Viral-On-Social-Media-मानवाधिकार-ने-लिया-संज्ञान-पुलिस-से-मांगी-रिपोर्ट


सागर वॉच @
 बुधवार को सोशल मीडिया पर कोरोना  कर्फ्यू   के दौरान एक पुलिस कर्मी व ग्रामीण युवक के बीच का संवाद दिखाया गया है। वायरल वीडियो पर लोगों की काफी तीखी प्रतिक्रिया हुई यहां तक की कथित वीडियो मप्र के मानव अधिकार आयोग तक भी पहुंच गया। जानकारी के मुताबिक आयोग ने स्वत: संज्ञान लेते हुए  पुलिस महानिरीक्षक व पुलिस अधीक्षक से इस मामले में जवाब भी मांगा है।

Also Read: मन चंगा हो तो शरीर को आसानी से नहीं पकड़ पाते हैं रोग

जिसमें ग्रामीण युवक पुलिस से पूछ रहा है कि उसके छोटे भाई को पुलिस ने क्यों रोका जबकि व कोरोना कर्फ्यू   में दी गई छूट के समय ही गांव से शहर सब्जी बेचने आया था व लौटते में गेंहूं खरीद कर ले जा रहा था। सिविल लाईन थानातांर्गत कालीचरण चौराहे पर तैनात एक पुलिस कर्मी ने क्यों उसे जाने नहीं दिया। 

ग्रामीण के तर्क संगत सवालों से  पुलिसकर्मी  उत्तेजित हो गया और उसने युवक को जाने को कहा लेकिन वह  नहीं गया तो उसे भी गाड़ी बैठा लिया और कहा कि  कर्फ्यू   उल्लंघन के आरोप में उसे भी खुली जेल भेज देंगें। वीडियो में युवक के लगातार गिड़गिड़ाने के बाद भी पुलिस कर्मी के नहीं पसीजने से बने घटनाक्रम के सोशल मीडिया पर वायरल होने पर लोगों ने कड़ी आलोचना की। यहां तक कि यह वीडियो मानवाधिकार आयोग तक पहुंच गया।

Also Read: राजश्री गुटके का अवैध परिवहन करते हुए दो युवक गिरफ्तार

मप्र मानवाधिकार आयोग के मित्र मुकेश चौरसिया ने सागर वाॅच को बताया कि सोशल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो का आयोग ने स्वतः संज्ञान लिया है। चौरसिया  के मुताबिक आयोग ने इस मामले में सागर के रेंज के पुलिस महानिरीक्षक व जिला पुलिस अधीक्षक से 19 मई तक रिपोर्ट तलब की है।

Also Read: Bundelkhand ready to fight against Covid With New Thousand-Bed Hospital


Share To:

Sagar Watch

Sagar Watch is the only news portal of Bundelkhand Region, which provide news updates in English & Hindi language. Rajesh Shrivastava, the Journalist, is the Chief Editor of this News Portal.

Post A Comment:

0 comments so far,add yours