Best-From-Print-Media--Hot-News-Mercury-dropped-chill-rise-बीएमसी में-सीटें-बढ़ने-का-रास्ता-साफ़

Best-From-Print-Media--Hot-News-Mercury-dropped-chill-rise-बीएमसी में-सीटें-बढ़ने-का-रास्ता-साफ़

 #MediaWatch@Khabron-KI-Khabar

Headlines: अख़बारों की आज की सुर्खियां 

बीएमसी को मान्यता मिलने का रास्ता साफ होने, गौर जयंती धूम-धाम से मनाए जाने, मंडी में किसानों की समस्याओं, मौसम में  ठिठुरन बढ़ने की खबरें आज के अखबारों की सुर्खियों में नजर आ रही हैं।

दैनिक भास्कर ने राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग द्वारा नियमों को शिथिल किए जाने से बुंदेलखड चिकित्सा महाविद्यालय को मिलने वाली राहत पर  केन्द्रित खबर को बड़ी अहमियत से तीसरे पृष्ठ पर छापा है। खबर के मुताबिक आयोग ने शिक्षकों के रिक्त स्थानों पर अतिथि शिक्षकों की नियुक्ति को पूर्ण कालिक शिक्षकों के समान गिने जाने, पुस्तकालय के लिए पूर्व-अपेक्षित क्षेत्रीय दायरे में कमी किए जाने व अस्पताल के लिए बिस्तरों की तय संख्या पर नियमों में ढ़िलाई लाने के चलते बुंदेलखंड चिकित्सा महाविद्यालय के उन्नयन व मान्यता मिलने के रास्ता साफ हो गया है।

                Also Read: BMC-CMHO At Loggerheads-कोविड की जांच में हो रही घोर लापरवाही

नवदुनिया ने लगातार दूसरे दिन कृषि उपज मंडी से जुड़ी खबर को ही अपनी पहली सुर्खी बनाया है। “मंडी की केंटीन बंद, किसान हो रहे परेशान” शीर्षक से छापी खबर में बताया कि मंडी परिसर में संचालित दो में से एक कैंटीन ही चालू है। दूसरी केंटीन भवन क्षतिग्रस्त होने के चलते काफी समय से बंद है।

सागर दिनकर ने घरों से निकलने वाले गीले कचरे से खाद बनाने की विधि के बारे में नागरिकों को जागरूक करने के लिए नगर निगम द्वारा चलाई जा रही मुहिम की खबर को ही अपनी पहली सुर्खी बनाया है। शहर के युवा कलाकार नुक्कड़ नाटकों के जरिए नगरिकों को जागरूक कर रहे हैं।

नवभारत ने शहर के बड़ा करीला क्षेत्र के रहवासियों को राहत देने वाली खबर को अपनी पहली सुर्खी बनाया हैै। “डेढ़ माह बाद बदला जा सकेगा ट्रांसफार्मर” शीर्षक से छापी खबर में बताया है कि बिजली की अनियमित आपूर्ति की समस्या से परेशान नागरिकों को अब राहत मिलने के आसार बढ़ गए हैं।

             Also Read :तेली-में-होते-है-प्रतिरोधक-क्षमता-बढाने-के-जबरदस्त -गुण

बदलते मौसम की खबर को अपने-अपने अंदाज में लगभग सभी अखबारों ने छापा है। दैनिक भास्कर ने शहर के लाखा बंजारा झील की बड़ी तस्वीर के साथ शीर्षक “48 घंटे में 9 डिग्री गिरा पारा,15 साल का रिकार्ड टूटा”से खबर को पहले पृष्ठ पर छापा है। खबर में तालिका के जरिए नवंबर माह का पिछले दस सालों का न्यूनतम तापमान भी दिखाया है।

वहीं नवभारत ने मौसम में अचानक ठिठुरन बढ़ने की खबर को “सात साल बाद न्यूनतम तापमान 10 पर पहुंचा” शीर्षक से लगायी है। खबर में जहां तेजी से ठंड बढ़ने की वजह दीवाली के आसपास हुई बारिश को बताया, वहीं इसे फसलों के लिए फायदेमंद भी बताया है। दैनिक आचरण ने भी एक छोटे से काॅलम मे ठिठुरते मौसम की खबर लगाई है। दैनिक नवदुनिया ने भी मिलते-जुलते शीर्षक से मौसम के बदलाव की खबर छापी है। साथ ही खबर में नागरिकों को कोरोना के दौर में सर्दी से बचाव के लिए विशेष एहतियात बरतने की नसीहत भी दी है।

            Also Read : Culture-लक्ष्मी देवी की प्रिय अमरबेल में छुपा है अमरता का राज

फाॅलोअप

दैनिक आचरण ने काविड-19 जांच के मुद्दे पर सीएमएचओ व बीएमसी प्रबंधन के बीच टकराव की अपनी खबर की दूसरी कड़ी में बताया है कि सीएमएचओ का पत्र मिलने के बाद बीएमसी के अधीक्षक ने चिकित्सकों से कहा, करें निर्देशों का पालन ।

दैनिक भास्कर ने रेलवे की नवनिर्मित तीसरी पटरी से जुड़ी अपनी खबर की दूसरी कड़ी में बताया कि पटरी पर इंजन के संचालन का अंतिम परीक्षण शनिवार को हो चुका है। रेल प्रबंधन के मुताबिक अब इस पटरी पर अधिकतम 110 किमी की रफ्तार से रेल गाड़ियां दौड़ सकेंगीं। 

अखबार ने सागर विवि के संस्थापक डाॅ. हरिसिंह गौर की जयंती के सिलसिले में शुरू की अपनी मुहिम के से जुड़ी खबरों की श्रंखला में बताया कि 26 जनवरी को डाॅ. गौर की 151वीं जयंती पहले की तरह धूमधाम से मनायी जाएगी।

       Also Read: Best-From-Print-Media--साड़ियाँ-लुभाती-भी-हैं-डराती-भी-हैं

लीक से हटकर खबर

दैनिक जागरण ने जिले के रहली क्षेत्र के एक शिक्षक के “रीजनल टीचर ऑफ  चेंज ” के रूप में चयनित किए जाने की खबर को प्रमुखता से छापा है। खबर के मुताबिक शिक्षक द्वारा कोरोना महामारी के दौर में ऑनलाइन  कक्षाएं चलाकर बच्चों का अध्यापन कार्य जारी रखा। जिसके कारण उन्हें भारत सरकार के अटल नवाचार अभियान के तहत शिक्षक का चयन किया गया।

दैनिक आचरण ने बिजली विभाग से जुड़ी खबर को भी अहमियत से प्रकाशित किया है। खबर में बताया है बकाया बिलों की वसूली में पिछड़ने पर  मुख्य अभियंता ने नगरीय संभाग के कर्मचारियों को फटकार लगायी। अधिकारियों ने वसूली पिछड़ने की वजह राज्य सरकार द्वारा दो माह पहले एक किलोवाट के उपभोक्ताओं के बिलों को माफ किए जाने को बताया।

                 Also Read : कोरोना से बचे तो बाल झड़ने लगे, नजर होने लगी कमजोर

Share To:

Sagar Watch

Sagar Watch is the only news portal of Bundelkhand Region, which provide news updates in English & Hindi language. Rajesh Shrivastava, the Journalist, is the Chief Editor of this News Portal.

Post A Comment:

0 comments so far,add yours