To Read News In English Click Here@English हिंदी 


Best From Print Media-Incomplete-Projects-Soaring-Cost-अधूरी-पड़ी-योजनाओं-की-बढ़ती-लागत-की-किस्से-होगी-भरपाई-?

#MediaWatch@Khabron-Ki-Khabar

Headlines : अख़बारों की आज की सुर्खियाँ 

अखबारों की सुर्खियों में आज काफी अलग-अलग विषयों से जुड़ीं खबरें नजर आयीं। अधिकारियों की उदासीनता के कारण अधूरे पड़े काम, खेती-किसानी के क्षेत्र आ रहे बदलाव व सामाजिक कार्यक्रमों के आयोजन की खबरें अखबारों ने अपनी-अपनी प्राथमिकताओं के आधार प्रकाशित की हैं।

दैनिक भास्कर ने नगर निगम के अफसरों की उदासीनता के चलते करोड़ों के निर्माण कार्य अधूरे पड़े रहने की खबर को अपनी पहली सुर्खी बनाया है। “36 करोड़ से ज्यादा के चार प्रोजेक्ट अटके, तलाशनी पड़ी नई ऐजेंसी, निमार्ण की लागत बढ़ी” शीर्षक से छापी खबर में बताया कि 12 करोड़ का सभागार, 60 लाख का खुरई बस स्टैंड , 5 करोड़ का शादी घर व 19 करोड़ का डीडी परिसर अधूरा पड़ा हुआ है। खबर मे चिंता जताई है कि निर्माण कार्यों मे देरी से इन प्रोजेक्ट की लागत बढ़ती जा रही है।

        Also Read : चुनावों-त्योहारों-की-भागमभाग-से-तेज-हुआ-कोरोना-संक्रमण-का-फैलाव

सागर वाॅच (खबर से हटकर) खबर में संबंधित अधिकारी का बयान तो छपा है कि जल्द ही अधूरे काम को पूरा कर लिया जाएगा। लेकिन खबर में ही उठाए गए कुछ सवाल फिर भी अनुत्तरित रह गए। कि अगर निर्माण कार्य की लागत बढ़ी है तो उसकी भरपाई के लिए अतिरिक्त राशि कहां से आएगी ? निर्माण कार्य में देरी के लिए दोषी अधिकारियों की जिम्मेदारी तय होगी की नहीं? ..बढ़ी निर्माण लागत की भरपाई किससे होगी ?

नवदुनिया ने जिला कलेक्टर की सरकारी योजनाओं की समीक्षा बैठक के ब्यौरे को ही अपनी पहली खबर बनाया है। जबकि शहर के पृष्ठ के पर सड़क हादसे को ही फैलाकर छापा है।

          Also Read : कोरोना से बचे तो बाल झड़ने लगे, नजर होने लगी कमजोर

दैनिक आचरण ने व्याकरणाचार्य कामता प्रसाद गुरू की 74वीं पुण्यतिथि मे शहर में आयोजित कार्यक्रम की रपट को पहली सुर्खी के रूप मे छापा है। “भाषा का अनुशासन व्याकरण से ही है-आचार्य” शीर्षक से छापी इस खबर में दिवंगत कामता प्रसाद गुरू के योगदान के बारे मे बताया कि उनका व्याकरण के अलावा कविता, नाटक, निबंध, उपन्यास लेखन जैसी अन्य विधाओं पर भी पूरा अधिकार था। नवदुनिया दैनिक भास्कर  ने भी इस खबर को मिलते -जुलते शीर्षकों से छापा है।

नवभारत ने खुरई विधानसभा क्षेत्र की नवगठित दो नगर परिषदों के वार्डों के आरक्षण नामांकरण  किए जाने की खबर को अपनी पहली सुर्खी बनाया है। अखबार ने खबर के जरिए प्रदेश में शीघ्र ही नगरीय निकाय होने की संभावना जतायी हैं।

ईवनिंग मिरर ने प्रदेश के एक पूर्व मंत्री व वर्तमान नगरी प्रशासन मंत्री के अलग-अलग कार्यक्रमों मे दिए भाषणों के लेकर बड़ी खबर छापी है। जहां पूर्व मंत्री ने अपने भाषण में अपने विधानसभा क्षेत्र की तारीफ करते हुए कहा कि जनता संबंध निभाना जानती है। वहीं नगरीय निकाय मंत्री ने कहा कि वे अपने विधानसभा क्षेत्र के विकास के लिए दोगुनी गति से काम करेंगें।

            Also Read : चिंता-नकारात्मक-सोच-से-कमजोर-होती-है-प्रतिरोधक-क्षमता

OFFBEAT NEWS : लीक से हटकर खबर

नवदुनिया के मुख्य पृष्ठ पर प्रकाशित एक खबर किसानें को जिंदगी की नई राह दिखाने वाली है। इस खबर मे बताया गया है कि कैसे एक किसान ने कर्ज लेकर भंडारगृह बनाया पर असफल होने पर कर्ज में डूब गया लेकिन हिम्मत न हार कर अपनी सकारात्मक सोच के बलबूते पर उसी भंडारगृह(वेयर हाउस) को पैसे उगाने वाले खेत मे तब्दील कर दिया। 

किसान द्वारा भंडारगृह मे शुरू की गई मशरूम की खेती ने उसे केवल मशहूर ही नहीं किया बल्कि मालामाल भी कर दिया। “कर्ज से घिरे किसान को मशरूम की खेती ने दी नई दिशा” शीर्षक से छापी खबर में यह भी बताया है कि मशरूम की खेती करने के लिए उद्यानिकी विभाग द्वारा आर्थिक व तकनीकि मदद भी दी जाती है।

दैनिक भास्कर ने विश्वविद्यालय पर केन्द्रित खबर प्रकाशित कर बताया है कि एमटेक की प्रवेश परीक्षा के प्रश्नपत्र आपत्तियां आने के बाद निरस्त कर दिया गया है। वहीं छात्रों के एक वर्ग ने प्रवेश परीक्षा की काउंसलिंग ऑफलाइन  कराने की मांग को लेकर कुलपति से मुलाकात की। इस मामले में प्रदेश के नगरीय मंत्री के हस्तक्षेत्र किए जाने का भी खबर मे जिक्र है।

दैनिक आचरण ने प्रदेश की सीएम-किसान योजना पर केन्द्रित खबर छापी है। जिसमें बताया है कि योजना शुरू होने के तीन माह बीत जाने के बाद भी जिले की अधिकांश तहसीलों में किसानो के पंजीयन का काम ठप्प पड़ा है। इस योजना के तहत प्रदेश सरकार ने किसानों को आर्थिक संबल देने के लिए उन्हें हर साल छह हजार रूपए देने का फैसला किया है। एक अन्य खबर में बताया है कि कोरोना दिशानिर्देशों के तहत ही २३ नवम्बर से  शुरू होगा अदालतों का सामान्य काम-काज। लेकिन संगरोध (quarantine) या अलगाव  (isolation) में रखे गए वकील व गवाह को अदालत में हाजिर न होने की छूट रहेगी।

नवदुनिया ने खेती-किसानी पर केन्द्रित खबर में बताया है कि दोज के मुहूर्त पर कृषि उपज मंडी खुलने पर किसानों को सोयाबीन व चना के अच्छे भाव मिले हैं। खबर के मुताबिक चार दिनों बाद मंडी खुलने पर सोयाबीन को 3600 रूपए व चना को 4800 रूपए प्रति क्विंटल का भाव मिला।

        Also Read: Best-From-Print-Media--साड़ियाँ-लुभाती-भी-हैं-डराती-भी-हैं

Share To:

Sagar Watch

Sagar Watch is the only news portal of Bundelkhand Region, which provide news updates in English & Hindi language. Rajesh Shrivastava, the Journalist, is the Chief Editor of this News Portal.

Post A Comment:

0 comments so far,add yours